Tuesday, October 19, 2021
Homeराजनीतिराहुल गाँधी का अकॉउंट लॉक होने से भड़की कॉन्ग्रेस ने भी शेयर किया पीड़िता...

राहुल गाँधी का अकॉउंट लॉक होने से भड़की कॉन्ग्रेस ने भी शेयर किया पीड़िता के परिवार की फोटो, Twitter को दी कार्रवाई की धमकी

राहुल गाँधी के ट्विटर अकॉउंट पर एक्शन से आहत कॉन्ग्रेस ने भी रेप पीड़िता की पहचान उजागर करते हुए रविवार को ट्विटर इंडिया को अपना ट्विटर हैंडल लॉक करने की खुलेआम चुनौती दे दी है।

राहुल गाँधी के ट्विटर अकॉउंट पर एक्शन से आहत कॉन्ग्रेस ने भी रेप पीड़िता की पहचान उजागर करते हुए रविवार (अगस्त 8, 2021) को ट्विटर इंडिया को अपना ट्विटर हैंडल लॉक करने की खुलेआम चुनौती दे दी है। राहुल गाँधी का ट्विटर अकाउंट NCPCR की नोटिस के बाद ट्विटर द्वारा लॉक किए जाने के बाद कॉन्ग्रेस पार्टी ने यह चुनौती दी है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार ऐसा माना जा रहा है कि दिल्ली के नांगल में 9 साल की एक बच्ची से रेप और हत्या की घटना में पीड़िता की पहचान उजागर करने की वजह से उनपर यह कार्रवाई की गई है।

कॉन्ग्रेस ने #मैं_भी_Rahul हैशटैग के साथ ट्वीट किया, ”ट्विटर इंडिया हमारा भी अकाउंट लॉक कर दो। हम आपको चुनौती देते हैं। न्याय के लिए लड़ने और सच को उजागर करने से हमें कुछ नहीं रोक सकता है।” ऐसी मुहीम चलाते हुए कॉन्ग्रेस ने एक बार फिर विवादित तस्वीर को शेयर किया है, जिसकी वजह से राहुल गाँधी के ट्विटर हैंडल को लॉक किया गया है।

गौरतलब है कि कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी का ट्विटर हैंडल शनिवार को अस्थायी रूप से लॉक कर दिया गया था। कॉन्ग्रेस ने पहले अपने बयान में कहा था कि राहुल गाँधी के अकाउंट को सस्पेंड कर दिया गया है, लेकिन ट्विटर की ओर से इनकार किए जाने के बाद पार्टी ने कहा कि अकाउंट को लॉक किया गया है।

बता दें कि दिल्ली में कथित रेप पीड़िता के माता-पिता की फोटो ट्वीट कर पहचान उजागर करने के मामले में राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने ट्विटर इंडिया को नोटिस जारी कर राहुल गाँधी के खिलाफ कार्रवाई करने की माँग की थी। इसके बाद कार्रवाई करते हुए ट्विटर ने उनके विवादित ट्वीट को हटा दिया था।

ट्वीट के बाद राहुल गाँधी के खिलाफ दिल्ली की नांगल बलात्कार पीड़िता की पहचान का खुलासा करने और इस प्रकार यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण (POCSO) अधिनियम की धारा 23, किशोर न्याय (बच्चों की देखभाल और संरक्षण) अधिनियम की धारा 74, भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) का अधिनियम 228 ए का उल्लंघन करने के लिए दिल्ली पुलिस में उनके खिलाफ शिकायत दर्ज की गई थी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,824FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe