इमरान पाकिस्तान के लिए खतरा, उनके भाषण देने और प्रेस कॉन्फ्रेंस पर लगे बैन: Pak सांसद

"इमरान खान दुनिया में पाकिस्तान का पक्ष रखने की बजाय अपने मुल्क के खिलाफ ही बोल रहे हैं, जिसकी वजह से भारतीय मीडिया में पाकिस्तान का मज़ाक उड़ रहा है।"

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को हर ओर से मुँह की खानी पड़ रही है। न केवल विदेशों में बल्कि उनका अपना मुल्क भी उनकी फजीहत करने से और उनकी कार्यनीतियों पर सवाल उठाने से नहीं चूक रहा। इन दिनों वो अपने देश की विपक्षी पार्टी के निशाने पर हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार पाकिस्तान की विपक्षी पार्टी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी का कहना है कि इमरान खान के विदेशी दौरे पाकिस्तान के लिए चिंता का विषय बन गए हैं। इसलिए अब इमरान के विदेशी दौरों पर रोक लगा देनी चाहिए। पार्टी का कहना है कि प्रधानमंत्री इमरान खान जब भी बाहर जाते हैं तो उन्हें उससे घाटा होता है।

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) के सेनेटर मुस्तफा नवाज़ खोखर ने गुरुवार (सितंबर 26, 2019) को इमरान खान पर निशाना साधते हुए कहा, “इमरान खान दुनिया में पाकिस्तान का पक्ष रखने की बजाय अपने मुल्क के खिलाफ ही बोल रहे हैं, जिसकी वजह से भारतीय मीडिया में पाकिस्तान का मज़ाक उड़ रहा है।”

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

अपनी बात रखते हुए खोखर ने इमरान खान की विदेश यात्रा पर कहा, “अपनी ईरान यात्रा के दौरान उन्होंने अपने मुल्क पर आतंकी देश होने का आरोप लगाया था और अब एक बार फिर उन्होंने पाकिस्तान का मजाक उड़ाया है। हालिया अमेरिकी यात्रा के दौरान उन्होंने पाकिस्तानी सेना और आईएसआई पर अल-कायदा को प्रशिक्षण देने की बात कही जो देश के लिए नुकसानदायक है।”

उन्होंने अपने देश की सेना और खूफिया एजेंसी पर अल कायदा को प्रशिक्षण देने का आरोप लगाने वाले प्रधानमंत्री इमरान के बयान को बड़ा गैर-जिम्मेदाराना बताया। उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री को यह समझने की जरुरत है कि कंटेनर और अंतरराष्ट्रीय मंच में फर्क होता है। उनकी विदेश यात्रा राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा है।”

मुस्तफा नवाज खोखर ने ऐसे उदाहरणों का हवाला देते हुए इमरान खान के बयानों की खूब आलोचना की और कहा कि इमरान खान के विदेश में भाषण देने और प्रेस कॉन्फ्रेंस करने पर बैन लगना चाहिए।

विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी पर शक जताते हुए खोखर ने कहा, “विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी खुद प्रधानमंत्री बनना चाहते हैं इसलिए उन पर विश्वास नहीं किया जा सकता। ऐसा संभव है कि वह जानबूझकर खान को गलत रास्ते पर ले जा रहे हों।”

गौरतलब है कि बीते दिनों इमरान खान के भाषणों और हरकतों की वजह से पाकिस्तान को सोशल मीडिया से लेकर मीडिया रिपोर्ट्स में काफी फजीहत का सामना करना पड़ा है, जिसके कारण पाकिस्तान के कई लोग अपने प्रधानमंत्री (इमरान खान) की आलोचना करते नहीं थक रहे।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

जेएनयू छात्र विरोध प्रदर्शन
गरीबों के बच्चों की बात करने वाले ये भी बताएँ कि वहाँ दो बार MA, फिर एम फिल, फिर PhD के नाम पर बेकार के शोध करने वालों ने क्या दूसरे बच्चों का रास्ता नहीं रोक रखा है? हॉस्टल को ससुराल समझने वाले बताएँ कि JNU CD कांड के बाद भी एक-दूसरे के हॉस्टल में लड़के-लड़कियों को क्यों जाना है?

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

112,491फैंसलाइक करें
22,363फॉलोवर्सफॉलो करें
117,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: