दिल्ली में 53 जगहों पर रेड, 69 से पूछताछ: जैश ने लश्कर और हरकत से मिलाए हाथ, निशाने पर 4 बड़े बाजार

लश्कर और हरकत के स्लीपर सेल के साथ मिल जैश काम कर रहा है। इनकी अगुआई जैश कमांडर अबु उस्मान कर रहा है। उसने ही बीते सप्ताह जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा इलाके के एक सेब बाग में हुई बैठक में आतंकियों को तबाही मचाने का आदेश दिया था।

बीते दिनों दिल्ली में जैश के 4 आतंकियों के घुसने की सूचना मिलने के बाद से राष्ट्रीय राजधानी अलर्ट पर है। चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम हैं। खुफिया एजेंसियों ने खुलासा करते हुए बताया है कि आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने दिल्ली दहलाने के लिए लश्कर-ए-तैयबा और हरकत-उल-मुजाहिद्दीन के साथ गठजोड़ कर लिया है।

खबर के अनुसार लश्कर और हरकत के स्लीपर सेल के साथ मिल जैश काम कर रहा है। इनकी अगुआई जैश कमांडर अबु उस्मान कर रहा है। उसने ही बीते सप्ताह इस संबंध में जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा इलाके के मीर मोहल्ले में सेब के बाग में एक बैठक की थी। इस दौरान उसने जम्मू-कश्मीर में सक्रिय आतंकियों को तबाही मचाने का आदेश दिया था। जिसकी सारी जानकारी खुफिया इकाइयों ने दिल्ली पुलिस और बाकी सुरक्षा एजेंसियों को मुहैया कराई थी। बताया गया था कि बैठक में आतंकी अबू उस्मान ने आतंकी हमलावरों से कहा कि कश्मीर के लोगों को जल्द अच्छी खबर सुनने को मिलेगी और ये अच्छी खबर जम्मू एवं दिल्ली में बड़े धमाकों के साथ आएगी।

उल्लेखनीय है कि इस सूचना के मिलने के बाद से ही दिल्ली में छापेमारी चल रही है। जैश के इस मॉड्यूल से जुड़ी हर तरह की सूचना जुटाई जा रही है।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की 18 टीम के 105 पुलिसकर्मियों इस मिशन में लगे हैं। दिल्ली में अब तक 53 जगहों पर छापेमारी की गई है। 69 संदिग्धों से पूछताछ की गई है। इनमें 7 लोगों के फोन और उनके जु़ड़े दस्तावेजों की भी बारीकी से जाँच हुई है। पुलिस को संदिग्धों की गतिविधि पर शक है। इसलिए पिछले 3 दिनों में 5 बार इनसे पूछताछ हुई है। पुलिस ने करीब 12 मोबाइल नंबरों की कॉल डिटेल्स भी निकाली है, जबकि कुछ मोबाइल नंबरों को निगरानी पर लगाया गया है।

ख़ुफ़िया इनपुट्स के मुताबिक जैश के कमांडर अबू उस्मान के नेटवर्क से जुड़ा मॉड्यूल दिल्ली के घनी आबादी वाले इलाके में घुसकर अपने मनसूबों को अंजाम देने की फिराक में है। इनका मकसद त्योहारों में भीड़भाड़ वाले इलाके में तबाही मचाने का है। इनके निशाने पर दिल्ली में चार प्रमुख बाजार हैं। इनमें दक्षिणी दिल्ली का एक, मध्य दिल्ली का 2 और यमुनापार का एक बाजार शामिल है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

जेएनयू छात्र विरोध प्रदर्शन
गरीबों के बच्चों की बात करने वाले ये भी बताएँ कि वहाँ दो बार MA, फिर एम फिल, फिर PhD के नाम पर बेकार के शोध करने वालों ने क्या दूसरे बच्चों का रास्ता नहीं रोक रखा है? हॉस्टल को ससुराल समझने वाले बताएँ कि JNU CD कांड के बाद भी एक-दूसरे के हॉस्टल में लड़के-लड़कियों को क्यों जाना है?

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

112,491फैंसलाइक करें
22,363फॉलोवर्सफॉलो करें
117,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: