Monday, September 20, 2021
Homeविविध विषयअन्य6 लड़कियों समेत 7 रोहिंग्या असम में घुसपैठ से पहले गिरफ़्तार

6 लड़कियों समेत 7 रोहिंग्या असम में घुसपैठ से पहले गिरफ़्तार

बीते दो हफ़्तों में कुल 68 रोहिंग्या मुस्लिमों को त्रिपुरा में पकड़ा जा चुका है। इनमें ज़्यादातर बच्चे ही शामिल हैं।

त्रिपुरा-असम बॉर्डर से रेलवे पुलिस फ़ोर्स (आरपीएफ) ने 7 नाबालिग रोहिंग्यों को गिरफ़्तार किया है। सभी को उत्तरी त्रिपुरा के धर्मनगर रेलवे स्टेशन से गिरफ़्तार किया गया। ये सभी यहाँ से ट्रेन पकड़कर असम जाने वाले थे। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार नॉर्थ ईस्ट रेलवे फ्रंटियर ज़ोन के एक आरपीएफ अधिकारी ने इसकी जानकारी दी। गिरफ़्तार किए गए इन रोहिंग्याओं में 6 लड़कियाँ और एक लड़का हैं।

आरपीएफ के एक अधिकारी ने कहा, “ये सभी 18 साल से कम उम्र के हैं। कानूनी औपचारिकता पूरी की जाने के बाद इन्हें कोलकाता पुलिस को सौंप दिया जाएगा।” बता दें कि, बीते दो हफ़्तों में कुल 68 रोहिंग्या मुस्लिमों को त्रिपुरा में पकड़ा जा चुका है। इनमें ज़्यादातर बच्चे ही शामिल हैं।

अधिकारियों ने कहा कि ये रोहिंग्या अगरतल्ला से धर्मनगर तक बस से आए थे, उन पर कुछ मानव तस्करों की नज़र थी। उन्होंने कहा, “जब तस्करों को आरपीएफ की मौजू़दगी का पता चला तो वो इन्हें स्टेशन पर छोड़कर भाग गए।”

बच्चों की भाषा नहीं समझ पा रहे अधिकारी

बताया जा रहा है कि गिरफ़्तार किए गए रोहिंग्या जिस भाषा में बात कर रहे हैं, उसे अधिकारी नहीं समझ पा रहे। इनके पास असम का रेल टिकट भी मिला है। एक अधिकारी ने कहा कि इन रोहिंग्याओं को त्रिपुरा सरकार द्वारा चलाए जाने वाले जुवेनाइल होम में भेजा जा सकता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

काबुल के राष्ट्रपति भवन में लत्तम-जूत्तम: डिप्टी PM मुल्ला बरादर पर चले लात-घूसे, हक्कानी गुट ने तालिबान की बैंड बजाई

अफगानिस्तान के तालिबानी शासन में पड़ी फूट। उप-प्रधानमंत्री मुल्ला अब्दुल गनी बरादर को हक्कानी गुट के कमांडर ने लात-घूँसे से पीटा।

महिला IAS को अश्लील मैसेज: #MeToo आरोपित रहे हैं पंजाब के नए CM चन्नी, कैप्टेन पर फोड़ दिया था ठीकरा

चरणजीत सिंह चन्नी पर आरोप लगा था कि उन्होंने एक महिला आईएएस अधिकारी को 2018 में एक आपत्तिजनक मैसेज भेजा था। तब यह मामला खासा तूल पकड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,306FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe