Thursday, August 5, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजन'कोरोना से खतरनाक है सल्लू दादाजी की फिल्म, देख कर डैमेज हो जाएगा दिमाग':...

‘कोरोना से खतरनाक है सल्लू दादाजी की फिल्म, देख कर डैमेज हो जाएगा दिमाग’: KRK पर सलमान ने किया केस

"ये फिल्म कोरोना की तरह खतरनाक है। कोरोना फेफड़ों को डैमेज करता है, ये फिल्म दिमाग को डैमेज करती है। इस फिल्म को देखना उतना ही रिस्की है जितना भीड़भाड़ वाले इलाके में बिना मास्क के जाना।"

बॉलीवुड स्टार सलमान खान ने फिल्म राधे: योर मोस्टवांटेड भाई के ‘रिव्यू’ के लिए कमाल आर खान (KRK) के विरुद्ध मुंबई की एक अदालत में मानहानि की शिकायत दाखिल करवाई है। खुद केआरके ने भी नोटिस की फोटो सोशल मीडिया पर शेयर करके इस संबंध में जानकारी दी है। इसमें लिखा है कि केआरके को 27 मई को कोर्ट में सुबह 11 बजे पेश होना होगा।

केआरके ने अपने ट्वीट में लिखा, “प्रिय सलमान खान ये मानहानि का केस आपकी हताशा और निराशा का सबूत है। मैं अपने फॉलोवर्स को अपना रिव्यू दे रहा हूँ और अपना काम कर रहा हूँ। तुम्हें मुझे अपनी फिल्म का रिव्यू करने से रोकने से अच्छा है कि अच्छी फिल्में बनाओ। मैं सच्चाई के लिए लड़ता रहूँगा। मुकदमे के लिए धन्यवाद।”

अगले ट्वीट में केआरके ने कहा कि अब वह सलमान खान की कोई फिल्म रिव्यू नहीं करेंगे। उन्होंने कहा, “मैंने  कई बार कहा है कि मैं किसी प्रोड्यूसर या एक्टर की फिल्म का रिव्यू नहीं करूँगा, अगर वह मना कर देगा तो। सलमान खान ने अपनी फिल्म राधे के रिव्यू के लिए मुझपर मानहानि का केस ठोंका। इसका मतलब है कि उसे मेरे रिव्यू ने बहुत आहत किया। मैं उसकी फिल्मों की समीक्षा नहीं करूँगा। मेरी आखिरी वीडियो उसपे आज रिलीज होगी।”

राधे पर KRK का रिव्यू

बता दें कि KRK के यूट्यूब चैनल पर 13 मई 2021 को सलमान खान की हालिया फिल्म राधे का रिव्यू अपलोड हुआ था। इस वीडियो में उसने सलमान खान को हर जगह दद्दू कहकर संबोधित किया। वहीं दिशा पटानी के रोल का मजाक बनाते हुए उन्हें सलमान खान की पोती बताया। इसी तरह जैकी श्रॉफ को कॉमेडी में फेल और रणदीप हुड्डा को हीरो की जगह विलेन की एक्टिंग ही करने की सलाह दी।

KRK के चैनल पर राधे का रिव्यू

KRK ने अपने रिव्यू में दावा किया कि फिल्म में कई सीन्स में VFX का इस्तेमाल करके सलमान खान की पुरानी बॉडी को उनके (बुजुर्ग) चेहरे के साथ जोड़ा गया है। इसके अलावा फिल्म में उनका डुप्लीकेट है जो काफी तेजी से एक्शन सीन करता है। लेकिन जैसे ही कैमरा सलमान को क्लोजअप में लेता है वही सीन धीमे हो जाते हैं।

रिव्यू में बताया गया है कि कैसे सलमान खान दिशा से मिलते हैं और खुद को 20-22 का दिखाते हुए कहते हैं कि वह भी मॉडल बनना चाहते हैं, जिसके बाद दिशा उन्हें ‘भोलू क्यूट ब्वॉय’ बोलती रहती है। केआरके के मुताबिक, फिल्म में गाने राहत देते हैं क्योंकि स्टोरीलाइन इसमें कुछ भी नहीं है। इसलिए यदि गाने आते हैं तो लगता है कि कुछ तो हो रहा है।

रिव्यू में केआरके ने एक्शन को रिक्शावालों, रेहड़ी वालों के लिए ठीक ठाक बताया। इसके बाद कहा है कि ये फिल्म कोरोना की तरह खतरनाक है। कोरोना फेफड़ों को डैमेज करता है, ये फिल्म दिमाग को डैमेज करती है। इस फिल्म को देखना उतना ही रिस्की है जितना भीड़भाड़ वाले इलाके में बिना मास्क के जाना।

केआरके ने इस फिल्म को 1 स्टार दिया है। इसके अलावा ट्विटर पर आज सुबह सलीम खान को टैग करके लिखा, “मैं सलमान खान की फिल्म या करियर खराब नहीं करने आया। मैं सिर्फ मजे के लिए फिल्म रिव्यू करता हूँ। अगर मुझे पता होता कि सलमान पर इतने प्रभावित होंगे तो मैं रिव्यू ही नहीं करता। वह मुझसे रिव्यू न करने को बोल सकते थे। मैं नहीं करता। मुझे रिव्यू करने से रोकने के लिए उन्हें मुझ पर केस करने की जरूरत नहीं थी। सलीम सर, मैं यहाँ किसी को दुख पहुँचाने के लिए नहीं हूँ। मैं उनकी फिल्म रिव्यू ही नहीं करूँगा। उनसे कहिए केस को आगे न बढ़ाएँ। मैं अपने रिव्यू की वीडियो भी डिलीट कर दूँगा। धन्यवाद सलीम साहब।”

गौरतलब है कि राधे फिल्म की रिलीज के बाद से इस फिल्म की जगह-जगह आलोचना हो रही है। फिल्म में कोई स्टोरी लाइन न होने के कारण और सलमान की खराब एक्टिंग की वजह से इसे घेरा जा रहा है। इसके अलावा लोगों ने इस फिल्म के गाने, इसके डायलॉग, सलमान खान को छोटा दिखाने की कोशिश पर भी आपत्ति जताई है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अगर बायोलॉजिकल पुरुषों को महिला खेलों में खेलने पर कुछ कहा तो ब्लॉक कर देंगे: BBC ने लोगों को दी खुलेआम धमकी

बीबीसी के आर्टिकल के बाद लोग सवाल उठाने लगे हैं कि जब लॉरेल पैदा आदमी के तौर पर हुए और बाद में महिला बने, तो यह बराबरी का मुकाबला कैसे हुआ।

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,042FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe