कश्मीरियों! पाकिस्तान पर भरोसा बंद करो, 72 साल से आपको धोखा दे रहा है: Pak नेता अल्ताफ हुसैन

अल्ताफ ने कहा कि पाकिस्तान ने एक समिति बनाई, जिसके चेयरमैन ने कश्मीर के नाम पर दुनिया भर में घूमकर आनंद लिया। संयुक्त राष्ट्र में विशेष स्टाफ भी नियुक्त किया और अरबों खर्च करने के बावजूद कुछ हासिल नहीं कर पाया।

मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट (एमक्यूएम) के संस्थापक अल्ताफ हुसैन ने कश्मीर के लोगों से पाकिस्तानी सेना और पाकिस्तान सरकार के झाँसे में नहीं आने की अपील की है। उनका बयान ऐसे समय में सामने आया है, जब जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 के प्रावधानों को निरस्त किए जाने के बाद से पाकिस्तान इसे अंतरराष्ट्रीय मुद्दा बनाने की कोशिश कर रहा है।

लंदन में निर्वासित जीवन बिता रहे हुसैन ने कहा, “ईश्वर की खातिर आप सभी से अपील करता हूँ कि पाकिस्तानी सेना और पाकिस्तान सरकार पर भरोसा करना बंद करें। दोनों पिछले 72 वर्षों से आपको धोखा दे रहे हैं और आज भी ऐसा ही चल रहा है। कुछ पाकिस्तानी सेना के लोग यह नारे लगा रहे हैं कि कश्मीर का पाकिस्तान में विलय कर देंगे और हम आजादी लेंगे, लेकिन आजादी का सही मतलब यह नहीं है। मैं हमेशा पाकिस्तान की कूटनीतिक और विदेशी मामलों की रणनीति पर मुखर रहा हूँ, क्योंकि पाकिस्तान हमेशा दिखाता रहा है कि उसने कश्मीर के लिए बहुत कुछ किया है।”

अल्ताफ ने कहा कि पाकिस्तान ने कश्मीर का समर्थन करने के लिए एक समिति भी बनाई, जिसके चेयरमैन ने कश्मीर मसले के नाम पर दुनिया भर में घूमकर विदेश यात्रा का आनंद लिया। इसके अलावा पाकिस्तान ने कश्मीर के मामले पर संयुक्त राष्ट्र में विशेष स्टाफ भी नियुक्त किया और अरबों खर्च करने के बावजूद कश्मीर के लिए कुछ हासिल नहीं कर पाया।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इतना ही नहीं, अल्ताफ ने पाकिस्तान पर तंज कसते हुए कुछ सवाल भी पूछे हैं। उन्होंने कहा, “पाकिस्तानी सेना के दावे कहाँ गायब हो गए हैं? पाकिस्तानी सेना भारत से आजादी के लिए कश्मीर के लोगों को अपनी जंग में शामिल करने से क्यों हिचक रही है? पाकिस्तानी सेना कायरता क्यों दिखा रही है और अब तक कश्मीर स्वतंत्र क्यों नहीं हो पाया है? कश्मीरियों को अंत तक समर्थन देने के दावे आखिर कहाँ गायब हो गए हैं?”

इसके साथ ही उन्होंने व्यंग्य करते हुए कहा कि ईश्वर बेहतर जानता है कि पाकिस्तानी सेना सैकड़ों मील दूर से क्या करेगी।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

नीरज प्रजापति, हेमंत सोरेन
"दंगाइयों ने मेरे पति को दौड़ा कर उनके सिर पर रॉड से वार किया। इसके बाद वो किसी तरह भागते हुए घर पहुँचे। वहाँ पहुँच कर उन्होंने मुझे सारी बातें बताईं। इसके बाद वो अचानक से बेहोश हो गए।" - क्या मुख्यमंत्री सोरेन सुन रहे हैं मृतक की पत्नी की दर्द भरी आवाज़?

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

145,329फैंसलाइक करें
36,957फॉलोवर्सफॉलो करें
166,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: