अमेरीका ने 52 पाकिस्तानियों को देश से निकाल फेंका, 3 अफसरों का वीसा भी कैंसिल

अमेरिका ने तीन वरिष्ठ पाकिस्तानी अधिकारियों को वीजा देने से मना कर दिया है। इनमें एक अतिरिक्त सचिव, गृह मंत्रालय के संयुक्त सचिव और पासपोर्ट महानिदेशक भी शामिल हैं।

अमेरिका में ट्रंप सरकार ने उन लोगों के ख़िलाफ़ मुहिम शुरू की है जो लोग वीजा अवधि खत्म होने के बावजूद अमेरिका में रह रहे हैं। इसके तहत 52 पाकिस्तानी नागरिकों को उनके देश वापस भेजा गया है जो निर्धारित अवधि से ज्यादा समय से वहाँ रह रहे थे। अमेरिका ने 52 पाकिस्तानी प्रवासियों को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच इस्लामाबाद पहुँचा दिया है। मीडिया खबरों के अनुसार 53 पाकिस्तानी नागरिकों को देश वापस आना था, लेकिन बुधवार (मई 15, 2019) को सिर्फ़ 52 नागरिक ही देश पहुँचे क्योंकि एक शख्स एयरपोर्ट पर ही बीमार हो गया था।

पाकिस्तानी नागरिक जब इस्लामाबाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरे तब उनकी सुरक्षा में अमेरिकी सुरक्षा अधिकारी तैनात थे। विमान से उतरते ही नागरिकों को पाकिस्तानी अधिकारियों को सौंप दिया गया। इससे पहले मंगलवार (मई 14, 2019) को पाक विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने पाकिस्तान की नेशनल असेंबली की विदेश मामले संबंधी स्थाई समिति को सूचित किया था कि अमेरिकी अधिकारियों ने आव्रजन कानूनों के उल्लंघन, आपराधिक आचरण और अन्य गंभीर आरोपों के आधार पर पाकिस्तानी नागरिकों को हिरासत लेकर मुकदमा चलाया है।

पाक विदेश मंत्री ने स्पष्ट किया है कि अमेरिका में रह रहे पाकिस्तानियों को उनके देश भेजने को लेकर दोनों देशों के बीच विवाद हुआ। इसके कारण अमेरिका ने तीन वरिष्ठ पाकिस्तानी अधिकारियों को वीसा देने से मना कर दिया है। इनमें एक अतिरिक्त सचिव, गृह मंत्रालय के संयुक्त सचिव और पासपोर्ट महानिदेशक भी शामिल हैं।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

कश्मीरी पंडित, सुनंदा वशिष्ठ
"उस रात इस्लामी आतंकियों ने 3 विकल्प दिए थे - कश्मीर छोड़ दो, धर्मांतरण कर लो, मारे जाओ। इसके बाद गिरिजा टिक्कू का सामूहिक बलात्कार कर टुकड़ों में काट दिया। बीके गंजू को गोली मारी और उनकी पत्नी को खून से सने चावल (वो भी पति के ही खून से सने) खाने को मजबूर किया।"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

113,599फैंसलाइक करें
22,628फॉलोवर्सफॉलो करें
119,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: