पाकिस्तानी प्रोपगेंडा के विरोध में दुनिया भर में प्रदर्शन, Article 370 हटाने का समर्थन

मेलबर्न में भारतीय मूल के ऑस्ट्रेलियाई नागरिक अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के फैसले पर अपना समर्थन जताने के लिए इकट्ठा हुए और फिर कश्मीरी पंडितों के नेतृत्व में विक्टोरियन राज्य संसद से फेडरेशन स्क्वायर तक रैली निकाली।

जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 के प्रावधानों को निरस्त करने के मोदी सरकार के फैसले के समर्थन में दुनिया के अलग-अलग मुल्कों में रह रहे भारतीयों ने प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी इस मसले पर पाकिस्तान की ओर से फैलाए जा रहे प्रोपगेंडा के विरोध में भी मुखर थे।

इंग्लैंड में इंडो-यूरोपियन कश्मीर फोरम और हिंदू काउंसिल यूके ने बर्मिंघम के विक्टोरिया स्क्वायर में अनुच्छेद 370 और 35A को निरस्त किए जाने का समर्थन किया है। ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में भी प्रदर्शन किया गया।

लोगों ने सड़क पर उतरकर सरकार के फैसले पर समर्थन जताया और पाकिस्तान को आईना दिखाया। प्रदर्शन के दौरान लोगों ने हाथ में तिरंगा लेकर भारत माता की जय और वंदे मातरम का नारा लगाया।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

मेलबर्न में भारतीय मूल के ऑस्ट्रेलियाई नागरिक अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के फैसले पर अपना समर्थन जताने के लिए इकट्ठा हुए और फिर कश्मीरी पंडितों के नेतृत्व में विक्टोरियन राज्य संसद से फेडरेशन स्क्वायर तक रैली निकाली।

बता दें कि, इससे पहले भी कई देश अनुच्छेद 370 के निरस्त करने का समर्थन कर चुके हैं। इसमें कई मुस्लिम देश भी शामिल हैं। तमाम देशों ने कश्मीर से अनुच्छेद 370 को निरस्त करना भारत का आंतरिक मामला बताया। मगर, पाकिस्तान इसे मानने को तैयार नहीं है और लगातार अंतरराष्ट्रीय मंचों पर कश्मीर मुद्दे को उठाने की कोशिश करता रहा है। दुनिया के तमाम वैश्विक मंचों से पाकिस्तान को मुँह की खानी पड़ी है, इसके बावजूद भी भारत के खिलाफ प्रोपगेंडा फैलाने से बाज नहीं आ रहा।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

कमलेश तिवारी हत्याकांड
आपसी दुश्मनी में लोग कई बार क्रूरता की हदें पार कर देते हैं। लेकिन ये दुश्मनी आपसी नहीं थी। ये दुश्मनी तो एक हिंसक विचारधारा और मजहबी उन्माद से सनी हुई उस सोच से उत्पन्न हुई, जहाँ कोई फतवा जारी कर देता है, और लाख लोग किसी की हत्या करने के लिए, बेखौफ तैयार हो जाते हैं।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

107,076फैंसलाइक करें
19,472फॉलोवर्सफॉलो करें
110,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: