पाकिस्तान ने की नीच हरकत, भारतीय हाई कमीशन में अतिथियों का किया अपमान

ये पहला मामला नहीं है, जब पाकिस्तान ने ऐसा किया है। इससे पहले भी कई बार देखा गया है कि भारतीय राजनयिकों को परेशान करने के लिए उनके घरों की बिजली काटने या पानी रोकने जैसी हरकतें की गई हैं।

पाकिस्तान भारतीय उच्चायोग की इफ्तार पार्टी में पाकिस्तानी अधिकारियों ने नापाक हरकत को अंजाम दिया है। भारतीय उच्चायोग की तरफ से रमजान के मौके पर इस्लामाबाद के सेरेना होटल में शनिवार (जून 1, 2019) को इफ्तार पार्टी का आयोजन किया गया था। इसमें शामिल होने के लिए कई मोहमानों को न्यौता दिया गया था। जानकारी के मुताबिक, पार्टी में आने वाले मेहमानों के साथ पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारियों और पाकिस्तानी जवानों ने बदसलूकी की। कई मेहमानों को बाहर ही रोक दिया गया उनकी बार-बार जाँच की गई। सैकड़ों मेहमानों को डरा-धमकाकर वापस भेज दिया गया और जब भारतीय अधिकारियों और मेहमानों ने इस बात का विरोध किया तो उनके साथ धक्का-मुक्की की गई और अपशब्द भी कहे गए।

इस पूरे घटनाक्रम पर पाकिस्तान में भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया ने खेद जताया है। एक वीडियो में अजय ने पार्टी में उपस्थित लोगों का शुक्रिया अदा करने के साथ ही माफी भी माँगते हुए नज़र आ रहे हैं। उन्होंने कहा, “मैं उन लोगों का शुक्रिया अदा करना चाहता हूँ, जो यहाँ आए हैं, खासकर उन मेहमानों का जो कराची और लाहौर से यहाँ पहुँचे हैं। साथ ही माफी भी माँगता हूँ कि लोगों को अंदर आने में काफी परेशानी हुई और कई दोस्त यहाँ तक नहीं आ सके हैं। इसके साथ ही बिसारिया ने पाकिस्तान की इस हरकत पर कहा कि पाकिस्तानी अधिकारियों का इस प्रकार का व्यवहार न केवल राजनयिक आचरण और सभ्य व्यवहार के बुनियादी मानदंडों का उल्लंघन करता है, बल्कि वे द्विपक्षीय संबंधों के प्रति ‘काउंटर-प्रोडक्टिव’ हैं।   

वैसे ये पहला मामला नहीं है, जब पाकिस्तान ने ऐसा किया है। इससे पहले भी कई बार देखा गया है कि भारतीय राजनयिकों को परेशान करने के लिए उनके घरों की बिजली काटने या पानी रोकने जैसी हरकतें की गई हैं। पुलावामा हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच का तनाव बढ़ गया है। अभी हाल हाल ही में जब 30 मई को नरेंद्र मोदी ने पीएम पद की शपथ ली थी तो पाकिस्तान को न्यौता नहीं दिया गया था। ऐसा लग रहा है कि पाकिस्तान इस बात से बौखलाया हुआ है और अपनी बौखलाहट व भड़ास वो इस तरह की नापाक हरकत करके निकाल रहा है, जो कि बेहद निंदनीय है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

कमलेश तिवारी, राम मंदिर
हाल ही में ख़बर आई थी कि पाकिस्तान ने हिज़्बुल, लश्कर और जमात को अलग-अलग टास्क सौंपे हैं। एक टास्क कुछ ख़ास नेताओं को निशाना बनाना भी था? ऐसे में इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि कमलेश तिवारी के हत्यारे किसी आतंकी समूह से प्रेरित हों।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

100,990फैंसलाइक करें
18,955फॉलोवर्सफॉलो करें
106,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: