फिलिस्तीन के सबसे बड़े जिहादी को बीवी संग इजरायल ने मार गिराया, भारतीयों ने कहा- हम तुम्हारे साथ

पीआईजे और हमास के कारण इजरायल को अपनी सीमाओं पर अतिरिक्त सतर्कता बरतनी पड़ती है, क्योंकि ये दोनों लगातार वहाँ के निर्दोष लोगों को निशाना बनाने की जुगत में लगे रहते हैं। हालिया घटनाओं के बाद भारत में लोगों ने इजरायल के नागरिकों की सलामती के लिए प्रार्थना की।

इजरायल ने फिलिस्तीन के सबसे बड़े जिहादी को मार गिराया है। आतंकी सरगना बहा अबू अल-अता अपने घर में था, जब उसे निशाना बना इजरायल ने मिसाइल दागी। हमले में वह अपनी बीवी सहित मारा गया। इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा कि अबू-अल अता एक ‘Ticking Bomb’ था, जो पूरे इजरायल को तबाह करने का सपना लिए कई आतंकी हमले की साजिश रच रहा था। इसके बाद आतंकी संगठन ‘फिलिस्तीनी इस्लामिक जिहाद’ ने इजरायल की ओर कम से कम 200 रॉकेट दागे और बदला लेने की धमकी दी। इन हमलों में क़रीब 2 दर्जन इजरायली नागरिक घायल हुए हैं।

होलोन क्षेत्र में इस्लामिक आतंकियों द्वारा दागे गए रॉकेट के कारण एक 8 वर्षीय बच्ची बेहोश होकर गिर पड़ी, जिसे जल्दी अस्पताल पहुँचाया गया। इजरायल ने अकरम अल-अजुरी नामक आतंकी सरगना के बेटे को भी मार गिराया है। पीआईजे (पलेस्टाइन इस्लामिक जिहाद) ईरान समर्थित आतंकी संगठन है, जो इजरायल पर अक्सर हमला करता है। ये संगठन गाज़ा में सक्रिय है। स्थानीय लोगों ने बताया कि जब शीर्ष जिहादी मारा गया, तब कई किलोमीटर तक विस्फोट की आवाज़ सुनाई दी। नेतन्याहू ने अबू अल-अता को आतंकी वारदातों का सबसे बड़ा सरगना करार देते हुए कहा कि वो किसी बड़े हमले की साजिश रच रहा था।

उसने इजरायल की ओर सैकड़ों रॉकेट दागे थे। नेतन्याहू ने कहा कि उसके मारे जाने के बाद अगले कुछ दिन तनावपूर्ण होंगे। इस बीच भारत में भी ‘We Support Israel’ ट्रेंड हुआ। लोगों ने पीआईजे द्वारा इजरायल के निर्दोष लोगों को निशाना बनाए जाने की निंदा की। भारत में ‘Israel Under Fire’ ट्रेंड भी चला। जेरुसलम पोस्ट ने अपनी एक ख़बर में इस ट्रेंड को जगह दी और बताया कि इजरायल को भारत से ख़ूब समर्थन मिला। जेरुसलम पोस्ट ने इस दौरान पीएम मोदी और बेंजामिन नेतन्याहू की दोस्ती की चर्चा की।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

अबू-अल अता को दफनाए जाने के समय वहाँ कई आतंकी मौजूद रहे। एक आतंकी सरगना खालिद अल-बत्स ने कहा कि इजराइल ने गाज़ा और सीरिया पर हमला किया, जो बताता है कि उसने युद्ध की घोषणा कर दी है। पीआईजे ने कहा कि अब आगे ‘सज़ा देने के लिए’ जो भी किया जाएगा, उसका जिम्मेदार इजरायल ही होगा। इजरायल की सेना ने गाज़ा में कई आतंकी प्रशिक्षण कैम्पों को भी निशाना बनाया, जहाँ हथियार बनाए जा रहे थे। हथियार बनाने वाली इन अस्थायी फैक्ट्रियों को इजरायल ने तबाह कर दिया।

बता दें कि पीआईजे और हमास के कारण इजरायल को अपनी सीमाओं पर अतिरिक्त सतर्कता बरतनी पड़ती है, क्योंकि ये दोनों लगातार वहाँ के निर्दोष लोगों को निशाना बनाने की जुगत में लगे रहते हैं। हालिया घटनाओं के बाद भारत में लोगों ने इजरायल के नागरिकों की सलामती के लिए प्रार्थना की। भारत स्थित इजरायली दूतावास ने भी भारतीयों को इस समर्थन के लिए धन्यवाद दिया है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

बरखा दत्त
मीडिया गिरोह ऐसे आंदोलनों की तलाश में रहता है, जहाँ अपना कुछ दाँव पर न लगे और मलाई काटने को खूब मिले। बरखा दत्त का ट्वीट इसकी प्रतिध्वनि है। यूॅं ही नहीं कहते- तू चल मैं आता हूँ, चुपड़ी रोटी खाता हूँ, ठण्डा पानी पीता हूँ, हरी डाल पर बैठा हूँ।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

118,018फैंसलाइक करें
26,176फॉलोवर्सफॉलो करें
126,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: