Thursday, September 23, 2021
Homeविविध विषयअन्यसलमान ने की साजिश, शाहरुख खान ने भी किया था बेइज्जत, बेह​द दुखी थे...

सलमान ने की साजिश, शाहरुख खान ने भी किया था बेइज्जत, बेह​द दुखी थे सुशांत: ​जिम पाटर्नर ने लगाए गंभीर आरोप

"सुशांत ने मुझे बताया था कि शाहरुख खान ने एक सिगनेचर स्टेप तैयार करने के लिए कहा था। यह भी कहा था कि उसके (सुशांत) संघर्ष और अब तक के सफ़र के बारे में भी पूछेंगे। लेकिन इन सारी बातों से ठीक उलट उन्होंने मंच पर सुशांत को बेइज्ज़त करना शुरू कर दिया।”

सुशांत सिंह के जिम पार्टनर सुनील शुक्ला ने सलमान और शाहरुख खान पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उनका कहना है कि शाहरुख खान ने सुशांत का अपमान किया था। इससे वे काफी दुखी थे। इसके अलावा वह सलमान खान की रची गई साज़िश का भी शिकार हुए हैं। सुनील शुक्ला ने करन जौहर और सलमान खान पर सुशांत सिंह की फिल्म ‘ड्राइव’ बंद करने का भी आरोप लगाया।  

सुनील शुक्ला ने कहा कि एक वक्त ऐसा आ गया था जब ये सारे लोग तय करते थे कि सुशांत सिंह को कम से कम फ़िल्में मिलें। इसके अलावा सुनील ने बताया कि सुशांत सिंह आईफ़ा अवार्ड्स में शाहरुख खान और शाहिद कपूर के साथ मंच साझा करने वाले थे। शाहरुख ने शो के पहले सुशांत से बात की थी। उनसे कहा था कि वे मंच पर उनकी फिल्म ‘काई पो चे’ का ज़िक्र करेंगे।  

सुनील ने कहा, “सुशांत ने मुझे बताया था कि शाहरुख खान ने एक सिगनेचर स्टेप तैयार करने के लिए कहा था। सुशांत इस प्रस्ताव और बुलावे से बेहद खुश था। शाहरुख खान ने उससे यह भी कहा था कि उसके (सुशांत) संघर्ष और अब तक के सफ़र के बारे में भी पूछेंगे। लेकिन इन सारी बातों से ठीक उलट उन्होंने मंच पर सुशांत को बेइज्ज़त करना शुरू कर दिया। शाहिद कपूर और शाहरुख खान ने सुशांत को सभी के सामने बेइज्ज़त किया।”  

सुनील के मुताबिक़ सुशांत शाहरुख खान के इस व्यवहार से सुशांत बहुत ज़्यादा निराश थे। उन्हें इस बात का दुःख था कि वे शाहरुख खान को हमेशा से अपना पसंदीदा कलाकार मानते रहे थे, लेकिन उन्होंने उसके साथ ऐसा व्यवहार किया। सुनील ने करन जौहर और सलमान खान पर भी कई आरोप लगाए। सुनील के मुताबिक़ सलमान और करन दोनों ने यह साज़िश रची कि सुशांत सिंह को बड़ी फिल्म में काम करने का मौक़ा नहीं मिले। 

करन जौहर ने सुशांत सिंह और जैकलीन फर्नांडिस को ‘ड्राइव’ फिल्म के लिए साइन किया था। लेकिन फिल्म के बीच में ही जैकलीन को रेस 3 में काम करने का प्रस्ताव मिल गया। यहाँ करन ने जैकलीन को दूसरी फिल्म में काम करने से नहीं रोका पर सुशांत को दूसरी फिल्म में काम करने से पूरी तरह मना कर दिया। इसके अलावा भी सुनील शुक्ला ने सुशांत सिंह से जुड़े ऐसे कई खुलासे किए हैं जो हैरान करने वाले हैं।      

सुनील ने बताया कि साल 2018 के नवंबर-दिसंबर के दौरान उनकी सुशांत से मुलाक़ात हुई थी। उनके अनुसार सुशांत मिजाज़ में सबसे अलग थे और वह कभी अवसाद में नहीं हो सकते। उन्होंने कहा कि सुशांत ने बहुत संघर्ष किया था और उसमें बहुत ज्यादा आत्मविश्वास था। सुनील के मुताबिक़ वह दोनों जिम में वर्कआउट के दौरान मिलते थे और काफी बातें भी करते थे।             

हाल ही में सुशांत सिंह राजपूत की कथित आत्महत्या मामले में एक और बड़ा रहस्य सामने आया था। एक तरफ सीबीआई और ईडी जैसी एजेंसियाँ इस मामले की जाँच कर रही है, वहीं दूसरी तरफ सामने आए एक वीडियो में एक मिस्ट्री बैग और एक संदिग्ध महिला के देखे जाने के बाद चर्चा का बाजार फिर से गर्म हो गया था। इस वीडियो में एक और व्यक्ति भी दिख रहा है, जिसकी पहचान हो गई थी।

ये वीडियो ‘रिपब्लिक टीवी’ ने जारी किया था। इस वीडियो में देखा जा सकता है कि सुशांत सिंह राजपूत के मृत शरीर के पास एक व्यक्ति काले रंग का बैग लेकर खड़ा है। गुलाबी रंग की टोपी पहने उस आदमी को सुशांत सिंह राजपूत का हाउस मैनेजर दीपेश सावंत बताया जा रहा है, जो काला बैग लेकर सीढ़ियों से उतर रहा है। साथ ही एक महिला भी दिख रही है, जो नीले और सफ़ेद रंग की स्ट्रीप्ड शर्ट पहनी हुई है।

इस वीडियो में उक्त महिला को सुशांत के अपार्टमेंट वाली कंपाउंड में दौड़ते हुए देखा जा सकता है। वो लड़की दौड़ते हुए आकर उस आदमी से मिलती है, जो काला बैग थामे हुए है। अगले फुटेज में उस आदमी के हाथ से बैग गायब नज़र आता है। सबसे बड़ी बात तो ये है कि जब ये होता है, तब मुंबई पुलिस वहीं पर मौजूद रहती है। इस बैग का क्या रहस्य है और वो ‘मिस्ट्री वुमन’ कौन है, इस पर सवाल उठ रहे हैं।

इस वीडियो के सामने आने के बाद सुशांत सिंह राजपूत के परिवार के वकील ने भी बैग, उसे थामे व्यक्ति और लड़की को लेकर सवाल खड़े किए थे। वकील विकास सिंह ने कहा था कि इस वीडियो में जो दिख रहा है वो सब संदिग्ध है। उन्होंने कहा कि उक्त व्यक्ति क्या सामान लेकर जा रहा है और वो लड़की कौन है, इसका खुलासा होना चाहिए। उन्होंने पूछा कि कहीं ये सब सबूत मिटाने के लिए तो नहीं क्या गया?

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गुजरात के दुष्प्रचार में तल्लीन कॉन्ग्रेस क्या केरल पर पूछती है कोई सवाल, क्यों अंग विशेष में छिपा कर आता है सोना?

मुंद्रा पोर्ट पर ड्रग्स की बरामदगी को लेकर कॉन्ग्रेस पार्टी ने जो दुष्प्रचार किया, वह लगभग ढाई दशक से गुजरात के विरुद्ध चल रहे दुष्प्रचार का सबसे नया संस्करण है।

‘मुंबई डायरीज 26/11’: Amazon Prime पर इस्लामिक आतंकवाद को क्लीन चिट देने, हिन्दुओं को बुरा दिखाने का एक और प्रयास

26/11 हमले को Amazon Prime की वेब सीरीज में मु​सलमानों का महिमामंडन किया गया है। इसमें बताया गया है कि इस्लाम बुरा नहीं है। यह शांति और सहिष्णुता का धर्म है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,859FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe