मस्जिद और मदरसों में आतंकियों के छिपे होने की आशंका, बेंगलुरु हाई अलर्ट पर

हाल ही में, राष्ट्रीय जाँच एजेंसी ने बर्धवान विस्फोट मामले में आतंकी हबीबुर रहमान शेख (28) को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तारी के बाद उसने रामनगर क्षेत्र में दो IED लगाने की बात क़बूल की थी।

आतंकी हमले के अंदेशे को देखते हुए कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु हाई अलर्ट पर है। खुफिया अधिकारियों ने शहर के मस्जिदों, मदरसों और ‘अन्य धार्मिक जगहों’ पर आतंकियों के छिपे होने की आशंका जताई है।

खुफिया रिपोर्टों के मुताबिक संदिग्ध केरल से बेंगलुरु में दाखिल हुए हैं और माना जा रहा है कि वे शहर के ‘धार्मिक स्थानों’ में छिपे हो सकते हैं। आतंकी हमले को लेकर इंटेलीजेंस इनपुट मिलने के बाद बेंगलुरु पुलिस ने हाई अलर्ट घोषित किया है।

बेंगलुरु के पुलिस आयुक्त भास्कर राव ने शहर में सुरक्षा कड़ी करने और सतर्कता बढ़ाने के आदेश दिए हैं। सभी मातहतों को अपने-अपने इलाकों के प्रमुख स्थानों मसलन, विधानसभा सौध, विकास सौध, हाई कोर्ट, रेलवे स्टेशनों, बेंगलुरु मेट्रो, बस स्टेशन, स्कूल, होटल, बाजार सहित भीड़भाड़ वाली सभी जगहों पर विशेष सतर्कता बरतने को कहा गया है।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

हाल ही में, राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (NIA) ने बर्धवान विस्फोट मामले में आतंकी हबीबुर रहमान शेख (28) को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तारी के बाद उसने रामनगर क्षेत्र में दो इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइसेस (IEDs) लगाने की बात क़बूल की थी। हबीबुर रहमान, बांग्लादेश स्थित आतंकी संगठन जमात-उल मुजाहिदीन से जुड़ा है। उसे डोड्डाबल्लापुर से गिरफ़्तार किया गया था। उसने एक स्थानीय मस्जिद में शरण ली थी।

10 जुलाई को, हबीबुर रहमान द्वारा किए गए क़बूलनामों के आधार पर, NIA ने बेंगलुरु से पाँच गड़े हुए हैंड ग्रेनेड, एक-टाइमर डिवाइस, तीन इलेक्ट्रिक सर्किट, संदिग्ध विस्फोटक पदार्थ, IED और रॉकेट बनाने में उपयोग किए जाने वाले घटक ज़ब्त किए थे।

TV 9 के अनुसार, दो संदिग्धों को बेंगलुरु शहर के बगलगल्ट इलाक़े के एक ‘धार्मिक स्थल’ से गिरफ़्तार किया गया था। NIA के अधिकारियों ने दो आतंकवादियों को बेंगलुरु के सोलडेवनहल्ली इलाक़े के पास एक मदरसे से पकड़ा था।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by paying for content

बड़ी ख़बर

नरेंद्र मोदी, डोनाल्ड ट्रम्प
"भारतीय मूल के लोग अमेरिका के हर सेक्टर में काम कर रहे हैं, यहाँ तक कि सेना में भी। भारत एक असाधारण देश है और वहाँ की जनता भी बहुत अच्छी है। हम दोनों का संविधान 'We The People' से शुरू होता है और दोनों को ही ब्रिटिश से आज़ादी मिली।"

ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

92,258फैंसलाइक करें
15,609फॉलोवर्सफॉलो करें
98,700सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: