जल्द हल होगा कश्मीर मसला, धरती की कोई ताकत इसे नहीं रोक सकती: रक्षा मंत्री

राजनाथ ने चेतावनी भी दी कि बातचीत ही उनकी सरकार के पास इकलौता विकल्प नहीं है। "अगर बातचीत से नहीं, तो कैसे, हमें मालूम है।" उन्होंने साथ ही जोड़ा, "इसका समाधान हो कर रहेगा। मैं जो बोलता हूँ, सोच-समझ कर बोलता हूँ। ऐसे नहीं बोलता हूँ।"

कठुआ: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दावा किया कि कश्मीर मुद्दे का समाधान अब होने को है, और “धरती की कोई ताकत इसे रोक नहीं सकती।” रक्षा मंत्री ने यह बात द्रास सेक्टर स्थित कारगिल युद्ध स्मारक पर कही। इस दौरान उन्होंने कठुआ और बसंतसर में दो पुलों का भी उद्घाटन किया।

<script async

‘तो कैसे, हमें मालूम है’

उझ नदी पर बना 1,000 मित्र लम्बा कठुआ का पुल बॉर्डर रोड आर्गेनाइजेशन (बीआरओ, BRO) के अब तक के इतिहास का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट है। ₹50 करोड़ के इस पुल का लोकार्पण करते हुए राजनाथ ने, जोकि मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में गृह मंत्री का कार्यभार भी संभाल चुके हैं, देश को आश्वस्त किया कि “कश्मीर समस्या का हल जल्दी ही होने वाला है।” इस दौरान उन्होंने अपने गृह मंत्री होने के उस दौर को भी याद किया जब उनके नेतृत्व में पहुँचे सर्वदलीय डेलीगेशन से बात करने के लिए हुर्रियत नेताओं ने अपने घर के दरवाज़े तक नहीं खोले थे।

राजनाथ ने चेतावनी भी दी कि बातचीत ही उनकी सरकार के पास इकलौता विकल्प नहीं है। “अगर बातचीत से नहीं, तो कैसे, हमें मालूम है।” उन्होंने साथ ही जोड़ा, “इसका समाधान हो कर रहेगा। मैं जो बोलता हूँ, सोच-समझ कर बोलता हूँ। ऐसे नहीं बोलता हूँ।”

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

राफ़ेल
सुप्रीम कोर्ट ने राफ़ेल विमान सौदे को लेकर उछल-कूद मचा रहे विपक्ष और स्वघोषित डिफेंस-एक्सपर्ट लोगों को करारा झटका दिया है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई वाली बेंच ने राफेल मामले में दायर की गईं सभी पुनर्विचार याचिकाओं को ख़ारिज कर दिया है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

112,578फैंसलाइक करें
22,402फॉलोवर्सफॉलो करें
117,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: