बालाकोट एयरस्ट्राइक: पाकिस्तान के F-16 लड़ाकू विमान को मार गिराने में मिंटी अग्रवाल ने निभाई थी अहम भूमिका

स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल ने कहा, “एफ-16 को विंग कमांडर अभिनंदन ने मार गिराया था। वह अचानक लड़ाई का वक्त थ। स्थिति बेहद फ्लेक्सिबल थी। वहाँ दुश्मन देश के कई विमान तैनात थे। हमारे विमान उनके हमलों का जवाब दे रहे थे। हर तरफ से पाकिस्तानी विमानों से हम अपनी रक्षा कर रहे थे।’’

IAF (भारतीय वायु सेना) के बालाकोट हवाई अड्डे पर पाकिस्तान की जवाबी कार्रवाई के दौरान उड़ान नियंत्रक के रूप में काम करने वाली मिंटी अग्रवाल भारत की पहली महिला हैं जिन्हें युद्ध सेवा मेडल से सम्मानित किया गया है। एयरस्ट्राइक को याद करते हुए मिंटी अग्रवाल ने बताया कि 26 फरवरी को उन्होंने आतंकी शिविरों पर एयर स्ट्राइक के मिशन को सफलतापूर्वक अंजाम दिया था। 

उन्होंने बताया कि उन्हें लग रहा था कि पाकिस्तान एयरस्ट्राइक का जवाब तुरंत देगा, जिसके लिए उनकी टीम पूरी तरह से तैयार थी। पाकिस्तान ने कई घंटों बीत जाने के बाद बम गिराने की नाकाम कोशिश की। इसके लिए LoC के पास पहले से ही लड़ाकू विमान तैनात कर दिए गए थे।

स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल ने कहा, “एफ-16 को विंग कमांडर अभिनंदन ने मार गिराया था। वह अचानक लड़ाई का वक्त थ। स्थिति बेहद फ्लेक्सिबल थी। वहाँ दुश्मन देश के कई विमान तैनात थे। हमारे विमान उनके हमलों का जवाब दे रहे थे। हर तरफ से पाकिस्तानी विमानों से हम अपनी रक्षा कर रहे थे।’’

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

उन्होंने कहा,“26 फरवरी को हमने ग़ैर-सैन्य शिविरों में बालाकोट मिशन को सफलतापूर्वक अंजाम दिया। हमें प्रतिशोध की उम्मीद थी, उसके लिए पहले से तैयार थे और उन्होंने मात्र 24 घंटे में जवाबी कार्रवाई की।”

ग़ौरतलब है कि वायु सेना के विंग कमांडर वर्धमान अभिननंदन ने पाकिस्तान के एफ-16 लड़ाकू विमान मार गिराया था। उनकी इस वीरता में उनकी सहयोगी मिंटी अग्रवाल ने अहम भूमिका निभाई थी। उस समय वो वायु सेना के रडार कंट्रोल स्टेशन पर तैनात थीं। जब पाकिस्तान लड़ाकू विमानों ने उनके एयरबेस से उड़ान भरी और Pok के रास्ते भारतीय वायु सेना में प्रवेश करने के लिए आगे बढे, तभी उन्होंने श्रीनगर स्थित वायु सेना के एयरबेस को सूचित कर दिया, जहाँ विंग कमांडर अभिनंदन सहित कई भारतीय लड़ाकू विमान हाई अलर्ट पर थे।

स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल से सूचना मिलते ही अभिनंदन ने उड़ान भरी और अपनी वायु सीमा पर पहुँच गए। इस बीच, स्क्वॉड्रन लीडर मिंटी अग्रवाल अभिनंदन को हर पल पाकिस्तान जेट की स्थिति से लगातार अवगत कराती रहीं, जिससे वो इस ऑपरेशन को सफलतापूर्वक पूरा करने में सफल हुए।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

जेएनयू छात्र विरोध प्रदर्शन
गरीबों के बच्चों की बात करने वाले ये भी बताएँ कि वहाँ दो बार MA, फिर एम फिल, फिर PhD के नाम पर बेकार के शोध करने वालों ने क्या दूसरे बच्चों का रास्ता नहीं रोक रखा है? हॉस्टल को ससुराल समझने वाले बताएँ कि JNU CD कांड के बाद भी एक-दूसरे के हॉस्टल में लड़के-लड़कियों को क्यों जाना है?

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

112,491फैंसलाइक करें
22,363फॉलोवर्सफॉलो करें
117,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: