पाकिस्तान ने इस साल 2050 से अधिक बार किया सीजफायर का उल्लंघन, 21 भारतीयों की मौत: विदेश मंत्रालय

पाकिस्तानी सेना पिछले कुछ दिनों से लगातार संघर्षविराम का उल्लंघन कर रही है। इसके जवाब में भारतीय सेना ने 10 और 11 सितंबर को पाकिस्तान के 2 सैनिकों को मार गिराया था।

पाकिस्तान द्वारा बार-बार सीजफायर उल्लंघन करने पर विदेश मंत्रालय ने बयान जारी किया है। विदेश मंत्रालय ने कहा है कि इस साल पाकिस्तान ने 2050 से अधिक बार सीजफायर उल्लंघन किया है, जिसमें 21 भारतीयों की मौत हुई। विदेश मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान सीमा पर से आतंकी घुसपैठ की कोशिश में लगा है। पाकिस्तान भारतीय नागरिकों और बोर्डर पोस्ट को निशाना बना रहा है।

मंत्रालय ने आगे कहा, “हमने बार-बार पाक से कहा है कि वह अपनी सेनाओं से 2003 के सीजफायर समझौते का पालन करने और नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर शांति बनाए रखने के लिए कहे। भारतीय बल अधिकतम संयम बरतते हैं और सीमा पार आतंकवादी घुसपैठ पर अकारण उल्लंघन और प्रयासों का जवाब देते हैं।”

गौरतलब है कि,पाकिस्तानी सेना पिछले कुछ दिनों से लगातार संघर्षविराम का उल्लंघन कर रही है। इसके जवाब में भारतीय सेना ने 10 और 11 सितंबर को पाकिस्तान के 2 सैनिकों को मार गिराया था। इसके बाद पाक के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के हाजीपुर सेक्टर से शनिवार (सितंबर 14, 2019) को एक वीडियो सामने आया, जिसमें पाकिस्तानी फौजी सफेद झंडा दिखाकर अपने जवानों का शव ले जा रहे थे।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इससे पहले पाकिस्तान ने केरन सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास पाँच से सात BAT (Border Action Team) कमांडो के शव को LOC पर से उठाने से मना कर दिया था, जबकि हिन्दुस्तानी सेना ने पेशकश की थी कि पाकिस्तानी सेना सफेद झंडे के साथ आकर इन शवों को ले जा सकती है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

कमलेश तिवारी हत्याकांड
आपसी दुश्मनी में लोग कई बार क्रूरता की हदें पार कर देते हैं। लेकिन ये दुश्मनी आपसी नहीं थी। ये दुश्मनी तो एक हिंसक विचारधारा और मजहबी उन्माद से सनी हुई उस सोच से उत्पन्न हुई, जहाँ कोई फतवा जारी कर देता है, और लाख लोग किसी की हत्या करने के लिए, बेखौफ तैयार हो जाते हैं।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

107,042फैंसलाइक करें
19,440फॉलोवर्सफॉलो करें
110,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: