Monday, September 20, 2021
Homeदेश-समाजसड़क पर प्रवासी मजदूरों के साथ हादसा: UP-MP में 14 की मौत, 50 से...

सड़क पर प्रवासी मजदूरों के साथ हादसा: UP-MP में 14 की मौत, 50 से ज्यादा घायल

इस सप्ताह की शुरुआत में, मध्य प्रदेश में ट्रक पलटने की वजह से 5 प्रवासियों की मौत हो गई थी और 11 लोग घायल हो गए थे।इससे पहले भी 15 प्रवासी कामगारों की मौत ट्रैन से कुचलने की वजह से तब हुई थी, जब वे पटरियों पर सो रहे थे।

कोरोना वायरस की मार सबसे ज्यादा प्रवासी मजदूरों पर पड़ी है। लॉकडाउन के बीच पैदल ही अपने घर जाने की जद्दोजहद में लगे मजदूर आए दिन हादसे का शिकार हो रहे हैं। इस बार घटना उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर की है। मुजफ्फरनगर-सहारनपुर हाइवे पर पैदल जा रहे प्रवासी मजदूरों को बुधवार (13.5.20) देर रात एक तेज रफ्तार बस ने कुचल दिया। इसमें 6 लोगों की मृत्यु हो गई।

रिपोर्टों के अनुसार, यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना घौली चेक-पोस्ट के पास हुई। पुलिस ने अज्ञात बस चालक के खिलाफ मामला दर्ज किया है। आउटलुक की रिपोर्ट के अनुसार, हादसे के वक़्त आरोपी ड्राइवर शराब के नशे में गाड़ी चला रहा था। पुलिस ने इलाके की नाकाबंदी कर फरार ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है।

रिपोर्ट के अनुसार गंभीर रूप से घायल हुए दो प्रवासी श्रमिकों को जिला चिकित्सालय में प्राथमिक उपचार के बाद मेरठ रेफर कर दिया। साथ ही मामूली रूप से घायल हुए दो अन्य प्रवासियों का मुजफ्फरनगर जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है।

इस तरह की एक और भयावह घटना मध्य प्रदेश के गुना जिले में हुई। यहाँ 14 मई की सुबह 3 बजे एक ट्रक हादसे में 50 प्रवासी मजदूर घायल हो गए और 8 लोगों की मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार प्रवासी मजदूर कंटेनर में सवार होकर महाराष्ट्र से उत्तर प्रदेश जा रहे थे। यह कंटेनर गुना कैंट थाना के समीप विपरीत दिशा से आ रही बस से टकरा गया। दुर्घटना में घायल हुए लोगों का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है।

इस सप्ताह की शुरुआत में, मध्य प्रदेश में ट्रक पलटने की वजह से 5 प्रवासियों की मौत हो गई थी और 11 लोग घायल हो गए थे। ये हादसा तब हुआ, जब आम से लदे ट्रक में मजदूर हैदराबाद से उत्तर प्रदेश जा रहे थे। इससे पहले भी 15 प्रवासी कामगारों की मौत ट्रैन से कुचलने की वजह से तब हुई थी, जब वे पटरियों पर सो रहे थे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

माफ़ करना योगेश जाटव, तुम्हारा नाम ‘पहलू खान’ या ‘तबरेज अंसारी’ नहीं था: कॉन्ग्रेस शासित राजस्थान की मुस्लिम भीड़ पर सन्नाटा

बनावटी मामलों में 'टूर' करने वाले नेता व पत्रकार अलवर में मुस्लिम भीड़ द्वारा एक दलित युवक की मॉब लिंचिंग पर चुप हैं। कहाँ हैं दलितों के ठेकेदार?

‘इस्लामी कट्टरपंथियों ने हाथ काटा, चर्च के डर से अपनों ने छोड़ा’: परेशान हो केरल के प्रोफेसर की पत्नी ने भी कर ली आत्महत्या

केरल के एक कॉलेज में मलयालम पढ़ाने वाले प्रोफेसर पर साल 2010 में ईशनिंदा का आरोप मढ़ कर कट्टरपंथियों ने हमला किया था। उस दौरान उनका हाथ काट दिया गया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,369FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe