Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाजअशफ़ाक ने काट खाई सास की नाक, उसके पिता ने काट डाले कान: दहेज़...

अशफ़ाक ने काट खाई सास की नाक, उसके पिता ने काट डाले कान: दहेज़ न मिलने से बौखलाए थे पिता-पुत्र

स्टेशन हाउस अधिकारी अवनीश सिंह यादव ने कहा, “घटना की जानकारी मिलने पर, हम पीड़िता को अस्पताल ले गए और उन्हें प्राथमिक चिकित्सा उपलब्ध करवाई। पाँच परिचितों और एक अज्ञात व्यक्ति के ख़िलाफ़ FIR दर्ज की गई है और जल्द ही आरोपितों को गिरफ़्तार कर लिया जाएगा।”

उत्तर प्रदेश के बरेली से रविवार (25 अगस्त) को एक चौंका देने वाली ख़बर सामने आई है। इस ख़बर के अनुसार दहेज न दिए जाने पर अशफ़ाक ने अपनी सास की नाक काट खाई और अशफ़ाक के पिता ने उनका कान काट दिया। आरोपित के ख़िलाफ़ बरेली छावनी पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा-323 (स्वेच्छा से चोट पहुँचाना), 326 (स्वेच्छा से किसी ख़तरनाक हथियार से चोट पहुँचाना) और 504 (जानबूझकर विश्वास भंग करने के इरादे से अपमान करना) के तहत FIR दर्ज की गई है।

गंभीर रूप से घायल महिला को ज़िला अस्पताल पहुँचाया गया, जहाँ उसे सर्जरी के लिए दिल्ली रेफर कर दिया गया। ख़बर के मुताबिक़, भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) के एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी, गन्था रहमान ने अपनी बेटी चाँद बी का निक़ाह लगभग एक साल पहले बरेली के एक प्रॉपर्टी डीलर मोहम्मद अशफ़ाक से करवाया था।

दूल्हे के परिवार ने रुपए की माँग की थी। निक़ाह के समय दहेज के रूप में 10 लाख रुपए दहेज के तौर पर दिए गए थे। लेकिन, चाँद बी द्वारा एक बेटी को जन्म दिए जाने के बाद ससुराल वालों ने उसके घर से अतिरिक्त 5 लाख रुपए की माँग की। रहमान ने इस राशि के भुगतान से इनकार कर दिया। इसके बाद उसकी बेटी के साथ ससुराल वालों ने मार-पिटाई शुरू कर दी।

इस बारे में जब पिता को पता चला तो वो अपनी बीवी गुलशन के साथ बेटी के ससुराल पहुँचे। लेकिन जल्द ही आपसी बातचीत मारपीट में तब्दील हो गई। अशफ़ाक ने अपनी सास की नाक काट खाई, जबकि अशफ़ाक के पिता इज़हार ने चाकू से उसका कान काट दिया। पुलिस को सूचना दिए जाने के बाद, बाप-बेटे की यह जोड़ी गुलशन को बेहोश हालात में छोड़कर फ़रार हो गई। बाद में पुलिस ने उन्हें अस्पताल पहुँचाया।

स्टेशन हाउस अधिकारी अवनीश सिंह यादव ने कहा, “घटना की जानकारी मिलने पर, हम पीड़िता को अस्पताल ले गए और उन्हें प्राथमिक चिकित्सा उपलब्ध करवाई। पाँच परिचितों और एक अज्ञात व्यक्ति के ख़िलाफ़ FIR दर्ज की गई है और जल्द ही आरोपितों को गिरफ़्तार कर लिया जाएगा।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राहुल गाँधी ने POCSO एक्ट का किया उल्लंघन, NCPCR ने ट्वीट हटाने के दिए निर्देश: दिल्ली की पीड़िता के माता-पिता की फोटो शेयर की...

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने राहुल गाँधी के ट्वीट पर संज्ञान लिया है और ट्विटर से इसके खिलाफ कार्रवाई करने की माँग की है।

‘धर्म में मेरा भरोसा, कर्म के अनुसार चाहता हूँ परिणाम’: कोरोना से लेकर जनसंख्या नियंत्रण तक, सब पर बोले CM योगी

सपा-बसपा को समाजिक सौहार्द्र के बारे में बात करने का कोई अधिकार नहीं है क्योंकि उनका इतिहास ही सामाजिक द्वेष फैलाने का रहा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,945FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe