Friday, September 17, 2021
Homeदेश-समाजदहेज की माँग पर बीबी के चेहरे पर तेजाब फेंककर शौहर मो. नौशाद फरार,...

दहेज की माँग पर बीबी के चेहरे पर तेजाब फेंककर शौहर मो. नौशाद फरार, पहले से हैं 3 शादियाँ

आरोपित मोहम्मद नौशाद की इससे पहले भी कई निकाह हो चुका है और पीड़ित नजराना खातून उसकी तीसरी बीबी बताई जा रही है। शौहर मोहम्मद नौशाद लगातार अपनी पत्नी से दहेज की माँग करता था और उसके साथ मारपीट करता था।

बिहार स्थित सुपौल में शराब के नशे में धुत नौशाद ने अपनी पत्नी के चेहरे पर तेजाब डाल दिया। सुबह 4 बजे, इस घटना के समय नौशाद की पत्नी सो रही थी और आरोपित नौशाद तेजाब डालने के बाद वहाँ से फरार हो गया।

तेजाब डालने से तड़पती हुई पत्नी को उसके गाँव वालों ने नजदीकी राघोपुर अस्पताल पहुँचाया। राघोपुर अस्पताल के चिकित्सक डॉक्टर अहमद ने भी पीड़ित लड़की के तेजाब से घायल होने की पुष्टि की है। कुछ रिपोर्ट्स के अनुसार, राघोपुर पुलिस इस मामले में फिलहाल कुछ भी बताने से मना कर रही है।

एसिड अटैक की यह घटना बिहार के सुपौल स्थित राघोपुर थाना इलाके के धोबी टोला की है। रिपोर्ट्स के अनुसार आरोपित मोहम्मद नौशाद लगातार अपनी पत्नी से दहेज की माँग करता था और उसके साथ मारपीट करता था।

मंगलवार (मई 12, 2020) रात वो शराब के नशे में घर पहुँचा था। नौशाद की पीड़ित पत्नी का कहना है कि इसी दौरान उसकी ननद ने नौशाद से उसके चेहरे पर तेजाब फेंकने की बात कही और उसे सुला दिया।

बुधवार सुबह 4 बजे जब पीड़िता सोई हुई थी, उसी समय उनके चेहरे के ऊपर तेजाब डाल दिया और मोहम्मद नौशाद सहित उसका परिवार वहाँ से फरार हो गया। मो. नौशाद की पत्नी ने बताया है कि दहेज की माँग को लेकर गाँव में भी कई बार पंचायत हुई थीं।

ज्ञात हो कि आरोपित मोहम्मद नौशाद की इससे पहले भी कई निकाह हो चुका है और पीड़ित नजराना खातून उसकी तीसरी बीबी बताई जा रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लोकतंत्र का प्रहरी: 9 घंटे तक पूछताछ सहने वाले नरेंद्र मोदी Vs चुनावी जीत पर मौत का तांडव करने वाले मुख्यमंत्री?

गुजरात दंगे के मामले में आरोपित बनाए गए नरेंद्र मोदी एसआईटी कार्यालय गए और 9 घंटे तक बैठे रहे और उनसे पूछे गए हर सवाल का जवाब दिया था।

अब्बाजान से बना पिताश्री, अम्मीजान से माताश्री: ‘मुगलों ने सिखाया सब कुछ’ से अब ‘उर्दू के एहसान का प्रोपेगंडा’ – जानिए सच्चाई

स्क्रॉल जैसे मीडिया संस्थानों ने 'माताश्री' और 'पिताश्री' जैसे शब्दों के लिए भी उर्दू व रही मासूम रजा को श्रेय दे दिया। जाइए क्या है सच्चाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
122,856FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe