Friday, August 6, 2021
Homeदेश-समाजताजिया जुलूस में शामिल लोगों को दुर्गा मंदिर में आतिशबाजी और उपद्रव करने से...

ताजिया जुलूस में शामिल लोगों को दुर्गा मंदिर में आतिशबाजी और उपद्रव करने से रोकने पर पत्थरबाजी

मुहर्रम के पूर्व सौदागर पट्टी कमिटी द्वारा निकला गया ताजिया जुलूस माधव नगर से होकर गुजर रहा था। इसी दौरान मुस्लिम समुदाय के लोग माधव नगर स्थित दुर्गा मंदिर के बाँस के घेरे को तोड़कर आतिशबाजी करने लगे।

बिहार के किशनगंज जिले में बृहस्पतिवार (सितंबर 06, 2019) को एक साम्प्रदायिक तनाव की घटना सामने आई है। जिसमें पत्थरबाजी में तीन लोग घायल हो गए। इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, घटना के बाद सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील शहर में मुहर्रम से एक सप्ताह पहले सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

इस मामले में बिहार के किशनगंज जिले में नगर थाना क्षेत्र के माधवनगर (महादलित टोला) में दो समुदाय के बीच हुई हिंसक झड़प के मामले में आज 25 नामजद समेत 275 लोगों पर प्राथमिकी (FIR) दर्ज की गई है।

प्रभात खबर के अनुसार, मुहर्रम के पूर्व सौदागर पट्टी कमिटी द्वारा निकला गया ताजिया जुलूस माधव नगर से होकर गुजर रहा था। इसी दौरान मुस्लिम समुदाय के लोग माधव नगर स्थित दुर्गा मंदिर के बाँस के घेरे को तोड़कर आतिशबाजी करने लगे। इसका विरोध करने पर जब स्थानीय लोगों ने उन्हें मंदिर परिसर को हानि पहुँचाने से रोका तो दोनों पक्षों के बीच हिंसक झड़प हो गई, जिसमें दर्जनों लोग घायल हो गए। 

इस झड़प में दो वयस्क समेत और एक बच्ची गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों का अभी अस्पताल में चल रहा है। इस घटना में गंभीर रूप से घायलों में गौरी देवी, दीपक नल्लीक और 12 वर्षीय मिस्टी शामिल है। घटना की सूचना मिलते ही डीएम हिमांशु शर्मा, एसपी कुमार आशीष दल बल के साथ वहाँ पहुँच गए।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बृहस्पतिवार की शाम माधवनगर दलित बस्ती में एक मज़हबी जुलूस निकालने से रोकने के दौरान दो पक्षों के बीच विवाद के बाद पथराव में तीन लोग घायल हो गए थे। मामले की जानकारी मिलने के बाद जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक समेत अन्य अधिकारियों ने मौके पर पहुँच कर आक्रोशित लोगों को शांत कराया।

किशनगंज के पुलिस अधीक्षक कुमार आशीष ने बताया कि मजहबी जुलूस निकालने का विरोध करने पर रात को माधवनगर महादलित टोला में पथराव की घटना हुई थी। उन्होंने बताया कि घटना के बाद दोनों पक्षों ने एक-दूसरे के खिलाफ FIR दर्ज कराई हैं। हालाँकि, इस संबंध में अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है लेकिन इलाके में किसी सांप्रदायिक तनाव की आशंका के चलते गश्त बढ़ा दी गई हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान में गणेश मंदिर तोड़ने पर भारत सख्त, सालभर में 7 मंदिर बन चुके हैं इस्लामी कट्टरपंथियों का निशाना

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में मंदिर तोड़े जाने के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान के शीर्ष राजनयिक को तलब किया है।

अफगानिस्तान: पहले कॉमेडियन और अब कवि, तालिबान ने अब्दुल्ला अतेफी को घर से घसीट कर निकाला और मार डाला

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने भी अब्दुल्ला अतेफी की हत्या की निंदा की और कहा कि अफगानिस्तान की बुद्धिमत्ता खतरे में है और तालिबान इसे ख़त्म करके अफगानिस्तान को बंजर बनाना चाहता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,145FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe