Wednesday, September 29, 2021
Homeदेश-समाजसनातन डेका के बाद अब असम में देबाशीष गोगोई की मॉब लिंचिंग: पिता के...

सनातन डेका के बाद अब असम में देबाशीष गोगोई की मॉब लिंचिंग: पिता के सामने ही भीड़ ने बेटे को मारा

देबाशीष के पिता ने बताया कि उनकी आँखों के सामने ही उनके बेटे को मारा-पीटा जाता रहा। इस मामले में आसिफ नायक, अशोक सावरा, सचिन सावरा और राधेश्याम कुर्मी को गिरफ्तार किया गया है। इन चारों के अलावा चौकीदार दीपक छाबरा को भी गिरफ्तार किया गया है।

असम से सनातन डेका के बाद अब एक अन्य युवक की मॉब-लिंचिंग की ख़बर आई है। आरोप लगाया गया कि युवक और उसके मित्र ने अपनी बाइक से दो महिलाओं को टक्कर मारी थी। 23 वर्षीय युवक की हत्या का ये मामला जोरहट का है। इससे पहले कामरूप में इसी तरह की एक घटना में सब्जी-विक्रेता सनातन डेका को मार डाला गया था। ताज़ा मामले में मृतक की पहचान देबाशीष गोगोई के रूप में हुई है।

ये घटना बुधवार (मई 29, 2020) की है। अधिकारियों ने बताया कि देबाशीष गोगोई मरियानी शहर के नजदीक स्थित नकाचारी मिलगाँव के रहने वाले थे। शनिवार की रात जोरहट मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (JMCH) में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। प्रत्यक्षदर्शियों ने ‘द हिन्दू’ को बताया कि नागालैंड सीमा के पास स्थित गभरू पर्वत टी स्टेट में स्थित पिकनिक स्पॉट के पास जाने वाली सड़क पर ये घटना हुई।

टी स्टेट के गार्ड ने देबाशीष और उनके दोस्त आदित्य दास को अन्दर जाने से रोक दिया था। इसके बाद एक छोटी सी झड़प हुई, जो शांत हो गई थी। इसके बाद आरोप लगाया गया कि उन दोनों ने घर जा रही प्लांटेशन वर्कर्स में से दो महिलाओं को टक्कर मार दी। आदित्य ने बताया कि गार्डन की टी फैक्ट्री के पास उनकी गाड़ी फिसल गई थी और इसलिए गलती से ये एक्सीडेंट हुआ। उन्होंने बताया कि तभी भीड़ जमा हो गई और उन पर लात-घूसे बरसाए जाने लगे।

टी स्टेट देबेरापार पुलिस आउटपोस्ट के अंतर्गत आता है। पुलिस ने बताया कि इस घटना के सम्बन्ध में 4 लोगों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ की गई, जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। उनके खिलाफ़ मामला दर्ज कर लिया गया है। आउटपोस्ट के इंचार्ज आर दत्ता ने बताया कि बाकी आरोपितों को भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। देबाशीष के पिता ने बताया कि वो अपनी बेटी के साथ घटनास्थल पर गए थे, जब उन्हें उनके बेटे के एक्सीडेंट की सूचना मिली। लेकिन, उन्हें उनकी गाड़ी से बाहर नहीं उतरने दिया गया।

पिता ने बताया कि उनकी आँखों के सामने ही उनके बेटे को मारा-पीटा जाता रहा। जोरहट डिप्टी कमिश्नर ने इलाके में शांति-व्यवस्था बनाए रखने की अपील की है। इस मामले में आसिफ नायक, अशोक सावरा, सचिन सावरा और राधेश्याम कुर्मी को गिरफ्तार किया गया है। इन चारों के अलावा चौकीदार दीपक छाबरा को भी गिरफ्तार किया गया है। देबाशीष के परिवार वालों ने मामले की एफआईआर दर्ज कराई है।

इससे पहले कामरूप वाली घटना में सनातन डेका की साइकिल दो युवकों की स्कूटी से टकराई और स्कूटी पर खरोंच आ गई थी। स्कूटी चालकों को वह मामूली सी खरोंच देखकर इतना गुस्सा आया कि पहले उन्होंने सनातन को खुद पीटा और फिर अपने तीन अन्य साथियों को बुलवाकर उसे इतना मारा कि उसकी मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने इस मामले में फैजुल हक और युसूफउद्दीन अहमद को गिरफ्तार किया था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘उमर खालिद को मिली मुस्लिम होने की सजा’: कन्हैया के कॉन्ग्रेस ज्वाइन करने पर छलका जेल में बंद ‘दंगाई’ के लिए कट्टरपंथियों का दर्द

उमर खालिद को पिछले साल 14 सितंबर को गिरफ्तार किया गया था, वो भी उत्तर पूर्वी दिल्ली में भड़की हिंसा के मामले में। उसपे ट्रंप दौरे के दौरान साजिश रचने का आरोप है

कॉन्ग्रेस आलाकमान ने नहीं स्वीकारा सिद्धू का इस्तीफा- सुल्ताना, परगट और ढींगरा के मंत्री पदों से दिए इस्तीफे से बैकफुट पर पार्टी: रिपोर्ट्स

सुल्ताना ने कहा, ''सिद्धू साहब सिद्धांतों के आदमी हैं। वह पंजाब और पंजाबियत के लिए लड़ रहे हैं। नवजोत सिंह सिद्धू के साथ एकजुटता दिखाते हुए’ इस्तीफा दे रही हूँ।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
125,039FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe