Sunday, August 1, 2021
Homeदेश-समाज12 साल की नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म में परवेज़ और टनटन गिरफ़्तार, साहिल...

12 साल की नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म में परवेज़ और टनटन गिरफ़्तार, साहिल फ़रार

एसपी मिश्रा ने बताया कि मामला दर्ज कर वारदात को अंजाम देने वाले दो आरोपित टनटन और परवेज़ को गिरफ़्तार कर लिया गया है और साहिल अभी भी फ़रार है जिसे जल्द गिरफ़्तार कर लिया जाएगा।

उत्तर प्रदेश के जौनपुर से एक 12 साल की बच्ची के साथ हैवानियत की ख़बर सामने आई है। अपने घर से कूड़ा फेंकने के लिए निकली बच्ची को परवेज़, साहिल समेत तीन दरिंदों ने उसका अपहरण किया। सामूहिक दुष्कर्म की वारदात को अंजाम देने के बाद सभी वहाँ से फऱार हो गए। 

पीड़ित बच्ची के परिजनों को जब इस घटना के बारे में पता चला तो उन्होंने पुलिस में शिक़ायत दर्ज कराई। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मामला दर्ज कर लिया और परवेज़ व उसके एक साथी को धर-दबोचा। दुष्कर्म में शामिल साहिल फ़िलहाल फ़रार है।

दरअसल, जौनपुर शहर कोतवाली क्षेत्र के मछलीशहर पड़ाव के एक मोहल्ले में 12 साल की मासूम शाम के समय कूड़ा फेंकने के लिए घर से बाहर निकली थी। पहले से घात लगाए आरोपितों ने उसे पकड़ लिया और पास के हाते में ले गए। वहाँ परवेज़, साहिल, टनटन समेत अन्य साथियों ने उसका सामूहिक बलात्कार किया। काफ़ी देर बाद जब बच्ची घर नहीं पहुँची तो परिजनों ने परेशान होकर उसकी तलाश शुरू कर दी।

काफ़ी तलाश के बाद परिजनों को बच्ची बदहवास हालत में मिली, उसे उसी अवस्था में घर लाया गया, जहाँ होश आने के बाद उसने आपबीती बताई। एसपी मिश्रा ने बताया कि मामला दर्ज कर वारदात को अंजाम देने वाले दो आरोपित टनटन और परवेज़ को गिरफ़्तार कर लिया गया है और साहिल अभी भी फ़रार है जिसे जल्द गिरफ़्तार कर लिया जाएगा।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

रसगुल्ला के कारण राजदीप ने बंगाल हिंसा पर नहीं पूछा सवाल: TheLallantop के शो में कबूली बात, देखें वीडियो-समझें पत्रकारिता

राजदीप सरदेसाई ने कहा कि उन्होंने CM ममता बनर्जी से बंगाल हिंसा पर इसीलिए सवाल नहीं पूछे, क्योंकि ऐसा करने पर उन्हें रसगुल्ला नहीं मिलता।

जम्मू-कश्मीर में अब पत्थरबाजाें, देशद्रोहियों को नहीं मिलेगी सरकारी नौकरी और पासपोर्ट: सरकार का आदेश, सर्कुलर जारी

पत्थरबाजों और देश विरोधी गतिविधियों में शामिल रहने वाले लोगों को ना तो सरकारी नौकरी दी जाएगी और न ही उनके पासपोर्ट का वेरिफिकेशन किया जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,434FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe