Monday, September 27, 2021
Homeदेश-समाजमंदिर में तोड़ी राम-जानकी की मूर्तियाँ, भाग निकले बदमाश: आक्रोशित लोगों ने कहा -...

मंदिर में तोड़ी राम-जानकी की मूर्तियाँ, भाग निकले बदमाश: आक्रोशित लोगों ने कहा – दंगा फ़ैलाने की साजिश

पुजारी ने बताया कि सुबह 6 बजे उन्होंने मंदिर में साफ-सफाई का काम संपन्न किया था, जिसके बाद वो अपनी नित्यक्रिया के लिए चले गए थे। जब वो मंदिर में वापस आए तो उन्होंने देखा कि राम-जानकी की प्रतिमाओं को विखंडित कर दिया गया था।

बिहार के पश्चिम चम्पारण के बेतिया में स्थित राम-जानकी मंदिर में बदमाशों ने प्रतिमाओं को विखंडित कर दिया है। मंदिर में हिन्दू देवी-देवताओं की प्रतिमाओं को विखंडित किए जाने के कारण स्थानीय लोग आक्रोशित हो गए। आक्रोशित लोगों ने आगजनी भी की और जल्द से जल्द दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की माँग की। ये घटना बेतिया नगर के बसवरिया धुनियापट्टी स्थित राम जानकी मंदिर की है।

पुलिस ने बताया कि वो तेज़ी से इस मामले में कार्रवाई कर रही है और मंदिर के पुजारी के लिखित शिकायत पर नगर थाना में अज्ञात असामाजिक तत्वों पर मामला दर्ज कर के छानबीन भी प्रारंभ कर दी गई है। स्थानीय लोगों ने इस घटना को साजिश करार दिया है। उनका कहना है कि मंदिर के आसपास नशेड़ियों और जुआड़ियों का अड्डा लगा रहता है, लेकिन पुलिस सब कुछ जानते हुए भी मूकदर्शक बनी रहती है।

जगदंबा नगर में हुई इस घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने तोड़फोड़ भी की। ये घटना रविवार (जून 13, 2021) की सुबह की है। पुजारी ने बताया कि सुबह 6 बजे उन्होंने मंदिर में साफ-सफाई का काम संपन्न किया था, जिसके बाद वो अपनी नित्यक्रिया के लिए चले गए थे। जब वो मंदिर में वापस आए तो उन्होंने देखा कि राम-जानकी की प्रतिमाओं को विखंडित कर दिया गया था। बसवरिया स्थित इस मंदिर में आसपास के लोग काफी श्रद्धा रखते हैं।

उनका कहना है कि ऐसा कर के शहर में सांप्रदायिक दंगे की साजिश रची जा रही है। उन्होंने पुलिस से कहा कि इस मामले में कार्रवाई के अलावा ऐसे अन्य बदमाशों पर भी कड़ी नजर रखने की आवश्यकता है। घटना की सूचना मिलते ही DSP मुकुल परिमल पांडे के नेतृत्व में नगर थाना, मुफस्सिल थाना व कालीबाग थाना की पुलिस वहाँ पहुँची। डीएसपी के आश्वासन के बाद लोगों ने सड़क जाम हटाया।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

देश से अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता सरमा ने पेश...

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

‘टोटी चोर’ के बाद मार्केट में AC ‘चोर’, कन्हैया ‘क्रांति’ कुमार का कॉन्ग्रेसी अवतार

एक 'आंगनबाड़ी सेविका' का बेटा वातानुकूलित सुख ले! इससे अच्छे दिन क्या हो सकते हैं भला। लेकिन सुख लेने के चक्कर में कन्हैया कुमार ने AC ही उखाड़ लिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,737FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe