Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाजहिन्दू युवक से विवाह के कारण MP में अब्बू का शव कब्रिस्तान में दफनाने...

हिन्दू युवक से विवाह के कारण MP में अब्बू का शव कब्रिस्तान में दफनाने से इनकार, पुलिस के आने पर हुआ अंतिम संस्कार

सलपुरा कब्रिस्तान के पास पुराने घरों में रहने वाली रवीना के अब्बू इदा खान की मौत हो गई। लेकिन समुदाय विशेष के कुछ लोगों ने शव को कब्रिस्तान में दफनाने का विरोध किया। रवीना ने अपने समुदाय के लोगों से बहुत प्रार्थना की लेकिन उनकी बातों का लोगों पर कोई प्रभाव नहीं हुआ।

मध्य प्रदेश के श्योपुर में एक हिंदू लड़के से शादी करने पर समुदाय विशेष की महिला को अपने समुदाय की प्रताड़ना का सामना करना पड़ रहा है। रवीना शर्मा (विवाह के बाद बदला हुआ नाम) नाम की इस महिला के अब्बू की जब मौत हुई, तो उसके समुदाय द्वारा कब्रिस्तान में दफनाने से उन्हें रोक दिया गया। यहाँ तक कि बाद में पुलिस विभाग में आईजी स्तर के हस्तक्षेप के बाद ही महिला के पिता के अंतिम संस्कार की प्रक्रिया पूरी हो पाई।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, रविवार (सितम्बर 06, 2020) को सलपुरा कब्रिस्तान के पास पुराने घरों में रहने वाली रवीना के अब्बू इदा खान की मौत हो गई। लेकिन समुदाय विशेष के कुछ लोगों ने शव को कब्रिस्तान में दफनाने का विरोध किया। रवीना ने अपने समुदाय के लोगों से बहुत प्रार्थना की लेकिन उनकी बातों का लोगों पर कोई प्रभाव नहीं हुआ।

रवीना का अपराध यह था कि उसने कुछ ही समय पहले एक हिन्दू युवक से लव मैरिज की थी। और इसी कारण उसके पहले मजहब के लोगों ने उसे सबक सिखाने का यह अमानवीय तरीका अपनाया।

रिपोर्ट्स के अनुसार, जब रवीना के अब्बू इदा खान का शव कब्रिस्तान में दफनाने से रोका गया तो उसने स्थानीय पुलिस से मदद माँगी लेकिन पुलिस से भी उसे कोई मदद नहीं मिली। इसके बाद चंबल आईजी से फोन पर मदद माँगी गई और स्थानीय पुलिस मदद के लिए मौके पर पहुँची। मौके पर पुलिस के पहुँचने के बाद ही रवीना के अब्बू इदा खान का अंतिम संस्कार हो पाया।

पुलिस ने कहा – मजहब नहीं बल्कि कब्रिस्तान की जमीन को लेकर है विवाद

बताया जा रहा है कि इस कब्रिस्तान की जमीन पर वक्फ कमेटी और इदा खान के बीच एक केस चल रहा है। इसी विवाद के चलते कब्रिस्तान की भूमि पर एक घर के निर्माण को लेकर इदा खान की बेटी रवीना शर्मा की रिपोर्ट पर एक FIR भी दर्ज की गई थी। पुलिस का कहना है कि पिछले दिनों ही जमीन पर मकान बनाने को लेकर 30 लोगों ने इदा खान पर हमला भी किया था।

हालाँकि, रवीना ने आरोप लगाया है कि उसके समुदाय के लोग इस कारण भी उससे नाराज हैं क्योंकि उसने अपने मजहब के बजाए एक हिन्दू युवक से विवाह किया था। रिपोर्ट्स के अनुसार, श्योपुर पुलिस का कहना है कि शव को दफनाने से रोका जरूर गया था, लेकिन किसी अन्य धर्म में बेटी की शादी को लेकर विवाद जैसी कोई बात नहीं थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राणा अयूब बनीं ट्रोलिंग टूल, कश्मीर पर प्रोपेगेंडा चलाने के लिए आ रहीं पाकिस्तान के काम: जानें क्या है मामला

पाकिस्तान के सूचना मंत्रालय से जुड़े लोग ऑन टीवी राणा अयूब की तारीफ करते हैं। वह उन्हें मोदी सरकार का पर्दाफाश करने वाली ;मुस्लिम पत्रकार' के तौर पर जानते हैं।

राहुल गाँधी ने POCSO एक्ट का किया उल्लंघन, NCPCR ने ट्वीट हटाने के दिए निर्देश: दिल्ली की पीड़िता के माता-पिता की फोटो शेयर की...

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने राहुल गाँधी के ट्वीट पर संज्ञान लिया है और ट्विटर से इसके खिलाफ कार्रवाई करने की माँग की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,975FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe