Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाजनिकिता हत्याकांड: वारदात के बाद तौसीफ-रेहान ने बदल लिया था हुलिया, सीसीटीवी ने ऐसे...

निकिता हत्याकांड: वारदात के बाद तौसीफ-रेहान ने बदल लिया था हुलिया, सीसीटीवी ने ऐसे बिगाड़ा हत्यारों का खेल

हत्या की वारदात को अंजाम देने के बाद दोनों आरोपितों ने शुरुआत में फरीदाबाद में ही अपने एक रिश्तेदार के निर्माणाधीन घर में शरण ली थी। यहाँ आकर पुलिस को चकमा देने के लिए आरोपित तौसीफ और रेहान ने अपना हुलिया बदल लिया था।

फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में निकिता तोमर की हत्या करने के बाद आरोपित नूंह की बजाय फरीदाबाद में ही छिपे थे। आरोपितों को यकीन नहीं था कि वह पकड़े भी जा सकते हैं। मगर अग्रवाल कॉलेज के गेट पर लगे सीसीटीवी ने उनके खेल को बिगाड़ दिया। सीसीटीवी के कारण ही निकिता के भाई नवीन ने तौसीफ को पहचान लिया और उसकी धर पकड़ शुरू हो गई।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, हत्या की वारदात को अंजाम देने के बाद दोनों आरोपितों ने शुरुआत में फरीदाबाद में ही अपने एक रिश्तेदार के निर्माणाधीन घर में शरण ली थी। यहाँ आकर पुलिस को चकमा देने के लिए आरोपित तौसीफ और रेहान ने अपना हुलिया बदल लिया था।

आरोपितों ने घर पर ही नाई बुलवाकर सिर के बाल कटवा दिए। वारदात के दौरान तौसीफ के सिर के बाल काफी बड़े थे। सीसीटीवी में पहचान होने के बाद अपराध शाखा सक्रिय हो गई और आरोपितों को धर दबोचा।

महापंचायत के बाद पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़प

इधर आज निकिता मर्डर केस को लेकर महापंचायत बुलाई गई। सर्व समाज महापंचायत में फैसला लिया गया है कि 21 साल की नीकिता की हत्या मामले में दोषियों को जल्द से जल्द फाँसी की सजा दी जाए। जिसके बाद रविवार (नवंबर 1, 2020) को उग्र भीड़ ने फरीदाबाद-बल्लभगढ़ हाईवे को जाम कर दिया है। ये लोग निकिता हत्याकांड में दोषियों को जल्द से जल्द फाँसी की सजा देने की माँग कर रहे हैं।

बताया जा रहा है कि भीड़ ने आगजनी और पथराव भी किया जिसके बाद भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है। रिपोर्ट के अनुसार प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के ऊपर भी पथराव कर दिया है। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया

जेल में भी वीआईपी ट्रीटमेंट लेना चाहता है तौसीफ

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक निकिता हत्याकांड में मुख्य आरोपित तौसीफ गिरफ्तारी के बाद से ही वीआईपी ट्रीटमेंट के खेल में लग गया है। नीमका जेल में बंद तौसीफ ने रिमांड के बाद की पहली पेशी में ही जान का खतरा बताकर खुद को गुरुग्राम के भोंडसी जेल में शिफ्ट करने की अर्जी कोर्ट में दी थी, क्योंकि इसी जेल में कॉन्ग्रेसी नेता का बेटा डिप्टी जेलर के पद पर कई सालों से कार्यरत है।

क्या है मामला?

फरीदाबाद जिले के बल्लभगढ़ में परीक्षा देकर लौट रही बीकॉम तृतीय वर्ष की छात्रा 21 वर्षीय निकिता की गोली मारकर हत्या की गई थी। कत्ल का आरोप नूह से कॉन्ग्रेस विधायक आफताब अहमद के चचेरे भाई तौसीफ पर लगे हैं। तौसीफ ने पुलिस हिरासत में स्वीकार किया कि उसने निकिता की हत्या की योजना वेब सीरीज ‘मिर्जापुर’ देखने के बाद बनाई थी।

दरअसल, तौसीफ निकिता से शादी करना चाहता था। इसलिए वह कॉलेज के बाहर निकिता को ले जाने के लिए उसका इंतजार कर रहा था। जैसे ही निकिता कॉलेज से बाहर आई, तौसीफ उसे जबरन कार में बिठाने लगा। लेकिन निकिता ने इनकार करते हुए विरोध किया। इसके बाद आरोपित ने निकिता की गोली मारकर हत्या कर दी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ये नंगे, इनके हाथ अपराध में सने, फिर भी शर्म इन्हें आती नहीं… क्योंकि ये है बॉलीवुड

राज कुंद्रा या गहना वशिष्ठ तो बस नाम हैं। यहाँ किसिम किसिम के अपराध हैं। हिंदूफोबिया है। खुद के गुनाहों पर अजीब चुप्पी है।

‘द प्रिंट’ ने डाला वामपंथी सरकार की नाकामी पर पर्दा: यूपी-बिहार की तुलना में केरल-महाराष्ट्र को साबित किया कोविड प्रबंधन का ‘सुपर हीरो’

जॉन का दावा है कि केरल और महाराष्ट्र पर इसलिए सवाल उठाए जाते हैं, क्योंकि वे कोविड-19 मामलों का बेहतर तरीके से पता लगा रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,242FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe