Friday, August 6, 2021
Homeदेश-समाजएक और लव-जिहाद: मेरठ से नाबालिग अगवा, देवबंद में कलमा पढ़ाया, प्रयागराज में निकाह

एक और लव-जिहाद: मेरठ से नाबालिग अगवा, देवबंद में कलमा पढ़ाया, प्रयागराज में निकाह

निकाह के बाद मंसूर (सांकेतिक नाम) ने उसे कभी हैदराबाद तो कभी मुंबई में रखा। उसे चंडीगढ़ के होटल में भी रखा गया था। मंसूर उसे लेकर इलाहबाद इसलिए लौटा क्योंकि वह...

मेरठ में एक और लव-जिहाद का मामला प्रकाश में आया है, वह भी नाबालिग के साथ। एसएसपी नितिन तिवारी से मिल रही जानकारी के अनुसार लड़की को पहले अगवा कर मेरठ से देवबंद ले जाया गया, फिर वहाँ जबरन मज़हब बदलवाने के बाद उसे प्रयागराज ले जाकर निकाह कर दिया गया। मामला तूल पकड़ने पर पुलिस को किशोरी के साथ ‘शौहर’, शौहर का भाई और जीजा भी बरामद हुए। लड़की चार मई से लापता चल रही थी।

क्षेत्र में तनाव, भीड़ थाने के सामने जमा

लता (बदला हुआ नाम) के बयान के मुताबिक प्रयागराज में निकाह के बाद मंसूर (सांकेतिक नाम) ने उसे कभी हैदराबाद तो कभी मुंबई में रखा। उसे चंडीगढ़ के होटल में भी रखा गया था। मंसूर उसे लेकर प्रयागराज इसलिए लौटा क्योंकि वह उच्च न्यायालय में अपनी सुरक्षा के लिए रिट डालने की तैयारी कर रहा था। लेकिन वह अपनी तैयारी को अंजाम दे पाता, उसके पहले ही लता के पीछे लगी क्राइम ब्रांच की टीम ने उसे धर दबोचा।

मंसूर के घर के 12 लोग और उसके रिश्तेदारों को पुलिस ने पहले ही जेल भेज दिया था, लेकिन लता का कोई सुराग नहीं मिला था। लता को पत्रिका की खबर के मुताबिक मेरठ के ब्रह्मपुरी थाना क्षेत्र के एक कारोबारी की बेटी बताया जा रहा है। मामले के मज़हबी रंग के चलते क्षेत्र में तनाव है और भीड़ थाने के आगे जमा है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान में गणेश मंदिर तोड़ने पर भारत सख्त, सालभर में 7 मंदिर बन चुके हैं इस्लामी कट्टरपंथियों का निशाना

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में मंदिर तोड़े जाने के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान के शीर्ष राजनयिक को तलब किया है।

अफगानिस्तान: पहले कॉमेडियन और अब कवि, तालिबान ने अब्दुल्ला अतेफी को घर से घसीट कर निकाला और मार डाला

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने भी अब्दुल्ला अतेफी की हत्या की निंदा की और कहा कि अफगानिस्तान की बुद्धिमत्ता खतरे में है और तालिबान इसे ख़त्म करके अफगानिस्तान को बंजर बनाना चाहता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,145FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe