Sunday, August 1, 2021
Homeदेश-समाजपटना में सरस्वती प्रतिमा विसर्जन के दौरान पथराव, फायरिंग और बमबाजी, गुमला में भी...

पटना में सरस्वती प्रतिमा विसर्जन के दौरान पथराव, फायरिंग और बमबाजी, गुमला में भी तनाव

पुलिस ने लाठीचार्ज कर उपद्रवियों को खदेड़ दिया। मौके पर भारी संख्या में पुलिस फोर्स और रैफ के जवानों को तैनात किया गया है। फिलहाल हालात नियंत्रण में लेकिन तनावपूर्ण बताए जा रहे हैं।

बिहार की राजधानी पटना में शुक्रवार को दो गुटों की बीच हिंसक झड़प हो गई। शुरुआत सरस्वती मूर्ति के विसर्जन के लिए निकली जुलूस पर पथराव से हुई। इसके बाद फायरिंग हुई और बम भी चले। वहीं, झारखंड के गुमला में सोशल मीडिया पर मॉं सरस्वती को लेकर की गई अश्लील टिप्पणी के बाद तनाव पैदा हो गया।

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार पटना का अशोक राजपथ पर देर शाम फायरिंग और बमबाजी से अफरातफरी मच गई। पटना विश्वविद्यालय के छात्रों और लालबाग मोहल्ले के लोगों बीच जमकर संघर्ष हुआ। धमाके में पीरबहोर थाने के दारोगा मनोज कुमार जख्मी हो गए। एक सिपाही सहित कई अन्य लोगों के भी घायल होने की खबर है। उपद्रवियों ने दर्जनों वाहनों में तोड़फोड़ की और दो कार को आग के हवाले कर दिया। छात्र सैदपुर, मिंटो और नूतन हॉस्टल के बताए जा रहे हैं।

बताया जाता है कि शुरुआत में बवाल देख पुलिसकर्मी भाग खड़े हुए। बाद में अतिरिक्त बल के साथ आईजी रेंज और एसएसपी मौके पर पहुॅंचे। इसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज कर उपद्रवियों को खदेड़ दिया। मौके पर भारी संख्या में पुलिस फोर्स और रैफ के जवानों को तैनात किया गया है। फिलहाल हालात नियंत्रण में लेकिन तनावपूर्ण बताए जा रहे हैं।

यह घटना जिस जगह पर हुई है उसके करीब ही सब्जीबाग है। यहॉं पिछले कई दिनों से नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में दिल्ली के शाहीनबाग की तर्ज पर ही प्रदर्शन चल रहा है। बीते महीने इससे सटे कारगिल चौक पर सीएए के विरोध में हिंसा भी हुई थी। उपद्रवियों ने पुलिस और राहगीरों पर पथराव किया था। दो पुलिस बूथ, बैरिकेडिंग समेत एक दर्जन से अधिक वाहनों को फूॅंक दिया था। हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस को उस वक्त आंसू गैस के गोले और हवाई फायरिंग करनी पड़ी थी।

इधर, झारखंड के गुमला में भी जमकर बवाल होने की खबर है। प्रभात खबर की रिपोर्ट के अनुसार जिले के घाघरा प्रखंड में आक्रोशित लोगों ने दोपहर के वक्त चॉंदनी चौक के करीब सड़क जाम कर दिया। प्रदर्शनकारी मॉं सरस्वती की प्रतिमा को लेकर अश्लील टिप्पणी किए जाने से नाराज थे। वे आरोपित की गिरफ्तारी की मॉंग कर रहे थे। आरोपित समुदाय विशेष का बताया जा रहा है।

‘नारा-ए-तकबीर’ और ‘अल्लाहु अकबर’ के साथ विसर्जन जुलूस पर पत्थरबाजी, मंदिर को भी नहीं छोड़ा

देवी लक्ष्मी के विसर्जन का मुस्लिमों ने किया विरोध: भड़की साम्प्रदायिक हिंसा, कपिलवस्तु में सूरज की मौत

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मानसिक-शारीरिक शोषण से धर्म परिवर्तन और निकाह गैर-कानूनी: हिन्दू युवती के अपहरण-निकाह मामले में इलाहाबाद HC

आरोपित जावेद अंसारी ने उत्तर प्रदेश में 'लव जिहाद' के खिलाफ बने कानून के तहत हो रही कार्रवाई को रोकने के लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट का रुख किया था।

गोविंद देव मंदिर: हिंदू घृणा के कारण औरंगजेब ने जिसे आधा ढाह दिया… और उसके ऊपर इस्लामिक गुंबद बना नमाज पढ़ी

भगवान गोविंद देव अर्थात श्रीकृष्ण का यह मंदिर वृंदावन के सबसे पुराने मंदिरों में से एक। मंदिर के विशालकाय दीपक की चमक इसकी शत्रु साबित हुई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,352FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe