Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाज'अखिलेश भैइया के बाटे नाच-ब, अबकी बनाई अखिलेश जी के ताज-ह' - बार बालाओं...

‘अखिलेश भैइया के बाटे नाच-ब, अबकी बनाई अखिलेश जी के ताज-ह’ – बार बालाओं के साथ सपा नेता का डांस, खोज रही UP पुलिस

सपा नेता शैलेंद्र यादव बार बालाओं के साथ ठुमके लगाने में मस्त थे। तभी स्टेज के नीचे नाच रहे एक युवक ने कुछ कमेंट कर दिया, जिसके बाद वह 'मस्त डांस' छोड़ कर मारपीट करने लगे।

उत्तर प्रदेश में गोरखपुर के समाजवादी पार्टी के नेता शैलेंद्र यादव का अपने साले की शादी में बार बालाओं के साथ अश्लील डाँस का वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में वह स्टेज पर 3-4 बार बालाओं के साथ जमकर डाँस करते देखे जा सकते हैं।

सपा नेता शैलेंद्र यादव की पत्नी रेनु यादव वार्ड नंबर 17 से जिला पंचायत सदस्य हैं। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में स्पष्ट देखा जा सकता है कि स्टेज पर “अखिलेश यादव जिंदाबाद 2022 में समाजवादी का झंडा यूपी में फिर लहराएँगे” गाना बज रहा था। इसी गाने पर सपा नेता बार बालाओं के साथ ठुमके लगा रहे थे। बता दें कि शैलेंद्र यादव सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष चिंता यादव के चचेरे देवर हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, शैलेंद्र यादव के साले की बारात उनके गाँव जंगल अजही के भरवर टोला से कैम्पियरगंज के बैजनाथपुर गुलरिया गाँव गई थी। शादी समारोह के आर्केस्ट्रा में वह ठुमके लगा ही रहे थे, तभी स्टेज के नीचे नाच रहे एक युवक ने कुछ कमेंट कर दिया, जिसके बाद वह स्टेज से नीचे उतर कर मारपीट करने लगते हैं। मामले का वीडियो वायरल होने के बाद अब पुलिस ने कड़ी कार्रवाई करने की बात कही है।

गोरखपुर के एसएसपी दिनेश कुमार पी ने बताया है कि कैम्पियरगंज थाना क्षेत्र में कोरोना काल में कुछ लोगों का अश्लील डाँस वायरल हुआ है, जिसके आधार पर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया गया है।

पुलिस के मुताबिक, कोरोना प्रोटोकॉल के तहत शादी समारोहों में आर्केस्ट्रा व बार बालाओं की बुकिंग लॉकडाउन के नियमों के खिलाफ है। इसके लिए तीन दिन पहले ही एडीजी जोन ने सभी जिलों को इस तरह के सभी आयोजनों पर रोक के लिए निर्देश दिया था।

सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियाँ

सपा नेता द्वारा साले की शादी में अश्लील डाँस किए जाने के वायरल हुए वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि उस दौरान न ही किसी के चेहरे पर मास्क था और सोशल डिस्टेंसिंग तो पूरी तरह से नदारद रही। खास बात यह है कि यूपी सरकार ने कोरोना काल में इस तरह के सभी डाँस आयोजनों पर प्रतिबंध लगाया जा चुका है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

माँ का किडनी ट्रांसप्लांट, खुद की कोरोना से लड़ाई: संघर्ष से भरा लवलीना का जीवन, ₹2500/माह में पिता चलाते थे 3 बेटियों का परिवार

टोक्यो ओलंपिक में मेडल पक्का करने वाली लवलीना बोरगोहेन के पिता गाँव के ही एक चाय बागान में काम करते थे। वो मात्र 2500 रुपए प्रति महीने ही कमा पाते थे।

फ्लाईओवर के ऊपर ‘पैदा’ हो गया मज़ार, अवैध अतिक्रमण से घंटों लगता है ट्रैफिक जाम: देश की राजधानी की घटना

ताज़ा घटना दिल्ली के आज़ादपुर की है। बड़ी सब्जी मंडी होने की वजह से ये इलाका जाना जाता है। यहाँ के एक फ्लाईओवर पर अवैध मजार बना दिया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,105FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe