Friday, July 30, 2021
Homeदेश-समाजपाकिस्तानी हिन्दू शरणार्थियों को Uber ड्राइवर नसीम ने गाड़ी से निकाला... क्योंकि वे कर...

पाकिस्तानी हिन्दू शरणार्थियों को Uber ड्राइवर नसीम ने गाड़ी से निकाला… क्योंकि वे कर रहे थे CAA का समर्थन

ऑपइंडिया ने इस सम्बन्ध में उबर इंडिया से कॉन्टैक्ट किया है, लेकिन अभी तक उनकी तरफ से कोई बयान नहीं आया है।

दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता तेजिंदर सिंह बग्गा ने उबर इंडिया पर गंभीर आरोप लगाए हैं। आरोप है कि उबर इंडिया ने एक व्यक्ति को मजनू का टीला शरणार्थी कैम्प तक छोड़ने से सिर्फ़ इसलिए इनकार कर दिया, क्योंकि वो पाकिस्तानी हिन्दू था। ड्राइवर नसीम की इस करतूत के बारे में बग्गा ने ट्विटर पर लोगों को जानकारी दी। उन्होंने बताया कि नसीम को जैसे ही पता चला कि उसे अपने कैब में एक पाकिस्तानी हिन्दू को लेकर जाना है, वह वहाँ से चला गया

दरअसल, दिल्ली के कनॉट प्लेस में सीएए के समर्थन में एक रैली आयोजित की गई थी, जिसमें बड़ी संख्या में लोगों ने भाग लिया। नागरिकता संशोधन क़ानून के समर्थन में आयोजित इस रैली में कई पाकिस्तानी शरणार्थियों ने भी हिस्सा लिया। इस क़ानून से तीनों पड़ोसी इस्लामिक मुल्कों पाकिस्तान, अफ़ग़ानिस्तान और बांग्लादेश के उत्पीड़ित धार्मिक अल्पसंख्यक शरणार्थियों को भारत की नागरिकता मिलने की राह प्रशस्त हो गई। इसीलिए, दिल्ली में रह रहे पाकिस्तानी हिन्दुओं में भी जश्न का माहौल है।

उक्त घटना के बारे में जानकारी देते हुए पाकिस्तानी हिन्दुओं ने बताया कि उबर इंडिया के ड्राइवर नसीम ने उन्हें नीचे उतरने को कहा। जैसे ही वो नीचे उतरे, वो गाड़ी लेकर फरार हो गया। तेजिंदर बग्गा ने उबर ड्राइवर नसीम द्वारा पाकिस्तानी हिन्दुओं को गाड़ी से निकाल बाहर किए जाने की निंदा की। ऑपइंडिया ने इस सम्बन्ध में उबर इंडिया से कॉन्टैक्ट किया है, लेकिन अभी तक उनकी तरफ से कोई बयान नहीं आया है।

जमशेद ने मुझे घसीटा, बदतमीजी की, गालियाँ दीं: कोलकाता की अभिनेत्री हुई Uber driver से अभद्रता की शिकार

Uber ड्राइवर इरफान ने IT प्रोफेशनल महिला से की छेड़खानी, जान से मारने की धमकी

‘ज्यादा गर्मी लग रही है तो मेरी गोद मे बैठ जाओ’, UBER ड्राइवर ने की महिला पैसेंजर से बदतमीजी

Uber ड्राइवर आफ़ताब ने शिवाजी को दी माँ की गाली, यात्री के मना करने पर बौखलाया

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

तालिबान की मददगार पाकिस्तानी फौज, ढेर कर अफगान सेना ने दुनिया को दिखाए सबूत: भारत के बनाए बाँध को भी बचाया

अफगानिस्तान की सेना ने तालिबान को कई मोर्चों पर पीछे धकेल दिया है। उनकी मदद करने वाले पाकिस्तानी फौज से जुड़े कई लड़ाकों को भी मार गिराया है।

स्वतंत्र है भारतीय मीडिया, सूत्रों से बनी खबरें मानहानि नहीं: शिल्पा शेट्टी की याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट

कोर्ट ने कहा कि उनका निर्देश मीडिया रिपोर्ट्स को ढकोसला नहीं बताता। भारतीय मीडिया स्वतंत्र है और सूत्रों पर बनी खबरें मानहानि नहीं है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,014FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe