Tuesday, August 3, 2021
Homeदेश-समाजरेप के बाद दलित छात्रा का गला रेतने वाले दिलशाद पर NSA के तहत...

रेप के बाद दलित छात्रा का गला रेतने वाले दिलशाद पर NSA के तहत कार्रवाई, पीड़ित परिवार को ₹5 लाख की मदद

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से कहा गया है कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने और राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) के अंतर्गत कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने पीड़‍ित परिवार को 5 लाख रुपये की आ​र्थिक सहायता देने की घोषणा की है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखीमपुर खीरी में छात्रा की रेप के बाद हत्या की घटना में गुरुवार (अगस्त, 27, 2020) को आरोपित के खिलाफ एनएसए (NSA) लगाने सहित कठोर कार्रवाई के निर्देश दिए। साथ ही पीड़‍ित परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए 5 लाख की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से कहा गया है कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने और राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) के अंतर्गत कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने पीड़‍ित परिवार को 5 लाख रुपये की आ​र्थिक सहायता देने की घोषणा की है।

लखीमपुर खीरी की घटना को संज्ञान में लेते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस मामले में सख्ती बरतने के साथ इस प्रकरण की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में करने का निर्देश दिया था। ताकि अपराधियों को यथाशीघ्र सख्त से सख्त सजा दी जा सके।

बता दें कि लखीमपुर खीरी के नीम का थाना क्षेत्र के एक गाँव में एक दलित युवती की रेप के बाद हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने इस मामले में दिलशाद नाम के युवक को गिरफ्तार किया है। रिपोर्ट के अनुसार मृत लड़की की शादी उसके परिवार द्वारा कहीं और तय कर दी गई थी। प्रेमी दिलशाद को यह फैसला पसंद नहीं आया। मृत लड़की ने अपने परिवार के फैसले के खिलाफ नहीं जाने की बात दिलशाद को बताई। इस बात को लेकर दिलशाद गुस्से में आ गया। उसने पहले अपनी प्रेमिका का रेप किया और बाद में चाकू से गला काट कर हत्या कर दी।

गौरतलब है, जिले के एसपी कार्यालय से जारी प्रेस नोट के अनुसार मृतका के शव के पास से उसका मोबाइल व हत्या में उपयोग किया गया चाकू पुलिस ने बरामद किया है। सभी पहलुओं की जाँच में जब मोबाइल कॉल की जाँच की गई तो पाया गया कि मृतका और संदिग्ध दिलशाद के बीच पिछले कई महीने से मोबाइल पर बात हो रही थी। घटना से एक दिन पहले भी दोनों के बीच 13 बार बात हुई थी। संदेह के आधार पर पुलिस ने जब दिलशाद से पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया।

मृतका के परिजनों के मुताबिक वह सोमवार को घर से निकली थीं। उन्हें पास के शहर में स्कॉलरशिप का ऑनलाइन फार्म भरने के लिए जाना था। लेकिन वो लौट कर घर नहीं आईं तो पुलिस को इसकी सूचना दी गई। मृतका और हत्या आरोपित दिलशाद के बीच संबंध शायद चोरी-छिपे थे, क्योंकि लड़की के चाचा शुरुआत में कहा था, ”मैं वास्तव में कुछ नहीं जानता, किस पर संदेह है, कुछ नहीं कह सकता।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

चंदन कुमारhttps://hindi.opindia.com/
परफेक्शन को कैसे इम्प्रूव करें 🙂

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एक-एक पैसा मुजफ्फरनगर व सहारनपुर के मदरसों को दिया’: शाहिद सिद्दीकी ने अपने सांसद फंड को लेकर खोले राज़

वीडियो में पूर्व सांसद शहीद सिद्दीकी कहते दिख रहे हैं कि अपने MPLADS फंड्स में से एक-एक पैसा उन्होंने मदरसों, स्कूलों और कॉलेजों को दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,775FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe