Wednesday, September 22, 2021
Homeदेश-समाजअतीक अहमद से अवैध प्रॉपर्टी को जमींदोज करने पर हुआ खर्च भी वसूलेगी योगी...

अतीक अहमद से अवैध प्रॉपर्टी को जमींदोज करने पर हुआ खर्च भी वसूलेगी योगी सरकार

PDA ने इस पूरे खर्चे का अनुमान लगभग 25 लाख रुपए लगाया है। योगी सरकार ने अतीक अहमद को फरमान जारी करते हुए साफ कर दिया है कि ध्वस्तिकरण की कार्रवाई का खर्च अतीक अहमद को वहन करना होगा। यदि वह ऐसा नहीं करता है तो उसके खिलाफ आरसी जारी की जाएगी।

बाहुबली अतीक अहमद की अवैध प्रॉपर्टी पर कार्रवाई के बाद अब उससे इस पर आया खर्च भी वसूलने की योगी सरकार तैयारी कर रही है। इसमें मजदूरों की दिहाड़ी, जेसीबी का किराया, अधिकारियों और पुलिस बलों का खर्च शामिल है। प्रयागराज विकास प्राधिकरण (पीडीए) इस पूरी कार्रवाई का एक लेखा-जोखा तैयार कर रही है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, PDA ने इस पूरे खर्चे का अनुमान लगभग 25 लाख रुपए लगाया है। योगी सरकार ने अतीक अहमद को फरमान जारी करते हुए साफ कर दिया है कि ध्वस्तिकरण की कार्रवाई का खर्च अतीक अहमद को वहन करना होगा। यदि वह ऐसा नहीं करता है तो उसके खिलाफ आरसी जारी की जाएगी।

रिपोर्ट के अनुसार, फूलपुर के सांसद रह चुके अतीक अहमद की अब तक करीब 300 करोड़ रुपए की अवैध सम्पतियों को जमींदोज किया गया है। सरकार द्वारा पहले से बेनामी सम्पतियों की पूरी कार्रवाई का ब्यौरा तैयार कर लिया गया था। जिसके बाद पुलिस की मदद से ताबड़तोड़ एक्शन लिया गया।

कार्रवाई में आधा आधा दर्जन अधिकारी, प्रवर्तन दल की पूरी टीम, लगभग 50 की संख्या में पुलिसकर्मी, हर कार्रवाई में 4 से 6 जेसीबी मशीनों का प्रयोग और 70 से अधिक मजदूर लगाए गए थे।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में माफिया घोषित किए गए पूर्व सांसद अतीक अहमद की बेनामी सम्पत्तियों को योगी आदित्यनाथ की सरकार द्वारा एक-एक कर के जमींदोज किया गया है। सिर्फ अतीक ही नहीं योगी सरकार द्वारा उसके गुर्गों, परिजनों और करीबियों की अवैध सम्पतियों को भी बख्शा नहीं गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरी की संदिग्ध मौत की जाँच के लिए SIT गठित: CM योगी ने कहा – ‘जिस पर संदेह, उस पर सख्ती’

महंत नरेंद्र गिरी की मौत के मामले में गठित SIT में डेप्यूटी एसपी अजीत सिंह चौहान के साथ इंस्पेक्टर महेश को भी रखा गया है।

जिस राजस्थान में सबसे ज्यादा रेप, वहाँ की पुलिस भेज रही गंदे मैसेज-चौकी में भी हो रही दरिंदगी: कॉन्ग्रेस है तो चुप्पी है

NCRB 2020 की रिपोर्ट के मुताबिक राजस्थान में जहाँ 5,310 केस दुष्कर्म के आए तो वहीं उत्तर प्रेदश में ये आँकड़ा 2,769 का है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,642FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe