#MeToo: TV-9 भारतवर्ष के कार्यकारी संपादक पर महिला पत्रकारों से यौन उत्पीड़न के आरोप, इस्तीफ़ा

दो महिला टीवी पत्रकारों ने इस मुद्दे को आगे बढ़ाते हुए अजय आजाद की करतूतों को शेयर किया है। इन महिला पत्रकारों ने ट्वीट कर के अजय आजाद की हरकतों, उनकी बदनाम छवि व शिकायत होने के बावजूद चैनल प्रबंधन द्वारा उसके खिलाफ एक्शन न लेने की बातें भी कही हैं।

समाचार चैनल ‘TV9 भारतवर्ष’ की दो ट्रेनी पत्रकारों द्वारा एक वरिष्‍ठ संपादक के खिलाफ यौन शोषण की अलग-अलग शिकायतें सामने आई हैं। इसके बाद कार्यस्‍थल पर महिलाओं से यौन अपराध (रोकथाम, प्रतिबंध और निवारण) अधिनियम, 2013 के अंतर्गत, इस मामले को तुरंत ICC (आंतरिक शिकायत समिति) को भेज दिया गया है।

‘TV9 भारतवर्ष’ में ट्रेनी के यौन उत्पीड़न का मामला भी सोशल मीडिया के जरिए सामने आया है। इसके सम्बन्ध में स्वयं इस चैनल के संस्थापक सदस्यों में से एक अजित अंजुम ने भी ट्वीट करते हुए लिखा है कि अपने पद का इस्तेमाल करके ट्रेनी लड़कियों को अपने जाल में फँसाने की कोशिश कर रहे इस शख्स की असलियत सुनकर वो हैरान हैं।

ज्ञात हो कि आरोपित अजय आजाद ‘न्यूज24’ के अलावा ईटीवी, महुआ, जी न्यूज, इंडिया न्यूज चैनल्स में महत्वपूर्ण पदों पर काम कर चुके हैं। मूल रूप से सिवान (बिहार) के रहने वाले अजय आजाद लंबे समय तक राणा यशवंत की महुआ और इंडिया न्यूज टीम का हिस्सा रहे हैं।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

TV9 भारतवर्ष ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से भी इस मामले में जानकारी दी है और बताया कि समाचार चैनल के प्रबंधन ने जाँच पूरी होने तक संपादक को छुट्टी पर भेज दिया है, जिसके बाद दोषी संपादक ने इस्तीफ़ा दे दिया है। चैनल ने लिखा है कि प्रबन्धन ने इस्तीफ़ा तुरन्त प्रभाव से मंज़ूर भी कर लिया।

क्या है पूरा मामला

समाचार चैनल टीवी-9 भारतवर्ष से जुड़ी दो ट्रेनी महिला पत्रकारों ने चैनल प्रबंधन को लिखित शिकायत में बताया था कि चैनल में सीनियर एग्जिक्यूटिव एडिटर अजय आज़ाद काफी समय से व्हाट्सएप के जरिए उनको अश्लील मैसेज भेजते आ रहे थे। इस बारे में उन्होंने पहली शिकायत जनवरी 18, 2020 और दूसरी शिकायत जनवरी 20, 2020 को की थी।

ट्रेनीज की शिकायत के अनुसार, अजय आज़ाद दोनों पत्रकारों को उनके करियर में मदद करने का लालच देते हुए उनसे सेक्सुअल फेवर की माँग करते थे। इसके बाद सोशल मीडिया में सामने आए इन व्हाट्सएप संदेशों से पता चला है कि अजय आज़ाद इन लड़कियों को अश्लील मैसेज करने के बाद उन्हें डिलीट करने के लिए भी जोर देते थे।

दोनों लड़कियों ने शिकायत में बताया कि अजय आज़ाद उनसे खुदको ‘सर’ कहने से मना करते थे और उन्हें सारी सीमाएँ तोड़ने की नसीहत दिया करते थे।

समाचार चैनल टीवी-9 भारतवर्ष में बतौर सीनियर एग्जिक्यूटिव एडिटर कार्यरत रहे अजय आजाद के व्हाट्सएप्प चैट में ट्रेनी पत्रकार द्वारा सार्वजानिक किए गए स्क्रीनशॉट्स के बाद यह प्रकरण सामने आया है। इसके बाद कुछ अन्य लोगों ने भी अजय आजाद पर इस प्रकार की घटनाओं में पहले भी संलिप्त होने के आरोप लगाए हैं।

दो महिला टीवी पत्रकारों ने इस मुद्दे को आगे बढ़ाते हुए अजय आजाद की करतूतों को शेयर किया है। इन महिला पत्रकारों ने ट्वीट कर के अजय आजाद की हरकतों, उनकी बदनाम छवि व शिकायत होने के बावजूद चैनल प्रबंधन द्वारा उसके खिलाफ एक्शन न लेने की बातें भी कही हैं।

ट्विटर पर विनोद कापड़ी और अजीत अंजुम द्वारा टीवी-9 भारतवर्ष में सीनियर एग्जिक्यूटिव एडिटर रहे अजय आजाद द्वारा दो ट्रेनीज लड़कियों के यौन शोषण की कहानी को उठाया गया तो इसके बाद कई अन्य लड़कियाँ सामने आईं जिन्होंने स्वीकार किया कि टीवी9 भारतवर्ष में कई लोगों ने इसी तरह की हरकतों से पहले भी कई लड़कियों का करियर बर्बाद किया है।

पीड़ित ट्रेनीज़ द्वारा TV9 भारतवर्ष चैनल प्रबंधन से की गई लिखित शिकायत की कॉपी इन तस्वीरों में देख सकते हैं-

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

मोदी, उद्धव ठाकरे
इस मुलाकात की वजह नहीं बताई गई है। लेकिन, सीएम बनने के बाद दिल्ली की अपनी पहली यात्रा पर उद्धव ऐसे वक्त में आ रहे हैं जब एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार के साथ अनबन की खबरें चर्चा में हैं। इससे महाराष्ट्र में राजनीतिक सरगर्मियॉं अचानक से तेज हो गई हैं।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

153,901फैंसलाइक करें
42,179फॉलोवर्सफॉलो करें
179,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: