Wednesday, September 29, 2021
Homeराजनीति'AAP विधायक अमानतुल्लाह ने सोशल मीडिया के जरिए CAA पर भड़काई हिंसा', FIR

‘AAP विधायक अमानतुल्लाह ने सोशल मीडिया के जरिए CAA पर भड़काई हिंसा’, FIR

जामिया में हिंसा के दौरान जख्मी हुए मिन्हाजुद्दीन को अमानतुल्लाह ने हाल ही में 5 लाख रुपए का चेक दिया था। साथ ही वक्फ बोर्ड में लीगल असिस्टेंट के पद पर नौकरी देने का ऐलान भी किया था। अमानतुल्लाह वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष भी हैं।

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) का विरोध करने वालों को भड़काने के आरोप में आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक अमानतुल्लाह खान के खिलाफ FIR दर्ज की गई है। उन पर सोशल मीडिया हैंडल से आपत्तिजनक टिप्पणी करने का आरोप है। गाजियाबाद के एक स्थानीय निवासी ने दिल्ली के ओखला से AAP विधायक अमानतुल्लाह के खिलाफ नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट साझा करने के आरोप में एफआईआर दर्ज कराई है।

अमानतुल्लाह खान के खिलाफ गाजियाबाद पुलिस स्टेशन में सूचना प्रौद्योगिकी (IT) अधिनियम और भारतीय दंड संहिता (IPC) की संबंधित धाराओं के तहत शिकायत दर्ज की गई है। FIR में कहा गया है कि 18 दिसंबर 2019 को अमानतुल्लाह खान ने मुस्लिम समुदाय को आर्थिक सहायता और नौकरी देने का आश्वासन दिया था। जिसके कारण मुस्लिम समुदाय के कुछ सदस्यों ने 20 दिसंबर को हिंसक विरोध प्रदर्शन में भाग लिया था। जिसमें दिल्ली समेत देश के अन्य क्षेत्रों में सरकारी और निजी संपत्तियों का नुकसान हुआ।

आरोप लगाया गया है कि AAP विधायक ने एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से विरोध-प्रदर्शन के दौरान घायल हुए बवालियों को 5 लाख रुपए और सरकारी नौकरी देने की घोषणा की। इस तरह से उन्होंने एक लोक सेवक होने के बावजूद लोगों की धार्मिक भावनाओं को भड़काया है। गौरतलब है कि जामिया में हिंसा के दौरान जख्मी हुए मिन्हाजुद्दीन को अमानतुल्लाह ने हाल ही में 5 लाख रुपए का चेक दिया था। साथ ही वक्फ बोर्ड में लीगल असिस्टेंट के पद पर नौकरी देने का ऐलान भी किया था। अमानतुल्लाह वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष भी हैं।

साथ ही 15 दिसंबर को जामिया मिलिया इस्लामिया में हिंसा भड़कने से पहले खान पर भड़काऊ भाषण देने का भी आरोप है। हालाँकि अमानतुल्लाह खान ने शुक्रवार (दिसंबर 20, 2019) को इस बात से इनकार कर दिया कि उनके भाषण की वजह से हिंसा भड़की है। उन्होंने आरोप लगाया कि इस हिंसा में आरएसएस, विहिप और भाजपा के कई नेता शामिल थे। खान ने जामिया के उन छात्रों के समर्थन में भी बात की, जिन्होंने पिछले हफ्ते विरोध प्रदर्शन के नाम पर हिंसा फैलाया था।

जामिया में हुए विरोध प्रदर्शन का एक वीडियो भी सामने आया था, जिसमें छात्र हिन्दुओं के ख़िलाफ़ नारेबाजी करते हुए नजर आए। वीडियो में जामिया के छात्रों को ‘हिन्दुओं से आज़ादी’ के नारे लगाते देखा गया। आरोप है कि केजरीवाल के विधायक अमानतुल्लाह खान इस हिंसक भीड़ की अगुवाई कर रहे थे। उल्लेखनीय है कि इससे पहले सोमवार (दिसंबर 16, 2019) को दिल्ली बीजेपी ने दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया और आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। दिल्ली पुलिस को दी गई शिकायत में आरोप लगाया गया था कि सिसोदिया और आप विधायक अमानतुल्लाह खान तथा अन्य पार्टी नेताओं ने आपराधिक साजिश रची और जामिया में हिंसा भड़काई।

जामिया दंगों में जो मिन्हाजुद्दीन हुआ घायल, उसे AAP विधायक अमानतुल्लाह ने दिया ₹5 लाख और सरकारी नौकरी

पुलिस ने लगाई बसों में आग: अमानतुल्लाह का बचाव करने के लिए सिसोदिया ने फैलाया झूठ

जामिया में लगे ‘हिंदुओं से आजादी’ के नारे; AAP विधायक अमानतुल्लाह कर रहा था हिंसक भीड़ की अगुवाई

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘उमर खालिद को मिली मुस्लिम होने की सजा’: कन्हैया के कॉन्ग्रेस ज्वाइन करने पर छलका जेल में बंद ‘दंगाई’ के लिए कट्टरपंथियों का दर्द

उमर खालिद को पिछले साल 14 सितंबर को गिरफ्तार किया गया था, वो भी उत्तर पूर्वी दिल्ली में भड़की हिंसा के मामले में। उसपे ट्रंप दौरे के दौरान साजिश रचने का आरोप है

कॉन्ग्रेस आलाकमान ने नहीं स्वीकारा सिद्धू का इस्तीफा- सुल्ताना, परगट और ढींगरा के मंत्री पदों से दिए इस्तीफे से बैकफुट पर पार्टी: रिपोर्ट्स

सुल्ताना ने कहा, ''सिद्धू साहब सिद्धांतों के आदमी हैं। वह पंजाब और पंजाबियत के लिए लड़ रहे हैं। नवजोत सिंह सिद्धू के साथ एकजुटता दिखाते हुए’ इस्तीफा दे रही हूँ।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
125,044FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe