Sunday, September 19, 2021
Homeराजनीतिबिहार की बाढ़ में पूर्व केंद्रीय मंत्री डूबते-डूबते बचे, जुगाड़ू नाव में फोटो शूट...

बिहार की बाढ़ में पूर्व केंद्रीय मंत्री डूबते-डूबते बचे, जुगाड़ू नाव में फोटो शूट कराते हुआ हादसा, देखें Video

रामकृपाल यादव ने कहा कि बाढ़ की विभिषिका से इलाके के लोगों की स्थिति नरक बन गई है, लेकिन प्रभावितों के बीच राहत तो दूर एक नाव की व्यवस्था नहीं हैं। उनकी मानें तो पूरा सरकारी तंत्र पटना के राजेंद्रनगर में लगा हुआ है।

बिहार में इन दिनों बाढ़ की वजह से जनजीवन बेहाल है। पटना के अधिकतर इलाके इस समय पूरी तरह बारिश में जल मग्न हैं। ऐसे में बुधवार (अक्टूबर 2, 2019) की शाम सांसद रामकृपाल यादव धनरूहा के चकियापर और रमनिबिहदा के बीच दरधा नदी पर टूटे तटबंध का दौरा करने निकले, लेकिन परिस्थियाँ ऐसी बनी कि वो वहाँ खुद डूबते-डूबते बचे।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो जब भाजपा नेता दौरे पर गए तो वहाँ किसी कारण वश नाव की व्यवस्था नहीं हो पाई। जिसके बाद वे चचरी की बनी नाव पर चढ़कर वहाँ की स्थिति देखने लगे। इस दौरान उनके साथ कई लोग भी मौजूद थे। लेकिन, इलाके का जायजा लेने के दौरान उनका बैलेंस बिगड़ गया और वे चचरी की नाव पर सवार लोगों समेत पानी में गिर कर डूबने लगे। हालाँकि, इस घटना के बाद आनन-फानन वहाँ मौजूद स्थानीय लोगों ने उन्हें डूबने से बचा लिया एवं बाकी अन्य लोगों को भी पानी से बाहर निकाला। हादसे के शिकार सभी लोगों को मामूली चोटें आईं, जिसके ईलाज के लिए सभी को पटना भेज दिया गया।

बाद में रामकृपाल यादव ने फेसबुक पर घटना का वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, “आज पाटलिपुत्र संसदीय क्षेत्र के बाढ़ ग्रस्त इलाकों का सुबह से ही भ्रमण कर रहा हूँ। लोगों के दुःख दर्द को करीब से महसूस कर रहा हूँ और मदद की समुचित व्यवस्था के लिए निर्देश भी दे रहा हूँ। कई क्षेत्रों में स्थिति सच में काफी विकट है। लोग परेशान हैं। जल्द ही उनकी परेशानी दूर होगी। इस क्रम में आज मैं खुद दुर्घटनाग्रस्त हो गया।”

पूर्व केंद्रीय मंत्री अपने फेसबुक पोस्ट में आगे लिखते हुए खुद बताया, “धनरुआ के रमणी बिगहा में एक जगह पानी की गहराई ज्यादा थी। कोई सही नौका की व्यवस्था नहीं हो पाई। स्थानीय लोगों ने किसी तरह कुछ व्यवस्था की। चचरी वाली नौका लाई गई, इसपर सवार हो गहरे पानी को पार कर ही रहा था कि नौका डूब गई। लोगों ने तत्परता से मुझे निकाला। हल्की चोट आई। आप जनता जनार्दन की दुआ से सुरक्षित हूँ।”

गौरतलब है कि पाटलिपुत्र के सांसद रामकृपाल यादव ने बाढ़ग्रस्त इलाकों का दौरा करने के बाद बाढ़ से धनरूआ और पुनपुन की स्थिति के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि ये इलाके जलमग्न हैं और यहाँ हाहाकार मचा हुआ है, किंतु इसकी चिंता न तो शासन को हैं और न ही प्रशासन को। रामकृपाल यादव ने कहा कि बाढ़ की विभिषिका से इलाके के लोगों की स्थिति नरक बन गई है, लेकिन प्रभावितों के बीच राहत तो दूर एक नाव की व्यवस्था नहीं हैं। उनकी मानें तो पूरा सरकारी तंत्र पटना के राजेंद्रनगर में लगा हुआ है।

सोशल मीडिया पर कुछ लोगों का या भी कहना है कि जुगाड़ के नाव में फोटो शूट कराते हुए संतुलन बिगड़ जाने के कारण यह हादसा हुआ।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सिख नरसंहार के बाद छोड़ दी थी कॉन्ग्रेस, ‘अकाली दल’ में भी रहे: भारत-पाक युद्ध की खबर सुन दोबारा सेना में गए थे ‘कैप्टेन’

11 मार्च, 2017 को जन्मदिन के दिन ही कैप्टेन अमरिंदर सिंह को पंजाब में बहुमत प्राप्त हुआ और राज्य में कॉन्ग्रेस के लिए सत्ता का सूखा ख़त्म हुआ।

अडानी समूह के हुए ‘The Quint’ के प्रेजिडेंट और एडिटोरियल डायरेक्टर, गौतम अडानी के भतीजे के अंतर्गत करेंगे काम

वामपंथी मीडिया पोर्टल 'The Quint' में बतौर प्रेजिडेंट और एडिटोरियल डायरेक्टर कार्यरत रहे संजय पुगलिया अब अडानी समूह का हिस्सा बन गए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,110FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe