Tuesday, September 28, 2021
Homeराजनीतिगुरुद्वारे में अब लंगर की सामग्री पर नहीं लगेगा GST, सरकार करेगी रिफंड

गुरुद्वारे में अब लंगर की सामग्री पर नहीं लगेगा GST, सरकार करेगी रिफंड

साल 2018 में एसजीपीसी ने दावा किया था कि लंगर के लिए खरीदी जाने वाली सामग्रियों पर जीएसटी के कारण स्वर्ण मंदिर पर काफ़ी भार पड़ा है जिसके बाद सरकार ने लंगर के लिए खरीदी जाने वाली सामग्री पर से जीएसटी माफ़ करने का फ़ैसला किया।

केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपना वादा पूरा करने के लिए धन्यवाद दिया है। उन्होंने गुरुवार (जून 13, 2019) को बताया कि केंद्र ने स्वर्ण मंदिर समेत विभिन्न गुरुद्वारों में लंगर तैयार करने के लिए खरीदी गई सामग्री पर वसूले गए जीएसटी के रिफंड के लिए 57 लाख रुपए जारी किए हैं।

अपने बयान में उन्होंने कहा कि केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय ने लुधियाना में जीएसटी अधिकारियों को गुरुद्वारे में लंगर के लिए खरीद सामग्री पर जीएसटी के लिए 57 लाख रुपए जारी किए हैं। केंद्र द्वारा जारी की गई यह राशि शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति को हस्तांतरित की जाएगी।

हरसिमरत कौर ने बताया, “जीएसटी की यह पहली किस्त है। रिफंड तिमाही आधार पर एसजीपीसी को जारी किया जाएगा। मैं इस मुद्दे का समाधान कर सिखों की भावना का सम्मान करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद देती हूँ।”

गौरतलब है साल 2018 में एसजीपीसी ने दावा किया था कि लंगर के लिए खरीदी जाने वाली सामग्रियों पर जीएसटी के कारण स्वर्ण मंदिर पर काफ़ी भार पड़ा है। चूँकि सिर्फ़ 1 जुलाई 2017 से 31 जनवरी 2018 के बीच में ही उन्हें 2 करोड़ रुपए चुकाने पड़े। जिसके बाद मोदी सरकार ने गुरुवार को लंगर के लिए खरीदी जाने वाली सामग्री पर से जीएसटी माफ़ करने का फ़ैसला किया था। इसे उन्होंने ‘सेवा भोज योजना’ का नाम दिया था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरि के मौत के दिन बंद थे कमरे के सामने लगे 15 CCTV कैमरे, सुबूत मिटाने की आशंका: रिपोर्ट्स

पूरा मठ सीसीटीवी की निगरानी में है। यहाँ 43 कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से 15 सीसीटीवी कैमरे पहली मंजिल पर महंत नरेंद्र गिरि के कमरे के सामने लगाए गए हैं।

अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता ने पेश की मिसाल

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,829FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe