Wednesday, July 28, 2021
Homeराजनीतिन अपना नेता, न वीडियो बदल रही कॉन्ग्रेस: 11 माह पुरानी झारखंड चुनाव वाली...

न अपना नेता, न वीडियो बदल रही कॉन्ग्रेस: 11 माह पुरानी झारखंड चुनाव वाली वीडियो से ही बिहार में भी हो रहा चुनाव प्रचार

'बेफिटिंग फैक्ट्स' नाम का अकॉउंट इस पर लिखता है, “कॉन्ग्रेस का आईटी सेल कॉन्ग्रेस पार्टी को बेवकूफ बनाने की कोशिश कर रहा है, बिलकुल वैसे ही जैसे गाँधी परिवार ने भारत को लूटा। ये लोग झारखंड की पुरानी वीडियो का इस्तेमाल बिहार चुनाव में कर रहे हैं।"

बिहार चुनावों में भी कॉन्ग्रेस की राजनीति फर्जीवाड़े पर ही टिकी हुई है। इसका खुलासा एक बार फिर पार्टी की धूर्तता से हुआ है। दरअसल पार्टी ने झारखंड चुनावों की वीडियो को बिहार चुनावों के लिए इस्तेमाल करके लोगों को बेवकूफ बनाने की कोशिश की मगर, इसका खुलासा होते ही उनका मजाक बनने लगा।

11 माह पहले झारखंड चुनावों में ‘आ रही है कॉन्ग्रेस’ कैप्शन के साथ अपने यूट्यूब पर वीडिया अपलोड करने वाली कॉन्ग्रेस पार्टी ने बिहार चुनावों में उसी वीडियो का प्रयोग ‘बोले बिहार बदले सरकार, जन जन को मिलेगा अधिकार’ लिख कर शेयर किया है।

जानकारी के लिए बता दें कि कॉन्ग्रेस ने एक दिन पहले अपने ट्विटर हैंडल पर बिहार चुनाव के मद्देनजर एक वीडियो शेयर की। इस वीडियो पर उन्होंने लिखा, “बिहार को लूट राज से मुक्ति दिलाकर नए बिहार का सपना साकार करेंगे। हर वर्ग की जिंदगी में भर कर खुशियाँ, हम बिहार के नए रूप को आकार देंगे।”

इसी वीडियो को रीट्वीट करते हुए ट्विटर यूजर अंकुर सिंह लिखते हैं, “कॉन्ग्रेस की स्थिति की बिहार में कल्पना कीजिए जो झारखंड की वीडियो इस्तेमाल करके बताना चाहते हैं कि लोग उनका बिहार  में समर्थन कर रहे हैं।” इस ट्वीट के साथ उन्होंने पुरानी वीडियोज और अब की वीडियोज के स्क्रीनशॉट भी तिथि सहित शेयर किए।

ऐसे ही एक ‘बेफिटिंग फैक्ट्स’ नाम का अकॉउंट इस पर लिखता है, “कॉन्ग्रेस का आईटी सेल कॉन्ग्रेस पार्टी को बेवकूफ बनाने की कोशिश कर रहा है, बिलकुल वैसे ही जैसे गाँधी परिवार ने भारत को लूटा। ये लोग झारखंड की पुरानी वीडियो का इस्तेमाल बिहार चुनाव में कर रहे हैं।”

कॉन्ग्रेस द्वारा शेयर की गई वीडियो में कई चलचित्र पुराने हैं। इसमें एक लड़का नजर आ रहा है उसके चेहरे का इस्तेमाल 10 महीने पहले कॉन्ग्रेस ने “भारत बचाओ रैली” के लिए किया था और अब उसी युवा चेहरे का इस्तेमाल अपने चुनाव प्रचार के गाने में किया है।

पार्टी की ऐसी स्थिति देख कर सोशल मीडिया पर कई लोग उनका मजाक उड़ा रहे हैं। लोगों का कहना है कि इनके पास पैसे नहीं बचे दोबारा शूट और लाइसेंस वाली फोटो के लिए, सब इटली और इस्तांबुल में जा रहे हैं। एक यूजर कहता है कि ये कौन सी बड़ी बात है, पार्टी तो साल 2008 से एक ही नेता रिपीट कर रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बकरीद की ढील का दिखने लगा असर? केरल में 1 दिन में कोरोना संक्रमण के 22129 केस, 156 मौतें भी

पूरे देश भर में रिपोर्ट हुए कोविड केसों में 53 % मामले अकेले केरल से आए हैं। भारत में कुल मामले जहाँ 42, 917 रिपोर्ट हुए। वहीं राज्य में 1 दिन में 22129 केस आए।

राजस्थान में उत्तराखंड के नितिन पंत का बंदूक के दम पर धर्मांतरण, बना दिया अली हसन: विरोध करने पर देते थे करंट, मदरसे में...

उत्तराखंड के रहने वाले नितिन पंत का राजस्थान में धर्मांतरण करा कर उसे 'अली हसन' बना दिया गया था। इसके लिए लालच और धमकी का सहारा लिया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,634FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe