Wednesday, August 4, 2021
Homeराजनीतिकॉन्ग्रेस की सोशल मीडिया टीम में पाकिस्तान के सदस्य हैं, BJP प्रवक्ता ने दिखाया...

कॉन्ग्रेस की सोशल मीडिया टीम में पाकिस्तान के सदस्य हैं, BJP प्रवक्ता ने दिखाया स्क्रीनशॉट

सुरेश नखुआ ने कॉन्ग्रेस से पूछा है कि कॉन्ग्रेस इस बात का जवाब दे कि जिस व्हाट्सएप ग्रुप में कॉन्ग्रेस के पदाधिकारी प्रशासक और सदस्य मौजूद हैं वहाँ पाकिस्तानी नागरिक क्या कर रहे हैं?

कॉन्ग्रेसी खेमे से एक चौंकाने वाली ख़बर का ख़ुलासा हुआ है। बीजेपी के प्रवक्ता सुरेश नखुआ ने दावा किया है कि कॉन्ग्रेस द्वारा चलाए जा रहे एक व्हाट्सएप ग्रुप में पाकिस्तान के कई सदस्य मौजूद हैं। इस बात की पुष्टि के लिए नखुआ ने अपने ट्विटर हैंडल से एक स्क्रीनशॉट शेयर किया।

व्हाट्सएप ग्रुप का नाम इंडिया पॉलिटिकल नेटवर्क है। भाजपा नेता द्वारा पोस्ट किए गए स्क्रीनशॉट को देखकर यह स्पष्ट है कि ग्रुप की एडमिन हसीबा अमीन हैं, जो कॉन्ग्रेस पार्टी के सोशल मीडिया विभाग की राष्ट्रीय संयोजक हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान कॉन्ग्रेस के विज्ञापनों में यह चेहरा नज़र आता था। बता दें कि अमीन को अगस्त 2017 में सोशल मीडिया सेल में राहुल गाँधी द्वारा नियुक्त किया गया था। कॉन्ग्रेस में शामिल होने से पहले, अमीन एक NSUI सदस्य थी।

जैसा कि स्क्रीनशॉट में दिखाया गया है, कई कॉन्ग्रेस नेता भी व्हाट्सएप ग्रुप में जुड़े हुए हैं। अगर ग़ौर करने पर आपको इस ग्रुप के जो सदस्य हैं उनके साथ देश की कोड 92 से शुरू होने वाले कई फोन नंबर दिख जाएँगे। टेलीफोन नेटवर्क के लिए भारत का देश कोड 91 है, जबकि कोड 92 पाकिस्तान का है।

इसका मतलब है, पाकिस्तान के कई यूज़र्स कॉन्ग्रेस पार्टी के इस व्हाट्सएप ग्रुप का हिस्सा हैं, जो विभिन्न सोशल मीडिया साइट्स पर पोस्ट करने वाले सदस्यों को निर्देश देता है।

ऐसे समय में जब पुलवामा आतंकी हमले के बाद देश में पाकिस्तान विरोधी भावनाएँ सबसे ज़्यादा हैं, सोशल मीडिया पर अपने प्रचार-प्रसार के लिए पाकिस्तानी नागरिकों का इस्तेमाल करने वाली कॉन्ग्रेस पार्टी इस आरोप से कैसे बचाव करेगी, ये देखने की बात है।

ऑपइंडिया ने व्हाट्सएप ग्रुप के स्क्रीनशॉट के बारे में सुरेश नखुआ से संपर्क किया। उन्होंने पुष्टि की कि स्क्रीनशॉट वास्तविक हैं और उन्होंने बताया कि उन्हें विश्वसनीय स्रोतों से ही यह स्क्रीनशॉट मिले हैं। जब उनसे पूछा गया कि क्या कॉन्ग्रेस स्क्रीनशॉट के नकली होने का दावा करती है, तो इस पर उन्होंने कहा कि अगर ऐसा होता है तो वह इस बात का सबूत दें कि ये स्क्रीनशॉट असली हैं या नकली? उन्होंने ज़ोर देकर कहा कि भले ही कॉन्ग्रेस पार्टी उन पर फ़ेक इमेज का दावा कर मुक़दमा दायर करे, लेकिन वो इस बात को जानने में पीछे नहीं हटेंगे कि आख़िर सच क्या है और अपने पास मौजूद सभी सबूतों के साथ हर स्थिति का डटकर मुक़ाबला करेंगे।

सुरेश नखुआ ने कॉन्ग्रेस से पूछा है कि कॉन्ग्रेस इस बात का जवाब दे कि जिस व्हाट्सएप ग्रुप में कॉन्ग्रेस के पदाधिकारी प्रशासक और सदस्य मौजूद हैं वहाँ पाकिस्तानी नागरिक क्या कर रहे हैं?

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘धर्म में मेरा भरोसा, कर्म के अनुसार चाहता हूँ परिणाम’: कोरोना से लेकर जनसंख्या नियंत्रण तक, सब पर बोले CM योगी

सपा-बसपा को समाजिक सौहार्द्र के बारे में बात करने का कोई अधिकार नहीं है क्योंकि उनका इतिहास ही सामाजिक द्वेष फैलाने का रहा है।

ईसाई बने तो नहीं ले सकते SC वर्ग के लिए चलाई जा रही केंद्र की योजनाओं का फायदा: संसद में मोदी सरकार

रिपोर्ट्स बताती हैं कि आंध्र प्रदेश में ईसाई धर्म में कन्वर्ट होने वाले 80 प्रतिशत लोग SC वर्ग से आते हैं, जो सभी तरह की योजनाओं का लाभ उठाते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,945FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe