Wednesday, August 4, 2021
Homeराजनीतिकठमुल्लों के फतवों से नहीं बल्कि संविधान से चलेगा देश: CM योगी ने बिहार...

कठमुल्लों के फतवों से नहीं बल्कि संविधान से चलेगा देश: CM योगी ने बिहार में भरी हुँकार

‘‘कॉन्ग्रेस के लोग चाहते ही नहीं थे नारी गरिमा की रक्षा हो और इसीलिए ये हमेशा किसी कठमुल्ले के कहने पर तीन तलाक की प्रथा को समर्थन करते थे। फतवा जारी होता था, कॉन्ग्रेस और राजद के लोग नाक रगड़कर उनके पास जाते थे और कहते थे ये जो फतवा जारी हुआ है इसी के अनुसार देश चलेगा।"

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बिहार विधानसभा चुनावी रैलियों के मंच पर कट्टरपंथियों और धर्म के नाम पर महिलाओं और बच्चों का शोषण करने वालों के विरोध में हुंकार भरा है। CM योगी ने मंच से खुलकर कहा- “देश कठमुल्लों के फतवों से नहीं बल्कि संविधान से चलेगा।”

बिहार राज्य के वैशाली में विपक्षियों के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए योगी ने कहा, ‘‘कॉन्ग्रेस के लोग चाहते ही नहीं थे नारी गरिमा की रक्षा हो और इसीलिए ये हमेशा किसी कठमुल्ले के कहने पर तीन तलाक की प्रथा को समर्थन करते थे। फतवा जारी होता था, कॉन्ग्रेस और राजद के लोग नाक रगड़कर उनके पास जाते थे और कहते थे ये जो फतवा जारी हुआ है इसी के अनुसार देश चलेगा।”

भीड़ से भी योगी ने पूछा, “आप बताइए ये देश फतवों से चलेगा या संविधान से?” उन्होंने आगे कहा, “देश संविधान से संचालित होता है। लेकिन तीन तलाक की कुप्रथा को समाप्त करने का काम किसने किया मोदी जी ने।”

बिहार चुनाव के मद्देनजर सिवान, वैशाली और मधुबनी के विधानसभा क्षेत्रों में प्रचार करने पहुँचे योगी आदित्यनाथ ने विरोधियों को लताड़ते हुए कहा, “कॉन्ग्रेस और राजद फिर से जंगलराज स्थापित करना चाहते हैं।” बिहार की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि बिहार अपने युवाओं की ऊर्जा और नौजवानों की प्रतिभा के लिए जाना जाता है।

कट्टरपंथियों के खिलाफ सीधा हमला करते हुए CM योगी ने यह साफ कर दिया कि उत्तर प्रदेश हो या फिर बिहार भाजपा अपने मूल एजेंडे पर अभी भी कायम है फिर चाहे वो कश्मीर में 370 का मामला हो या फिर यूपी और बिहार में कट्टरपंथी ताकतों और उनके मंसूबों को खत्म करना हो। साथ ही उन्होंने अब देश की धरती से नक्सलवाद को भी उखाड़ फेंकने की बात कही है।

वहीं राममंदिर को लेकर योगी ने कहा कि हम हमेशा कहते थे- “रामलला हम आएँगे, मंदिर वहीं बनाएँगे” राम मंदिर की राह में बाधा यही कॉन्ग्रेस, राजद, और भाकपा माले थे लेकिन हमने वादा किया था कि भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर भी बनवाएँगे। 5 अगस्त को ये भी काम हो गया, बिहार में एनडीए की सरकार बनाएँगे तो हम भगवान राम के दर्शन भी करवाएँगे।”

गौरतलब है कि न्यायालय द्वारा जारी किया गया आदेश कि केवल विवाह के लिए धर्म परिवर्तन स्वीकार्य नहीं होगा, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी ने भी इस आदेश पर टिप्पणी करते हुए कहा कि, सरकार भी ‘लव जिहाद’ के मामलों पर रोक लगाने के लिए क़ानून लेकर आएगी। उन्होंने कहा, “ऐसे लोगों के लिए चेतावनी है, जो अपनी पहचान छिपा कर हमारी बहनों के सम्मान के साथ खिलवाड़ करने का प्रयास करते हैं।”

जौनपुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए योगी ने कहा, “हम लव जिहाद के मामलों को रोकने के लिए एक प्रभावशाली क़ानून बनाएँगे। छद्म वेश में, चोरी-छिपे नाम बदल कर जो लोग बहन-बेटियों की इज्जत के साथ खिलवाड़ करते हैं, उनके लिए पहले से मेरी चेतावनी है। अगर वह सुधरे नहीं तो ‘राम नाम सत्य है’ की यात्रा अब निकलने वाली है।”

“हम लोग मिशन शक्ति के कार्यक्रम को इसलिए आगे बढ़ा रहे हैं। मिशन शक्ति के कार्यक्रम का मतलब है कि हम हर बेटी को, हर बहन को सुरक्षा की गारंटी देंगे। इन सारी बातों के बावजूद अगर किसी ने दुस्साहस किया तो उनके लिए ऑपरेशन शक्ति अब तैयार है। इसका उद्देश्य यही है कि हम हर हाल में लड़कियों की सुरक्षा करेंगे और उनके सम्मान की सुरक्षा करेंगे। इसके अलावा न्यायालय के आदेश का भी पालन होगा और बहन-बेटियों का सम्मान सुनिश्चित होगा।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

5 करोड़ कोविड टीके लगाने वाला पहला राज्य बना उत्तर प्रदेश, 1 दिन में लगे 25 लाख डोज: CM योगी ने लोगों को दी...

उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य बन गया है, जिसने पाँच करोड़ कोरोना वैक्सीनेशन का आँकड़ा पार कर लिया है। सीएम योगी ने बधाई दी।

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द सीएम हैप्पी एंड गे: केजरीवाल सरकार का घोषणा प्रधान राजनीतिक दर्शन

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द CM हैप्पी एंड गे, एक अंग्रेजी कहावत की इस पैरोडी में केजरीवाल के राजनीतिक दर्शन को एक वाक्य में समेट देने की क्षमता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,863FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe