Saturday, July 31, 2021
Homeराजनीतिमुर्शिदाबाद हत्याकांड: BJP ने गृहमंत्री-राष्ट्रपति से माँगा बंगाल पर चर्चा के लिए समय

मुर्शिदाबाद हत्याकांड: BJP ने गृहमंत्री-राष्ट्रपति से माँगा बंगाल पर चर्चा के लिए समय

वार्ता का केंद्रबिंदु हालिया बन्धु प्रकाश पाल की परिवार समेत हत्या के रहने की उम्मीद की जा सकती है, लेकिन भाजपा ने गृहमंत्री अमित शाह और राष्ट्रपति कोविंद को सौंपने के लिए अन्य दस्तावेज़ भी तैयार किए हैं।

मुर्शिदाबाद हत्याकांड में राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और गृह मंत्री अमित शाह से भारतीय जनता पार्टी ने मिलने का समय माँगा है, ताकि बंगाल की कानून-व्यवस्था के बारे में उन्हें अवगत कराया जा सके। यह जानकारी पार्टी के राज्य प्रभारी और महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने दी। “हमने केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह जी और राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद जी से समय माँगा है, ताकि उन्हें बंगाल में बिगड़ती कानून-व्यवस्था के बारे में उन्हें सूचित किया जा सके। लोगों की दिनदहाड़े हत्या हो रही है।” उल्लेखनीय है कि अमित शाह भाजपा के ही राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं।

80 कार्यकर्ताओं की हत्या का ब्यौरा सौंपेगी भाजपा

हालाँकि, वार्ता का केंद्रबिंदु हालिया बन्धु प्रकाश पाल की परिवार समेत हत्या के रहने की उम्मीद की जा सकती है, लेकिन भाजपा ने गृहमंत्री अमित शाह और राष्ट्रपति कोविंद को सौंपने के लिए अन्य दस्तावेज़ भी तैयार किए हैं। इनमें पिछले सालों में बंगाल में मारे गए उन भाजपा कार्यकर्ताओं की भी सूची है, जिनके लिए पितृ पक्ष में भाजपा के ही कार्यकारी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने पिंड दान किया था। उस कार्यक्रम के बारे में बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा था कि अमित शाह को इसकी जानकारी है और वे इसमें शिरकत करने का प्रयास करेंगे

अब तक चार हिरासत में

मुर्शिदाबाद हत्याकांड में पुलिस ने दो और लोगों को शक के आधार पर हिरासत में ले लिया है, जिससे हिरासत में आए लोगों की संख्या कुल 4 हो गई है। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने भी पुलिस और राज्य मशीनरी की ओर से अपेक्षित गंभीरता का प्रदर्शन नहीं किए जाने पर नाराज़गी जताई थी। एक मामूली स्कूल शिक्षक बन्धु गोपाल पाल, उनकी गर्भवती पत्नी और 8 साल के बेटे की धारदार हथियार से हत्या के मामले को हृदयविदारक बताते हुए राज्यपाल ने DGP और राज्य के मुख्य सचिव से उन्हें यथाशीघ्र मामले पर अपडेट देने के लिए कहा था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ये नंगे, इनके हाथ अपराध में सने, फिर भी शर्म इन्हें आती नहीं… क्योंकि ये है बॉलीवुड

राज कुंद्रा या गहना वशिष्ठ तो बस नाम हैं। यहाँ किसिम किसिम के अपराध हैं। हिंदूफोबिया है। खुद के गुनाहों पर अजीब चुप्पी है।

‘द प्रिंट’ ने डाला वामपंथी सरकार की नाकामी पर पर्दा: यूपी-बिहार की तुलना में केरल-महाराष्ट्र को साबित किया कोविड प्रबंधन का ‘सुपर हीरो’

जॉन का दावा है कि केरल और महाराष्ट्र पर इसलिए सवाल उठाए जाते हैं, क्योंकि वे कोविड-19 मामलों का बेहतर तरीके से पता लगा रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,277FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe