Sunday, August 1, 2021
HomeराजनीतिNETFLIX दुनिया भर में हिन्दुओं को बदनाम कर रहा है, शिवसेना ने दर्ज कराई...

NETFLIX दुनिया भर में हिन्दुओं को बदनाम कर रहा है, शिवसेना ने दर्ज कराई शिकायत

अपनी शिकायत में सोलंकी ने जिन शोज के नाम गिनाए हैं, वे हैं- सैफ अली ख़ान और नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी अभिनीत 'सेक्रेड गेम्स', हुमा कुरैशी की 'लैला', राधिका आप्टे की 'Ghoul' और स्टैंड-अप कॉमेडियन हसन मिन्हाज की 'पेट्रियट एक्ट'।

शिवसेना नेता ने नेटफ्लिक्स के ख़िलाफ़ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। पार्टी का कहना है कि नेटफ्लिक्स कई शो के माध्यम से लगातार हिन्दू भावनाओं को आहत करने का काम कर रहा है। शिवसेना नेता ने अमेरिकी कम्पनी पर आरोप लगाया कि नेटफ्लिक्स के माध्यम से दुनियाभर में भारत की नकारात्मक छवि बनाई जा रही है। शिवसेना नेता रमेश सोलंकी ने अपनी शिकायत में ये बातें कही।

अपनी शिकायत में सोलंकी ने जिन शोज के नाम गिनाए हैं, वे हैं- सैफ अली ख़ान और नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी अभिनीत ‘सेक्रेड गेम्स’, हुमा कुरैशी की ‘लैला’, राधिका आप्टे की ‘Ghoul’ और स्टैंड-अप कॉमेडियन हसन मिन्हाज की ‘पेट्रियट एक्ट’। सोलंकी ने कहा कि नेटफ्लिक्स पर प्रसारित होने वाले लगभग सभी सीरीज में भारत को बदनाम करने की कोशिश की जाती है।

सोलंकी ने कहा कि प्लेटफॉर्म हिन्दूफोबिया से पीड़ित है। उन्होंने अधिकारियों से माँग की कि नेटफ्लिक्स के प्रतिनिधियों को बुला कर उनसे स्पष्टीकरण माँगा जाए और हिन्दुओं की भावनाएँ आहत करने वाले सारे कंटेंट्स को प्लेटफॉर्म से हटाए जाएँ। साथ ही उन्होंने नेटफ्लिक्स का लाइसेंस कैंसल करने की भी माँग की। उन्होंने कहा कि भारत के अलावा अधिकतर देशों में हिन्दू अल्पसंख्यक हैं और उन्हें बदनाम करने की इजाजत नेटफ्लिक्स को नहीं दी जा सकती।

शिकायत की एक कॉपी महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और मुंबई के पुलिस कमिश्नर के पास भी भेजी गई है। लैला के लेखक पैट्रिक ग्राहम ने शिवसेना के आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि शो में दिखाई जाने वाली सभी चीजें पूरी तरह काल्पनिक हैं और किसी की भी भावनाएँ आहत नहीं की गई हैं। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में कंटेंट्स को बैन नहीं किया जाना चाहिए। साथ ही उन्होंने कहा कि अगर किसी को शो अच्छा नहीं लगा तो वह कुछ लिख कर आलोचना कर सकता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

रसगुल्ला के कारण राजदीप ने बंगाल हिंसा पर नहीं पूछा सवाल: TheLallantop के शो में कबूली बात, देखें वीडियो-समझें पत्रकारिता

राजदीप सरदेसाई ने कहा कि उन्होंने CM ममता बनर्जी से बंगाल हिंसा पर इसीलिए सवाल नहीं पूछे, क्योंकि ऐसा करने पर उन्हें रसगुल्ला नहीं मिलता।

जम्मू-कश्मीर में अब पत्थरबाजाें, देशद्रोहियों को नहीं मिलेगी सरकारी नौकरी और पासपोर्ट: सरकार का आदेश, सर्कुलर जारी

पत्थरबाजों और देश विरोधी गतिविधियों में शामिल रहने वाले लोगों को ना तो सरकारी नौकरी दी जाएगी और न ही उनके पासपोर्ट का वेरिफिकेशन किया जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,434FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe