मशहूर बांग्ला अभिनेत्री को बताया कॉल गर्ल, चिपकाए पोस्टर: लिखा – फोन करो और कमाओ ₹2000

बृष्टि रॉय के पोस्टर सिर्फ़ सियालदह-लक्ष्मीकांतपुर में नहीं बल्कि टॉलीगंज, जादवपुर और सोनारपुर के विभिन्‍न स्‍थानों के दीवारों पर भी लगे हुए हैं। पश्चिम बंगाल पुलिस इस मामले में अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं कर पाई है और...

‘तुमै अमै मिले’, ‘सुबर्णलता’ और ‘भूमिकन्या’ जैसे बांग्ला टीवी सीरियल्स में काम करके अपनी पहचान बनाने वाली बृष्टि रॉय इन दिनों काफ़ी परेशान चल रही हैं। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो पिछले कुछ दिनों से उन्हें बंगाल के अलग-अलग इलाकों से पुरुषों की कॉल आ रही हैं जो उनसे फोन पर भद्दी बातें करते हैं और ज्यादातर एस्कॉर्ट सर्विस के बारे में पूछते हैं।

बृष्टि के मुताबिक सबसे पहले उन्हें 24 अगस्त को शाम 4:30 बजे कॉल आया था। शुरू में उन्हें लगा कि कोई स्पैम कॉल होगा,लेकिन कुछ देर बाद उनके फोन पर लगातार कॉल आने लगे। उन्होंने परेशान होकर इन फोन नंबर्स को ब्लैक लिस्ट में डालना शुरू कर दिया। लेकिन तब भी सिलसिला रुका नहीं।

उनके मुताबिक इस घटना के बाद उनके एक दोस्त ने बताया कि उसने बृष्टि के पोस्टर सियालदाह-लक्ष्मीकांतपुर लोकल में देखें, जिसे देखकर वो हैरान रह गया।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इन पोस्टर्स पर बृष्टि का नाम, उनका फोन नंबर लिखा था और साथ ही ये भी लिखा था कि अकेले लोग रात को इस नंबर पर बात करें। फोन करने वाला 2000 तक कमा सकता है।

पोस्टर्स की जानकारी मिलते ही बृष्टि ने थाने में मामला दर्ज करवाया और बताया कि उन्हें रोज लगभग 250-300 ऐसे ही कॉल आ रहे हैं। जो उनसे घिनौनी बातें करते हैं।

जानकारी के मुताबिक उनके यह पोस्टर सिर्फ़ सियालदह-लक्ष्मीकांतपुर में नहीं बल्कि टॉलीगंज, जादवपुर और सोनारपुर के विभिन्‍न स्‍थानों के दीवारों पर भी लगे हुए हैं। जिनके आधार पर मामले को थाने में दर्ज कर लिया गया है। लेकिन, फिलहाल इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है, पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है। कहा जा रहा है कि इसके पीछे किसी रैकेट का हाथ हो सकता है। जिसका उद्देश्य बृष्टि को बदनाम करना है।

मीडिया से बातचीत में बृष्टि ने इस मामले पर बताया है, “मैंने फोन नंबर चेंज करने के बारे में सोचा, लेकिन अभी नहीं कर सकती क्योंकि पुलिस जाँच जारी है। उन्हें यह नंबर चाहिए क्योंकि यह पोस्टर पर छपा हुआ है। मेरे सारे जरूरी नंबर इसी में हैं और मैं रातोंरात इसे नहीं बदल सकती। मैं हालात से जूझ रही हूँ। मैं जानती हूँ कि मैं निर्दोष हूँ। और यह किसी की मुझे तंग करने की शरारत है। लेकिन मैं आसानी से हार नहीं मानने वाली। मुझे भरोसा है कि दोषियों को जल्द ही पकड़ लिया जाएगा।”

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

गोटाभाया राजपक्षे
श्रीलंका में मुस्लिम संगठनों के आरोपों के बीच बौद्ध राष्ट्र्वादी गोटाभाया की जीत अहम है। इससे पता चलता है कि द्वीपीय देश अभी ईस्टर बम ब्लास्ट को भूला नहीं है और राइट विंग की तरफ़ उनका झुकाव पहले से काफ़ी ज्यादा बढ़ा है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

114,382फैंसलाइक करें
22,948फॉलोवर्सफॉलो करें
120,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: