Wednesday, August 4, 2021
Homeराजनीतिलोकसभा चुनाव 2019 : बिहार में NDA ने सीटों के बँटवारे का किया ऐलान

लोकसभा चुनाव 2019 : बिहार में NDA ने सीटों के बँटवारे का किया ऐलान

कीर्ति आज़ाद के पार्टी छोड़ने के बाद भी पटना सीट को बीजेपी ने अपने पाले में रखा हुआ है। वहीं शत्रुघ्न सिन्हा के चुनाव लड़ने पर भी संशय बना हुआ है। ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि बीजेपी इस सीट पर अपना कोई नया उम्मीदवार उतारेगी।

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए NDA ने बिहार के लिए 40 सीटों के बँटवारे की घोषणा कर दी है। सीटों के इस बँटवारे से यह साफ़ हो गया है कि बीजेपी, जेडीयू और एलजेपी किन सीटों से चुनाव लड़ने की तैयारी में है। बता दें कि लोक जन शक्ति पार्टी नवादा के संसदीय क्षेत्र से ही चुनाव लड़ेगी।

आइये सीटों के बँटवारे पर एक नज़र डालते हैं, जो इस प्रकार हैं :

भारतीय जनता पार्टी

  • पटना साहिब
  • पाटलीपुत्र
  • सारण
  • आरा
  • बक्सर
  • औरंगाबाद
  • मधुबनी
  • बेगुसराय
  • उजियारपुर
  • पूर्वी चंपारण
  • शिवहर
  • दरभंगा
  • पश्चिम चंपारण
  • मुजफ्फरपुर
  • अररिया
  • महाराजगंज
  • सासाराम

जनता दल यूनाइटेड

  • सुपौल
  • किशनगंज
  • कटिहार
  • गोपालगंज
  • सीवान
  • भागलपुर
  • सीतामढ़ी
  • जहानाबाद
  • काराकाट
  • गया
  • पूर्णिया
  • मधेपुरा
  • बाल्मिकीनगर
  • मुंगेर
  • बांका
  • झांझरपुर
  • नालंदा

लोकजन शक्ति पार्टी

  • वैशाली
  • हाजीपुर
  • समस्तीपुर
  • खगड़िया
  • नवादा
  • जमुई

पिछले काफी समय से यह उम्मीद लगाई जा रही थी कि नवादा सीट एलजेपी के खाते में ही जा सकती है। सीटों के इस बँटवारे से अब यह बात स्पष्ट हो गई है। वहीं भागलपुर की सीट जेडीयू के हिस्से आई है और इसी के साथ शाहनवाज़ हुसैन के चुनाव लड़ने की स्थिति पर सवालिया निशान अभी भी बरक़रार है। इससे पहले 2014 के चुनाव में शाहनवाज़ हुसैन को इसी सीट पर हार का सामना करना पड़ा था।

कीर्ति आज़ाद के पार्टी छोड़ने के बाद भी पटना सीट को बीजेपी ने अपने पाले में रखा हुआ है। वहीं शत्रुघ्न सिन्हा के चुनाव लड़ने पर भी संशय बना हुआ है। ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि बीजेपी इस सीट पर अपना कोई नया उम्मीदवार उतारेगी। इसके अलावा बीजेपी ने पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि बिहार कोटे से पाँचो केंद्रीय मंत्री चुनाव लड़ेंगे।

जानकारी के अनुसार, बिहार में बीजेपी और जेडीयू 17-17 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे और एलजेपी के हिस्से में 6 सीटें आई हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में NDA ने बिहार की 31 सीटों पर जीत दर्ज की थी। लेकिन उस समय जेडीयू का एनडीए से किसी प्रकार का गठबंधन नहीं था। अबकी लोकसभा चुनाव-2019 में बीजेपी ने जेडीयू के साथ सीटों के बँटवारे पर सहमति बनाने के लिए अपनी जीती हुई 5 सीटें छोड दी हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राहुल गाँधी ने POCSO एक्ट का किया उल्लंघन, NCPCR ने ट्वीट हटाने के दिए निर्देश: दिल्ली की पीड़िता के माता-पिता की फोटो शेयर की...

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने राहुल गाँधी के ट्वीट पर संज्ञान लिया है और ट्विटर से इसके खिलाफ कार्रवाई करने की माँग की है।

‘धर्म में मेरा भरोसा, कर्म के अनुसार चाहता हूँ परिणाम’: कोरोना से लेकर जनसंख्या नियंत्रण तक, सब पर बोले CM योगी

सपा-बसपा को समाजिक सौहार्द्र के बारे में बात करने का कोई अधिकार नहीं है क्योंकि उनका इतिहास ही सामाजिक द्वेष फैलाने का रहा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,945FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe