Tuesday, March 2, 2021
Home राजनीति मुस्लिम बहुल मालवणी में मुंबई पुलिस ने फाड़ दिए थे भगवान राम के पोस्टर,...

मुस्लिम बहुल मालवणी में मुंबई पुलिस ने फाड़ दिए थे भगवान राम के पोस्टर, कार्रवाई को लेकर बीजेपी का प्रदर्शन

"भारत में कोई संवेदनशील क्षेत्र नहीं है। यहाँ तक ​​कि कश्मीर भी अब संवेदनशील क्षेत्र नहीं रह गया है, वह भी भारत का अभिन्न अंग बन गया है। यदि मालवणी एक संवेदनशील क्षेत्र है, तो यह पुलिस की विफलता है।"

मुंबई के मुस्लिम बहुल इलाके मालवणी में भगवान राम के पोस्टर फाड़ने को लेकर बीजेपी ने प्रदर्शन किया। राम मंदिर समर्पण निधि अभियान से जुड़े पोस्टर फाड़ने का आरोप मुंबई पुलिस पर है। शनिवार (24 जनवरी, 2021) को मलाड के मालवणी पुलिस स्टेशन के पास विरोध-प्रदर्शन करने वाले नेता दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की मॉंग कर रहे थे।

बता दें कि 15 जनवरी को एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें पोस्टर फाड़ते मुम्बई पुलिस को देखा गया था। मामले के तूल पकड़ने पर सफाई देते हुए पुलिस ने कहा था कि ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि ‘मालवणी एक संवेदनशील क्षेत्र है’।

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद कुछ लोग मालवणी पुलिस स्टेशन के पास इकट्ठा होकर विरोध दर्ज करने पहुँचे और ‘जय श्री राम’ के नारे लगा कर मामले में सख्त कार्रवाई की माँग की थी। लेकिन पुलिस ने उन्हीं के खिलाफ दंगे भड़काने का मामला दर्ज कर दिया।

मुंबई पुलिस के रवैए को देखते हुए भाजपा की स्थानीय इकाई ने इसके खिलाफ आवाज उठाई। कार्यकर्ताओं ने कहा कि पोस्टर हटाने का काम बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) का है। पुलिस ने जान-बूझकर कर गैरकानूनी तरीके से राम मंदिर के दान के लिए लगे पोस्टर को फाड़ने का काम किया।

उत्तरी मुंबई के भाजपा सांसद गोपाल शेट्टी और विपक्ष के नेता प्रवीण दारेकर ने शनिवार को मालवणी पुलिस स्टेशन के पास विरोध-प्रदर्शन करते हुए पोस्टर हटाने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की माँग की।

इसके अलावा भाजपा नेताओं ने मालवणी के मुस्लिम बहुल इलाके में हिन्दुओं को डरा धमका कर घर छोड़ने और बेचने के लिए मजबूर करने और इलाके में चल रहे ड्रग्स के धंधे का भी मुद्दा उठाया। उन्होंने माँग की कि क्षेत्र में कानून और व्यवस्था की बदतर स्थिति को देखते हुए यहाँ दो पुलिस स्टेशनों की आवश्यकता है।

शेट्टी ने कहा, “भारत में कोई संवेदनशील क्षेत्र नहीं है। यहाँ तक ​​कि कश्मीर भी अब संवेदनशील क्षेत्र नहीं रह गया है, वह भी भारत का अभिन्न अंग बन गया है। यदि मालवणी एक संवेदनशील क्षेत्र है, तो यह पुलिस की विफलता है।”

उन्होंने आगे कहा, “हमें आश्वासन दिया गया है कि पोस्टर हटाने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ जाँच शुरू की जाएगी। मैं यह सुनिश्चित करूँगा, कि उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए। अगर कोई पोस्टर गैरकानूनी है, तो उसे हटाना बीएमसी का काम है, पुलिस का नहीं।”

गौरतलब है कि इस मामले में सबसे पहले विहिप कार्यकर्ताओं ने आवाज उठाई थी। विहिप नेता ने उक्त घटना के बारे में नाम न जाहिर करने की शर्त पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि 15 जनवरी, 2021 को डोनेशन ड्राइव के बाद VHP नेता व कार्यकर्ता घर लौट रहे थे। उसी दौरान हमारे कार्यकर्ताओं ने देखा कि मुंबई पुलिस राम मंदिर निधि संकलन के पोस्टर्स को फाड़ रही है। इन पोस्टरों को एक-एक कर हटाया भी जा रहा था।

कुछ विहिप नेताओं ने अपने मोबाइल फोन पर इस घटना को रिकॉर्ड भी कर लिया था। जब मुंबई पुलिस ने अपनी हरकतों को मोबाइल फोन के कैमरे में कैद होते हुए देखा तो उनमें से एक अधिकारी ने एक विहिप नेता की पिटाई शुरू कर दी थी।

जब मुंबई पुलिस से इस घटना को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कथित रूप से कहा था कि राम मंदिर के ये पोस्टर्स विवादित थे और इससे स्थानीय लोगों की भावनाएँ भड़क रही थीं। साथ ही ये भी बताया कि उन्हें ‘ऊपर से आदेश’ मिला है कि राम मंदिर समर्पण निधि के पोस्टर्स को हटाया जाए।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वरवरा राव को बेल की करें समीक्षा, जज शिंदे की भी हो जाँच: कम्युनिस्ट आतंक के मारे दलित-आदिवासियों की गुहार

नक्सल प्रभावित क्षेत्र के दलितों और आदिवासियों ने पत्र लिखकर वरवरा राव को जमानत देने पर सवाल उठाए हैं।

फुरफुरा शरीफ के लिए ममता बनर्जी ने खोला खजाना, चुनावी गणित बिगाड़ सकते हैं ‘भाईजान’

पश्चिम बंगाल में आदर्श अचार संहित लागू होने से कुछ ही घंटों पहले ममता बनर्जी की सरकार ने फुरफुरा शरीफ के विकास के लिए करोड़ों रुपए आवंटित किए।

‘हिंदू होना और जय श्रीराम कहना अपराध नहीं’: ऑक्सफोर्ड स्टूडेंट यूनियन की अध्यक्ष रश्मि सामंत का इस्तीफा

हिंदू पहचान को लेकर निशाना बनाए जाने के कारण रश्मि सामंत ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी स्टूडेंट यूनियन की अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है।

बंगाल ‘लैंड जिहाद’: मटियाब्रुज में शेख मुमताज और उसके गुंडों का उत्पात, दलित परिवारों पर टूटा कहर

हिंदू परिवारों को पीटा गया। महिला, बुजुर्ग, बच्चे किसी के साथ कोई रहम नहीं। पीड़ित अस्पताल से भी लौट आए कि कहीं उनके घर पर कब्जा न हो जाए।

रुपए भर की सिगरेट के लिए जब नेहरू ने फूँकवा दिए थे हजारों: किस्सा भोपाल-इंदौर और हवाई जहाज का

अनगिनत तस्वीरों में नेहरू धूम्रपान करते हुए दिखाई देते हैं। धूम्रपान को स्टेटस सिंबल या 'कूल' दिखने का एक तरीका माना जा सकता है लेकिन...

गोधरा में जलाए गए हिंदू स्वरा भास्कर को याद नहीं, अंसारी की तस्वीर पोस्ट कर लिखा- कभी नहीं भूलना

स्वरा भास्कर ने अंसारी की तस्वीर शेयर करते हुए इस बात को छिपा लिया कि यह आक्रोश गोधरा में कार सेवकों को जिंदा जलाए जाने से भड़का था।

प्रचलित ख़बरें

‘अल्लाह से मिलूँगी’: आयशा ने हँसते हुए की आत्महत्या, वीडियो में कहा- ‘प्यार करती हूँ आरिफ से, परेशान थोड़े न करूँगी’

पिता का आरोप है कि पैसे देने के बावजूद लालची आरिफ बीवी को मायके छोड़ गया था। उन्होंने बताया कि आयशा ने ख़ुदकुशी की धमकी दी तो आरिफ ने 'मरना है तो जाकर मर जा' भी कहा था।

गोधरा में जलाए गए हिंदू स्वरा भास्कर को याद नहीं, अंसारी की तस्वीर पोस्ट कर लिखा- कभी नहीं भूलना

स्वरा भास्कर ने अंसारी की तस्वीर शेयर करते हुए इस बात को छिपा लिया कि यह आक्रोश गोधरा में कार सेवकों को जिंदा जलाए जाने से भड़का था।

पत्थर चलाए, आग लगाई… नेताओं ने भी उगला जहर… राम मंदिर के लिए लक्ष्य से 1000+ करोड़ रुपए ज्यादा मिला समर्पण

44 दिन तक चलने वाले राम मंदिर निधि समर्पण अभियान से कुल 1100 करोड़ रुपए आने की उम्मीद की गई थी, आ गए 2100 करोड़ रुपए से भी ज्यादा।

कोर्ट के कुरान बाँटने के आदेश को ठुकराने वाली ऋचा भारती के पिता की गोली मार कर हत्या, शव को कुएँ में फेंका

शिकायत के अनुसार, वो अपने खेत के पास ही थे कि तभी आठ बदमाशों ने कन्धों पर रायफल रखकर उन्हें घेर लिया और फायरिंग करने लगे।

असम-पुडुचेरी में BJP की सरकार, बंगाल में 5% वोट से बिगड़ रही बात: ABP-C Voter का ओपिनियन पोल

एबीपी न्यूज और सी-वोटर ओपिनियन पोल के सर्वे की मानें तो पश्चिम बंगाल में तीसरी बार ममता बनर्जी की सरकार बनती दिख रही है।

आस मोहम्मद पर 50+ महिलाओं से रेप का आरोप, एक के पति ने तलवार से काट डाला: ‘आज तक’ ने ‘तांत्रिक’ बताया

गाजियाबाद के मुरादनगर थाना क्षेत्र स्थित गाँव जलालपुर में एक फ़क़ीर की हत्या के मामले में पुलिस ने नया खुलासा किया है।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,201FansLike
81,856FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe