होटल में नाबालिग छात्रा से गैंगरेप और वीडियो रिकॉर्डिंग: आरोपित अफ़रोज़ गिरफ़्तार, एहतेशाम फ़रार

पीड़िता 11वीं कक्षा की छात्रा है। अफ़रोज़ इसी इलाक़े में परिवार के साथ रह रही पीड़िता का पड़ोसी है। पीड़िता को अफ़रोज़ ने बहाने से पहाड़गंज स्थित एक होटल में बुलाया। जब वो वहाँ पहुँची, तो अफ़रोज़ का दोस्त एहतेशाम वहाँ पहले से ही मौजूद था और...

दिल्ली के पहाड़गंज से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहाँ विशेष समुदाय के लोगों द्वारा एक नाबालिग छात्रा के साथ रेप किया गया। आरोपितों ने 17 वर्षीय छात्रा को एक होटल में ले जाकर उसके साथ गैंगरेप किया। छात्रा की शिकायत पर पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए पोक्सो (Protection of Children from Sexual Offences) एक्ट और सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज कर लिया है। बता दें कि पोक्सो एक्ट 2012 के मई महीने में संसद से पास किया गया था। पुलिस ने एक आरोपित अफ़रोज़ को गिरफ़्तार कर लिया है जबकि दूसरे आरोपित एहतेशाम की तलाश जारी है।

पुलिस के अनुसार, पीड़िता 11वीं कक्षा की छात्रा है, जो हरिनगर के सरकारी स्कूल में पढ़ती है। अफ़रोज़ इसी इलाक़े में परिवार के साथ रह रही पीड़िता का पड़ोसी है। छात्रा के अनुसार, गत वर्ष सितम्बर में अफ़रोज़ उसे बहाने से पहाड़गंज स्थित एक होटल में ले गया। होटल का नाम किंग कैस्टल बताया जा रहा है। जब वो वहाँ पहुँची, तो अफ़रोज़ का दोस्त एहतेशाम वहाँ पहले से ही मौजूद था। दोनों ने नाबालिग को पहले तो जान से मारने की धमकी दी, उसके बाद उसके साथ रेप किया।

इतना ही नहीं, आरोपितों ने हैवानियत की हदें पार करते हुए इस कुकृत्य का वीडियो भी रिकॉर्ड कर लिया। इसके बाद आरोपितों ने छात्रा को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया। वो छात्रा को गैंगरेप वाला वीडियो वायरल करने की धमकी देने लगे। वीडियो सार्वजनकि करने की धमकी देकर आरोपितों ने नोएडा में छात्रा का फिर से रेप किया। इसके बाद पीड़िता ने परिजनों को सारी बातें बताई। परेशान किशोरी ने 16 मार्च को पहाड़गंज थाने में शिकायत दर्ज कराई, जिसके पाद पुलिस सक्रिय हुई।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

पुलिस ने किशोरी का मेडिकल कराया और उसके बाद मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू की। शिकायत दर्ज होने के बाद दोनों ही आरोपित फ़रार थे। इसमें से एक को पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया, जिसका नाम अफ़रोज़ है। एहतेशाम अभी भी फ़रार है और पुलिस उसकी तलाश कर रही है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

जेएनयू छात्र विरोध प्रदर्शन
गरीबों के बच्चों की बात करने वाले ये भी बताएँ कि वहाँ दो बार MA, फिर एम फिल, फिर PhD के नाम पर बेकार के शोध करने वालों ने क्या दूसरे बच्चों का रास्ता नहीं रोक रखा है? हॉस्टल को ससुराल समझने वाले बताएँ कि JNU CD कांड के बाद भी एक-दूसरे के हॉस्टल में लड़के-लड़कियों को क्यों जाना है?

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

112,491फैंसलाइक करें
22,363फॉलोवर्सफॉलो करें
117,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: