गुरुग्राम में पुलिस बैरकेडिंग तोड़कर भाग रहे गोतस्कर को रोकने पर कार्यकर्ता को मारी गोली, गिरफ्तार

गो-तस्करों को जैसे ही पता चला कि उनका पीछा किया जा रहा है, तो पकड़े जाने के डर से इन तस्करों ने चलते टेम्पों से गाय को फेंक दिया और फिर पुलिस और गो-रक्षकों के ऊपर फायरिंग कर दी। जिसमें मोनू मनेसर नाम का बजरंग दल कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हो गया।

हरियाणा के गुरुग्राम में गो-तस्करों ने बजरंग दल के एक कार्यकर्ता को गोली मार दी। घटना बुधवार (अक्टूबर 9, 2019) रात करीब 3 बजे की है। गोतस्करी रोकने के लिए बजरंग दल और हरियाणा पुलिस की टास्क फोर्स के गो-रक्षक गुरुग्राम के सेक्टर 10 इलाके में मौजूद थे। इस दौरान जब दोनों पक्षों में मुठभेड़ हुई तो गो-तस्करों ने गोली चला दी, जो मोनू मनेसर नाम के बजरंग दल कार्यकर्ता को जा लगी। उसे गंभीर हालत में मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बजरंग दल का यह कार्यकर्ता गो-तस्करों का पीछा कर रहा था, जिस पिकअप वैन में गो-तस्कर गाय को ले जा रहे थे। इसका एक वीडियो भी सामने आया है। जिसमें देखा जा सकता है कि पुलिस के बैरिकेडिंग को गिरा कर गो-तस्कर की गाड़ी निकल जाती है।

बताया जा रहा है कि एक पिकअप वैन में गो-तस्कर गायों को लेकर जा रहे थे। रात को पेट्रोलिंग कर रही इस टास्क फोर्स ने जब इन तस्करों को देखा तो इनका पीछा किया। करीब 10 किलोमीटर तक टास्क फ़ोर्स ने इनका पीछा किया। गो-तस्करों को जैसे ही पता चला कि उनका पीछा किया जा रहा है, तो पकड़े जाने के डर से इन तस्करों ने चलते टेम्पों से गाय को फेंक दिया और फिर पुलिस और गो-रक्षकों के ऊपर फायरिंग कर दी। जिसमें मोनू मनेसर नाम का बजरंग दल कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हो गया। 

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

हालाँकि बाद में पुलिस ने गो-तस्करों को गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में गुरूग्राम के क्राइम डीसीपी राजीव देशवाल ने कहा कि तकरीबन 6 गौ तस्कर अपने गाड़ी में गाय ले जा रहे थे। जब कार्यकर्ता ने उन्हें देखा तो उन्होंने वाहन का पीछा किया और पुलिस को सूचित किया। पुलिस की गाड़ियों ने भी उनका पीछा किया। इस बीच तस्करों ने गायों को वाहन से फेंकना शुरू कर दिया।

डीसीपी ने बताया कि अंत में गो-तस्करों ने गोलियाँ चलानी शुरू कर दी। जो गो-रक्षक के सदस्य को जाकर लगी। उन्हें तुरंत एक अस्पताल में भर्ती कराया गया। उन्होंने बताया कि 6 में से 5 तस्करों की पहचान की जा चुकी है और साथ ही तस्करों का वाहन भी बरामद कर लिया गया है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

गोटाभाया राजपक्षे
श्रीलंका में मुस्लिम संगठनों के आरोपों के बीच बौद्ध राष्ट्र्वादी गोटाभाया की जीत अहम है। इससे पता चलता है कि द्वीपीय देश अभी ईस्टर बम ब्लास्ट को भूला नहीं है और राइट विंग की तरफ़ उनका झुकाव पहले से काफ़ी ज्यादा बढ़ा है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

114,382फैंसलाइक करें
22,948फॉलोवर्सफॉलो करें
120,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: