‘फूहड़’ बिग-बॉस पर प्रकाश जावड़ेकर ने दिखाई सख्ती, मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट- शो पर लटकी तलवार

"यह कार्यक्रम राष्ट्रीय प्रसारण पर लव जिहाद को बढ़ावा देने के साथ-साथ हिन्दू संस्कृति का भी अपमान कर रहा है।"

हमेशा से विवादों में घिरे रहने वाला रियेलिटी शो बिग-बॉस हाल ही में अपने फूहड़ और अश्लील कारनामों के चलते लोगों के निशाने पर आ गया। इसके बाद लोगों ने सोशल मीडिया पर अपना गुस्सा ज़ाहिर करने से लेकर मंत्रालय तक इस सम्बन्ध में अपनी शिकायत दर्ज कराई थी।

कई लोगों ने शो में पेश की जाने वाली अश्लीलता और फूहड़ कंटेंट को लेकर आपत्ति ज़ाहिर करते हुए यहाँ तक कह दिया था कि इस शो को बैन कर देना चाहिए। हाल ही में हुए इन तमाम घटनाक्रमों को लेकर इस शो ने दुबारा सुर्खियाँ बटोरी थीं। मगर सुर्ख़ियों की बीच तमाम शिकायतों और सोशल मीडिया तक पर लोगों की नाराज़गी के चलते सूचना प्रसारण मंत्रालय ने अब जो निर्णय लिया है, उसके बाद बिग-बॉस नामक इस शो और उससे जुड़े कलाकारों को धक्का लग सकता है क्योंकि फूहड़ता परोसने के लिए इस कार्यक्रम पर अब तलवार लटक रही है।

खबर है कि सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने प्रसार भारती से इस कार्यक्रम में फूहड़ता और तमाम तरीके का आपत्तिजनक कंटेंट परोसे जाने को लेकर जानकारी माँगी है। साथ ही करनी सेना की ओर से इसको बैन करने की भी माँग हो रही है। उनका कहना है कि यह कल्चर के खिलाफ है और एक सभ्य समाज में इसे स्वीकार नहीं किया जा सकता।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को लिखे अपने पत्र में करनी सेना ने बिग-बॉस-13 के खिलाफ शिकायत करते हुए उस पर तत्काल प्रभाव से कार्रवाई की माँग करते हुए सलमान खान के खिलाफ भी कार्रवाई करने की बात कही है। अपने पत्र में बिग-बॉस रियेलिटी शो का उल्लेख करते हुए करनी सेना ने कहा था कि यह कार्यक्रम राष्ट्रीय प्रसारण पर लव जिहाद को बढ़ावा देने के साथ-साथ हिन्दू संस्कृति का भी अपमान कर रहा है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

जेएनयू छात्र विरोध प्रदर्शन
गरीबों के बच्चों की बात करने वाले ये भी बताएँ कि वहाँ दो बार MA, फिर एम फिल, फिर PhD के नाम पर बेकार के शोध करने वालों ने क्या दूसरे बच्चों का रास्ता नहीं रोक रखा है? हॉस्टल को ससुराल समझने वाले बताएँ कि JNU CD कांड के बाद भी एक-दूसरे के हॉस्टल में लड़के-लड़कियों को क्यों जाना है?

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

112,491फैंसलाइक करें
22,363फॉलोवर्सफॉलो करें
117,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: