Wednesday, September 22, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय45 साल के मोहम्मद आलम ने एकतरफा प्यार में 22 साल की लड़की पर...

45 साल के मोहम्मद आलम ने एकतरफा प्यार में 22 साल की लड़की पर करवाया एसिड अटैक, भाई मानती थी पबित्रा

पुलिस ने बताया कि मुन्ना ने पबित्रा पर कल रात करीब 8:45 बजे उस वक्त हमला किया जब वो अपने घर से बाहर निकली। लगभग दो घंटे में वहाँ की मेट्रोपोलिटन पुलिस क्राइम डिवीजन की एक टीम ने मुन्ना को गिरफ्तार किया।

नेपाल की राजधानी काठमांडू में गुरुवार (जुलाई 23,2020) को एक 22 वर्षीय लड़की पर तेजाब फेंकने का मामला सामने आया। इस घटना में लड़की का चेहरा बुरी तरह झुलस गया

पीड़िता की पहचान पबित्रा करकी के रूप में हुई। आरोपितों का नाम मुन्ना मोहम्मद और मोहम्मद आलम बताया जा रहा है।

पुलिस ने तेजाब फेंकने वाले भारतीय युवक मुन्ना मोहम्मद को घटना के दो घंटे में ही गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में मुन्ना ने बताया कि उसे ये सब करने को उसे 42 वर्षीय नेपाली मालिक मोहम्मद आलम ने कहा था।

इसके बाद पुलिस ने मोहम्मद आलम को गिरफ्तार कर लिया। वहीं, पीड़िता को घटना के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहाँ फिलहाल उसका इलाज चल रहा है और अभी उसकी स्थिति स्थिर है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पुलिस ने बताया कि मुन्ना ने पबित्रा पर कल रात करीब 8:45 बजे उस वक्त हमला किया जब वो अपने घर से बाहर निकली। लगभग दो घंटे में वहाँ की मेट्रोपोलिटन पुलिस क्राइम डिवीजन की एक टीम ने मुन्ना को गिरफ्तार किया।

गिरफ्तारी के वक्त उसका हाथ भी बुरी तरह से झुलसा हुआ था। पूछताछ में उसने अपना जुर्म स्वीकारा और बताया कि उसके मालिक आलम ने उसे ये सब करने को कहा।

आलम से जब पूछताछ हुई तो उसने बताया कि उसने पबित्रा पर तेजाब इसलिए फिंकवाया क्योंकि उसने उसका प्रेम नहीं स्वीकारा था और उसे नकार दिया था। इसलिए उसने मुन्ना से कहकर ये करवाया। इसी बीच पीड़िता ने अपने दिए बयान में पुलिस को कहा, “मुझे नहीं पता था आलम मुझसे प्रेम करता है। मेरे लिए तो वो भाई जैसा था।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जब मोपला में हुआ हिंदुओं का नरसंहार, तब गाँधी पढ़ा रहे थे खिलाफत का पाठ; बिना प्रतिकार मरने की दे रहे थे सीख

नरसंहार के बावजूद, भारतीय नेतृत्व जिसमें प्रमुख रूप से गाँधी शामिल थे, उसने हिंदुओं को उनके चेहरे पर मुस्कान के साथ मरते रहने के लिए कहा।

‘20000 हिंदुओं को बना दिया ईसाई, मेरी माँ का भी धर्म परिवर्तन’: कर्नाटक के MLA ने विधानसभा में खोला मिशनरियों का काला चिट्ठा

कर्नाटक विधानसभा में हिंदुओं के ईसाई धर्मांतरण का मसला उठा। बीजेपी विधायक ने बताया कि कैसे मिशनरी विरोध करने पर झूठे मुकदमों में फँसा रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,683FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe