Monday, September 20, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयअटलांटा में अश्वेत की लाश गिरी: गोली मारने वाला पुलिसकर्मी फायर, 'गोरे' पुलिस चीफ...

अटलांटा में अश्वेत की लाश गिरी: गोली मारने वाला पुलिसकर्मी फायर, ‘गोरे’ पुलिस चीफ का इस्तीफा

मारे गए 27 वर्षीय अश्वेत व्यक्ति रिशर्ड ब्रुक्स जाँच के दौरान नशे में पाया गया था। उसने एक बन्दूक लेकर भागने की चेष्टा की थी। सीसीटीवी फुटेज से पता चला है कि उसने भागते हुए उस पुलिस अधिकारी पर गोली चलाई थी, जिसकी गोली से वह मारा गया।

अमेरिकी प्रान्त जॉर्जिया की राजधानी अटलांटा में पुलिस शूटआउट के दौरान एक अश्वेत व्यक्ति की मौत हो गई थी। इसके बाद वहाँ के पुलिस चीफ ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। घटना एक फ़ास्ट फ़ूड रेस्तरां के पास हुई थी। शनिवार (जून 13, 2020) को अटलांटा की मेयर केइशा लांस बॉटम्स ने पुलिस प्रमुख के इस्तीफे की जानकारी दी। घटना में कुछ लोग घायल भी हुए थे।

अटलांटा पुलिस के प्रवक्ता जॉन सैफी ने रविवार को बताया कि जिस पुलिस अधिकारी ने गोली चलाई थी, उसे फायर कर दिया गया है। शहर में कई लोग एक और अश्वेत व्यक्ति की मौत होने के बाद रोष में हैं और आशंका जताई जा रही है कि ये आंदोलन अभी और भी हिंसक रूप ले लेगा। कहा जा रहा है कि शनिवार की रात प्रदर्शनकारियों ने एक रेस्तरां को आग के हवाले कर दिया था।

इसके बाद उन्हें तितर-बितर करने के लिए आँसू गैस और फ़्लैश ग्रेनेड का प्रयोग किया गया था। मारे गए 27 वर्षीय अश्वेत व्यक्ति रिशर्ड ब्रुक्स जाँच के दौरान नशे में पाया गया था। उसने एक बन्दूक लेकर भागने की चेष्टा की थी। सीसीटीवी फुटेज से पता चला है कि उसने भागते हुए उस पुलिस अधिकारी पर गोली चलाई थी, जिसकी गोली से वह मारा गया। लेकिन, इसे शूटिंग के लिए जस्टिफिकेशन नहीं माना गया।

बॉटम्स ने कहा कि आप क्या कर सकते हैं और आपने क्या किया, इसके बीच बहुत बड़ा अंतर होता है। मेयर ने आगे कहा कि वो ऐसा नहीं सोचती हैं कि इतने बड़े स्तर पर बलप्रयोग करने की आवश्यकता थी। सार्जेंट सैफी ने उस पुलिस अधिकारी की पहचान की, जिसने गोली चलाई थी। उक्त अधिकारी गैरेट रॉल्फ ने अक्टूबर 2013 में पुलिस सर्विस ज्वाइन की थी। पुलिस के ख़िलाफ़ हिंसा की बढ़ती वारदातों के बीच पुलिस ने भी अपने तौर-तरीकों में बदलाव किया है।

अमेरिकी मीडिया का कहना है कि इससे पहले पुलिस हूटिंग के बाद इस तरह की घटनाएँ नहीं होती थीं और न ही ऐसी प्रतिक्रियाएँ आती थीं। पुलिस द्वारा डैमेज कंट्रोल की प्रक्रिया को प्रदर्शनकारियों का डर भी बताया जा रहा है, जो ख़ासे उग्र हैं। कहा जा रहा है कि इससे बचने के लिए पुलिस प्रमुख का इस्तीफा ले लिया गया और साथ ही गोली चलाने वाले अधिकारी को फायर कर दिया गया।

पुलिस प्रमुख एरिका शेल्डस भी श्वेत अधिकारी ही हैं, जिन्हें हाल में में हुई पुलिसिया उठापटक का नया शिकार बताया जा रहा है। अमेरिका में दंगों के बीच कई पुलिस अधिकारियों के तबादले हुए हैं। पोर्टलैंड के पुलिस प्रमुख ने तो यहाँ तक कह दिया था कि वो अपने बदले किसी अश्वेत अधिकारी को बैठाना चाहते हैं। अटलांटा में एक पुलिस एनकाउंटर का वीडियो वायरल हुआ, पुलिस पर छात्रों को प्रताड़ित करने के आरोप लगे और उनपर अश्वेतों के साथ भेदभाव का आरोप भी लगाया गया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मुस्लिमों का सबसे बड़ा दुश्मन’, शिव के भक्त: ‘आदिवराह’ के सामने अरबों ने भी टेक दिए थे घुटने, 50 साल तक किया राज

क्या आप भारत में 'इस्लाम के सबसे बड़े दुश्मन' के बारे में जानते हैं? मुद्दा ये नहीं कि वो गुर्जर थे या राजपूत, सम्राट मिहिर भोज एक हिन्दू थे, जिन्होंने मुस्लिम आक्रांताओं को फटकने भी न दिया।

बाबुल सुप्रियो ने बताया- दीदी ने गाने की दी इजाजत, लेकिन ट्विटर पर बिगड़ा सुर: डेढ़ महीने में जो कमाया उससे ज्यादा एक दिन...

ममता बनर्जी को पीएम मेटेरियल बताने वाले बाबुल सुप्रियो ने ट्विटर पर पिछले डेढ़ महीने में जितने फॉलोअर जोड़े थे उससे कहीं ज्यादा एक दिन में गँवा दिए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,405FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe