Wednesday, August 4, 2021
Homeरिपोर्टमीडिया'The Quint के संस्थापक राघव बहल की लंदन में ₹273 करोड़ की संपत्ति': IT...

‘The Quint के संस्थापक राघव बहल की लंदन में ₹273 करोड़ की संपत्ति’: IT के साथ मिलकर ED करेगी जाँच

इससे पहले टैक्स में हेराफेरी करने के आरोपों को लेकर अक्टूबर 2018 में इनकम टैक्स विभाग ने राघव बहल के ठिकानों की तलाशी ली थी।

‘द क्विंट’ के संस्थापक राघव बहल के खिलाफ़ प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने रिपोर्ट माँगी है। BTVI के अनुसार, प्रवर्तन निदेशालय ने मीडिया इंडस्ट्री में लम्बे समय से सक्रिय राघव बहल के ख़िलाफ़ इनकम टैक्स विभाग द्वारा दर्ज की गई शिकायत का विवरण माँगा है। प्रवर्तन निदेशालय राघव बहल के ख़िलाफ़ जाँच भी शुरू करेगा, ऐसा BTVI ने अपनी रिपोर्ट में बताया है। इसके लिए इडी को आयकर विभाग से सर्टिफाइड कॉपी चाहिए, जिसके लिए ज़रूरी प्रक्रिया पूरी की जा रही है।

लन्दन में राघव बहल द्वारा खरीदी गई संपत्ति को लेकर हुई अनियमितताओं की जाँच के लिए इडी ने यह एक्शन लिया है। उनके ख़िलाफ़ “कालाधन (अन्य विदेशी आय तथा परिसंपत्ति) तथा कर अधिनियम 2015” के तहत जाँच की प्रक्रिया चलाई जाएगी। BTVI ने आगे बताया कि इस अधिनियम के सेक्शन 50 के तहत जाँच होगी क्योंकि राघव बहल ने अपनी विदेशी संपत्तियों के बारे में जानकारी छिपाई है।

चौंकाने वाली बात यह है कि राघव बहल के ख़िलाफ़ लन्दन में लगभग 273 करोड़ रुपए (31 मिलियन पाउंड) की संपत्ति ख़रीदने को लेकर आरोप है, जिस पर सरकारी जाँच एजेंसियों की तलवार लटक रही है (मई 27, 2019 को पाउंड से भारतीय रुपए में कन्वर्जन के बाद, साभार: गूगल)। बहल ने अपने ख़िलाफ़ लगे आरोपों को फैक्चुअली ग़लत बताया है। इससे पहले टैक्स में हेराफेरी करने के आरोपों को लेकर अक्टूबर 2018 में इनकम टैक्स विभाग ने राघव बहल के ठिकानों की तलाशी ली थी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राहुल गाँधी ने POCSO एक्ट का किया उल्लंघन, NCPCR ने ट्वीट हटाने के दिए निर्देश: दिल्ली की पीड़िता के माता-पिता की फोटो शेयर की...

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने राहुल गाँधी के ट्वीट पर संज्ञान लिया है और ट्विटर से इसके खिलाफ कार्रवाई करने की माँग की है।

‘धर्म में मेरा भरोसा, कर्म के अनुसार चाहता हूँ परिणाम’: कोरोना से लेकर जनसंख्या नियंत्रण तक, सब पर बोले CM योगी

सपा-बसपा को समाजिक सौहार्द्र के बारे में बात करने का कोई अधिकार नहीं है क्योंकि उनका इतिहास ही सामाजिक द्वेष फैलाने का रहा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,945FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe