PTI का दावा निकला झूठा, गंगाराम अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई 25 मौतें

पीटीआई का दावा निकला झूठा

प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (पीटीआई) ने शुक्रवार (23 अप्रैल) को एक रिपोर्ट में बताया कि दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में ऑक्सीजन के कम दवाब के चलते 25 लोगों की मौत हो गई। पीटीआई ने ट्वीट कर कहा सूत्रों ने उसे बताया है कि निम्न ऑक्सीजन प्रेशर के कारण 25 गंभीर रूप से बीमार मरीजों की मौत हुई है। बाद में यह दावा झूठा निकला

प्रसार भारती ने पीटीआई की खबर को बताया फेक

प्रसार भारती ने बताया है कि अस्पताल के वरिष्ठ डॉक्टर मोहसिन वाली ने यह स्पष्ट किया है कि ये मौतें निम्न ऑक्सीजन प्रेशर के कारण नहीं हुई हैं। सर गंगाराम अस्पताल के चेयरमैन ने भी यह पुष्टि की है कि मौतों के पीछे ऑक्सीजन की कमी को कारण बताने वाली रिपोर्ट्स गलत हैं।

इसी बीच महामारी से निपटने के लिए भारतीय वायु सेना भी सक्रिय हो गई है। वायु सेना ऑक्सीजन कंटेनर, अत्यावश्यक औषधियों, स्वास्थ्य उपकरणों और स्वास्थ्य कर्मियों को एयरलिफ्ट करके एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुँचा रही है। हालाँकि Covid-19 के तेजी से बढ़ते संक्रमण के कारण कई अस्पतालों में ऑक्सीजन की समस्या उत्पन्न हो रही है।

देश में बढ़ते संक्रमण के बीच ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित की जा रही है। हाल ही में भारतीय बहुराष्ट्रीय फार्मा कंपनी जायडस कैडिला की ‘विराफिन’ नामक दवा के उपयोग को डीजीसीआई ने आपातकालीन मँजूरी दी है। जायडस की यह दवा वयस्कों में Covid-19 के संक्रमण के इलाज के लिए उपयोगी है। जायडस ने इस दवा के माध्यम से अतिरिक्त ऑक्सीजन की आवश्यकता को कम करने का दावा किया है।

ऑपइंडिया स्टाफ़: कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया