इमरान ने नेहा से किया था प्रेम-निकाह, कज़न के साथ फोटो देखी तो कर दी हत्या

सोमवार को जब इमरान और नेहा में विवाद हुआ, तभी नेहा ने कॉल कर के नाज़िम को बुलाया था। नाज़िम कुछ देर रुकने के बाद लौट गया। इस बात से इमरान और ज्यादा भड़क गया था।

उत्तर प्रदेश में महिलाओं पर अत्याचार की घटनाओं का आना लगातार ज़ारी है। ताज़ा घटना यूपी के मुरादाबाद की है। कटघर क्षेत्र के ताजपुर माफ़ी में एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी को सिर्फ़ इसीलिए मार डाला क्योंकि उसे शक था कि वह किसी और से बात करती है। इसके बाद आरोपित ने ख़ुद ही पुलिस को कॉल कर इस घटना की जानकारी दी। पुलिस ने इस घटना के सम्बन्ध में दहेज़ हत्या का मामला दर्ज किया है। आरोपित इमरान को हिरासत में ले लिया गया है। मारी गई युवती का नाम नेहा है। उसके पिता हनीफ लाजपतनगर चौकी के अंतर्गत आने वाले हयातनगर मोहल्ला में बर्तनों पर पॉलिश का काम करते हैं।

नेहा का छजलैट थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले सीतापुर गाँव निवासी इमरान से प्रेम विवाह हुआ था। इमरान किराए के घर में रहता था और वह कॉर्पोरेटर का काम किया करता था। इमरान और नेहा की ढाई साल की बेटी उमेरा भी थी। रात को 11 बजे इमरान ने अपनी पति नेहा और उसके दूर के भाई नाज़िम के साथ एक फोटो व्हाट्सप्प पर देखी, जिसके बाद दोनों में विवाद हो गया। रात के क़रीब 2 बजे इमरान ने अपने ससुर को कॉल कर इस बात की जानकारी दी। दामाद की आपत्ति सुन कर ससुर ने सुबह आने का आश्वासन भी दिया। पोस्टमॉर्टम में मुँह एवं गला दबा कर हत्या की बात साबित हुई है।

लेकिन, इमरान ने तड़के 4 बजे अपनी बीवी की हत्या कर दी। इसके बाद उसने पुलिस को कॉल कर घटना की जानकारी दी और अपना लोकेशन भी बताया। पूछताछ में इमरान ने बताया कि दूर के भाई नाज़िम की नज़र हमेशा उसकी बीवी पर रहती थी। बकौल इमरान, जब वह रमजान से 15 दिन पहले कश्मीर चला गया था, तब नेहा और नाज़िम के बीच नज़दीकियाँ बढ़ गईं। नेहा को मायके या शहर जहाँ भी आना होता था, नाज़िम ही उसके साथ होता था। इमरान जब रमजान के बाद घर लौटा तो उसे नेहा की गतिविधियों पर संदेह हुआ और जब उसने व्हाट्सप्प पर दोनों की फोटो देखी तो भड़क उठा।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

पाँच साल पहले दोनों का निकाह हुआ था। दोनों के बीच पढ़ाई के दौरान ही प्रेम सम्बन्ध स्थापित हो गए थे। शादी के 1 साल बाद से ही उसने दहेज़ को लेकर नेहा को प्रताड़ित करना शुरू कर दिया था। वह उसे मायके से 5 लाख रुपए माँगने को कहता था, ताकि कोई कारोबार शुरू कर सके। 2016 में प्रताड़ना से तंग आकर नेहा मायके में आकर रहने लगी थी। जब इमरान ने लिखित शपथपत्र दिया, तब पंचायत के हस्तक्षेप के पास मामले को सुलझाया गया।

नेहा की माँ साजिदा ने कहा कि अगर उसे जरा भी भनक होती कि इमरान ऐसा करने वाला है तो वह रात को ही अपनी बेटी के यहाँ पहुँच जाती। पुलिस ने घटनास्थल पर फॉरेंसिक टीम से साक्ष्य इकट्ठे करवाए। सोमवार (जून 24, 2019) को जब इमरान और नेहा में विवाद हुआ, तब भी नेहा ने कॉल कर के नाज़िम को बुलाया था। नाज़िम कुछ देर रुकने के बाद लौट गया। इस बात से इमरान और ज्यादा भड़क गया था। कहा जा रहा है कि तभी उसने अपनी पत्नी को मारने की योजना बना ली थी।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

सोनिया गाँधी
शिवसेना हिन्दुत्व के एजेंडे से पीछे हटने को तैयार है फिर भी सोनिया दुविधा में हैं। शिवसेना को समर्थन पर कॉन्ग्रेस के भीतर भी मतभेद है। ऐसे में एनसीपी सुप्रीमो के साथ उनकी आज की बैठक निर्णायक साबित हो सकती है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

114,489फैंसलाइक करें
23,092फॉलोवर्सफॉलो करें
121,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: